Desi Chudai Kahani Naina-नैना
07-17-2017, 12:31 PM,
#11
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-14

गतान्क से आगे.......

मैं ने मूड कर देखा तो मुझे कुछ नज़र ना आया और मैं हैरान हुई कि आवाज़

कहाँ से आ रही है. फिर मैं ने ध्यान हटाया और बाहर लाइट्स को देखने लगी.

अचानक ऐक फिर आवाज़ आइ.

तूने मयखाना निगाहो मे छुपा रखा है

होशवालो को भी दीवाना बना रखा है

नाज़ केसे ना करूँ बंदा नवाज़ी पे तेरी

मुझ से नाचीज़ को जब अपना बना रखा है

जब भी गम मिलता है सीने से लगा लेता हूँ

मैं ने हर दर्द को तक़दीर बना रखा है

मैं ने गौर किया तो वाहा टारेस पे ही अंधेरे मे कोई ब्लॅक कलर के पेंट

कोट मे मौजूद था. मैं ने थोड़ा सख़्त लहजे मे बोला कॉन है वहाँ? और वहाँ

से आवाज़ आइ.

ए मेरे परदा नशीन तेरी ताजवाजो के निसार

मैने इश्क़ तेरी दुनिया से छुपा रखा है

मैं ने फिर ज़ोर से कहा कि कॉन है तो वो शख्स आहिस्ता आहिस्ता मेरी तरफ़

बढ़ा. मैं परेशान हो गयी कि कोई ड्रंक है. लेकिन जब वो रोशनी मे आया तो

वो आर्यन थे. खूबसूरत जवान, ऊँचा कद, कहीं से भी ड्रंक नही लग रहे थे.

मैं ने उन्है पहली दफ़ा दैखा था. ना जाने क्यो लग रहा था कि वो मुझे पहले

से जानते हैं.

इस से पहले मैं कुछ कह पाती. वो मेरे पास आए और आते ही मुझे अपनी बाँहों

मे भर के अपने होन्ट मैरे होंटो पे रख दिये.

नैना: ओह तो फिर?

आंटी: फिर क्या बस किस थी कि ख़तम ही नही हो रही थी. और उन के हाथों की

ग्रिफ्त इतनी ज़यादा मज़बूत थी कि मैं छुड़ा ही नही पा रही थी. और शोर इस

लिये नही मचा सकती थी कि सब यह ना समझे कि ड्रंक हैं दोनो और ऊपेर ग़लत

काम कर रहे हैं सो खामोश रही. ळैकेन क्या मस्ती थी उन की किस मे कि कुछ

ही लम्हे मे मैं भी उन से लिपटी चली गयी. और किस ने तो जैसे मुझ पे नशा

सा चढ़ा दिया हो.

नैना: पहली ही मुलाक़ात मे किस? ना जान ना पहचान?

आंटी: वोही तो. अच्छा सुनो तो सही. और काम संभाल के दोनो टीवी लाउंज मे आ गयीं.

फिर किसी तरहा से हमारा किस ख़तम हुआ और मैं नीचे की तरफ़ जाने लगी और

उन्हे कहा की थ्ट्स नोट फेर. और उन्हों ने जवाब मे कहा

दूर रह कर ना करो बात करीब आ जाओ

याद रह जाए गी यह रात करीब आ जाओ

आ जाओ इक मुद्दत से तमन्ना है तुम्हे चूमने की

आज बस मे नही जज़्बात करीब आ जाओ

बस उन की शायरी मे तो जैसे मॅगनेट जेसी कशिश थी और मेरे कदम वहाँ ही रुक

गये. और अगले ही लम्हे मैं उन की बाँहों मे थी. किस्सस का तूफान ऐक

मर्तबा फिर आने लगा. अब की बार तो लिप्स के साथ साथ चीक्स, नेक, इयर्स भी

तूफान की रेंज मे आ गये थे. हाथ थे कि कभी मैरे सन्तरो के बाग मे सैर

करने लगते तो कभी घूमते हुए बॅक साइड पे सफ़र करने लग जाते. मुझे कुछ समझ

नही आ रही थी कि क्या करूँ. दिल था कि कह रहा था कि यह सिलसिला ख़तम ना

हो. दिमाग़ था कि कह रहा था कि ऐक अजनबी से पहली मुलाक़ात मे यह सब? मगर

दिल जीत गया और मैं ने अपने आप को आर्यन के हवाले कर दिया.

किस्सिंग ख़तम हुई तो उन्हों ने मेरी आँखो मे आँखे डाल के कहा कि जानू आइ

आम आर्यन. मुझे पता था कि तुम ज़रूर ऊपेर आओ गी कब से मैं ऊपेर इंतजार कर

रहा था तुम्हारा. और चलते हुए टारेस की साइड पे खड़े हो के यह पोएटरी

कहने लगे.

शबनमी रात हो और हर तरफ़ अंधैरा हो

एक चादर मे लिपटे दो बदन ऐक तेरा और ऐक मेरा हो

तेरे मखमली बदन मे खुश्बू के चमन मे सदिओं तक वो रात चले

तेरे होंठो को जब सी दूं मैं अपने होंठों के धागे से

इक सन्नाटे मे खामोशी से तेरी बाँहों ने मुझ को घैरा हो

मेरे जिस्म मे घर मिल जाए तुझको तेरे जिस्म मे मेरा बसेरा हो

बिस्तेर पर तेरे मेरे सिवा, सिर्फ़ जुनून और खामोशी का डेरा हो

और साथ ही बोले विल यू मॅरी मी ?

नैना: हाउ सेक्सी आंड हाउ रोमॅंटिक? फिर आप ने क्या कहा?

आंटी: तुम होती तो क्या कहती?

नैना: मैं क्या कोई भी लड़की होती तो हां बोल देती.

आंटी: तो मैं भी तो लड़की ही थी. फ़ौरन हां बोल दिया. बस हां बोलना ही था

कि आर्यन करीब आए और मैरा हाथ पकड़ के टारेस के साथ वाले रूम मे ले गये.

और वहाँ उन्हों ने अपनी पोएटरी को प्रॅक्टिकल मे कॉनवर्ट कर दिया.

नैना: क्या किया हुआ रूम मे?

आंटी: अरे मैं वो बताने बैठ गयी ना तो रात यहाँ ही रुकना पड़ जाए गा. हाहहहहाहा

नैना: तो क्या है रुक जाओ ना?

आंटी: अरे नही भाई इतनी जल्दी भी क्या है बता दूंगी. वेसे भी शान आने

वाले हों गे और जिम्मी भी वेट कर रहा हो गा.

नैना: (दिल बिल्कुल भी नही कर रहा था कि आंटी ऐसे चली जाए पर ज़यादा

इन्सिस्ट भी नही कर सकती थी कि आंटी के ऊपेर बॅड इंप्रेशन ना पड़े) सो कह

दिया ओके आंटी ठीक है.

आंटी: ओके मैं चलती हूँ. कल बात होती है फिर. और यह कह कर गेट की तरफ़ चल दी.

नैना गेट क्लोज़ कर के आइ और टीवी लाउंज मे आ के बैठ गयी और शान के आने

का वेट करने लगी और आज पूरे दिन को याद करने लगी.

नैना आज बहोत खुश थी क्योंकि काफ़ी दिन बाद आज नैना को दिन भर अपनी

पुरानी यादों को खुरचने के अलावा भी कुछ करने का मौक़ा मिला था. पूरा दिन

इतना जल्दी गुज़र गया कि पता ही नही चला कि कब सुबह हुई और कब रात हो

गयी. पूरा दिन बहोत ही हॅपी हॅपी गुज़र गया. नैना पूरा दिन इतना बिज़ी थी

कि उसे अपने अतीत मे जाने की ज़रूरत ही पेश ना आइ. ऐक ही दिन मे नैना की

आंटी के साथ इतनी पक्की दोस्ती हो गयी थी जेसे बचपन के साथी हों. आंटी थी

ही इतनी अच्छी और ज़िंदा दिल कि दिल करे के बाते करते जाओ और बहोत ज़यादा

को-ऑपरेटिव भी.

नैना को आज काफ़ी दिन बाद अकेला पन फील हो रहा था. आंटी और जिम्मी के

जाने के बाद घर खाली खाली सा लग रहा था. हालाँकि ऐसा रोज़ होता था लेकिन

आज नैना को तन्हाई का शिदत से एहसास हो रहा था. दिल कर रहा था कि कॉल कर

के आंटी को बुला ले. ळैकेन फिर यह सोच के इरादा बदल लिया कि आज पूरा दिन

भी तो वो साथ ही थी और वेसे भी थोड़ी देर मे शान आ जाएँगे .

नैना ने टीवी ऑन किया और रिमोट से चॅनेल चेंज करने लगी. वन बाइ वन न्यूज़

चॅनेल्स चल रहे थे. नैना ने ऐक चॅनेल जंप किया तो अचानक उसे शान की झलक

दिखी. फ़ौरन चॅनेल वापिस लगाया तो ऐक फीमेल बीच से प्रोग्राम कर रही थी

जो कि बीच पे मौजूद कपल्स के बारे मे था कि वो बीच पे आ के केसा फील करते

हैं और बीच किस तराहा उन के रोमॅंटिक जज़्बात को ज़्यादा उभारता है.

लड़की की बॅक पे ऐक कपल खड़ा था. लड़के का फेस दूसरी तरफ था. नैना ने सब

से पहले लड़के के ड्रेस पे नज़र डाली. उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ यह तो

वोही ड्रेस है जो आज शान पहन के गये थे. वोही स्काइ ब्लू शर्ट और ब्लॅक

ड्रेस पॅंट. लड़की की शकल थोड़ा क्लियर दिख रही थी. नैना ने थोड़ा गौर

किया तो नैना के पैरों के नीचे से ज़मीन निकल गयी, ये वोही लड़की थी जो

उस दिन लॅडीस अंडर गारमेंट्स की शॉप पे शान के साथ थी.

प्रोग्राम होस्ट इस कपल की तरफ़ बढ़ी और कपल को कहा एक्सक्यूस मी. लड़का

पलटा तो नैना की आँखे खुली की खुली रह गयीं, यह तो शान ही थे और बीच पे

उस लड़की के साथ. प्रोग्राम होस्ट ने क्वेस्चन किया लेकिन शान ने आन्सर

करने से इनकार कर दिया और सॉरी कह कर कॅमरा के आगे से हट गये.

यह 2न्ड टाइम था कि शान ने नैना से झूट बोला था और ऑफीस का काम कह कर उस

लड़की के साथ बिज़ी थे. आज पूरा दिन शान घर पे भी नही आए थे ईवन लंच या

टी पे भी नही आए. यानी यह आज पूरा दिन इस लड़की के साथ थे और बीच पे सैर

की जा रही थी. नैना को बहोत ज़यादा गुस्सा आया और बैठ के शान की इस

बेवफ़ाई पे रोने लगी. नैना अभी शान की इसी हरकत पे रो रही थी कि शान की

कॉल आ गयी.

शान: हेलो नैना क्या कर रही हो?

नैना: कुछ नही अपनी किस्मत पे रो रही हूँ.

शान: क्या मतलब किस्मत पे रो रही हो?

नैना: आप बेहतर समझते हैं.

शान: क्या कहना चाहती हो खुल के बताओ.

नैना: आप घर आओ तो बात करती हूँ.

शान: इसी लिये तो कॉल की कि आज मैं घर नही आ पाउन्गा. सुबह हेड ऑफीस मे

तमाम रेकॉर्ड पेश करना है स्टाफ पर्फॉर्मेन्स का उस की तैयारी कर रहे हैं

मैं और मेरा ऑफीस मेट. सो आज पूरी रात काम करेंगे.

नैना: क्या आप आज घर नही आएँगे?

शान: क्या पहले मैं ने लतीफ़ा सुनाया है? यही कहा है कि घर नही आ रहा.

नैना: आप को पता है कि मैं घर पे अकेली हूँ. आप उस फ्रेंड को यहाँ क्यों

नही ले आते. पूरी रात बैठ कर काम करो आराम से?

शान: प्लीज़ मुझे मशवरा देने की ज़रूरत नही, मुझे बेहतर पता है कि मैं ने

क्या करना है. और तुम बच्ची नही हो अपनी हिफ़ाज़त खुद कर सकती हो, घर के

तमाम डोर्स लॉक करो और चुप कर के सो जाओ.

नैना: ओके और कुछ?

शान: कुछ नही. अगर कोई प्रोबलम हो तो कॉल कर लेना.

नैना: थॅंक्स मैं बच्ची नही हूँ अपना ख़याल खुद रखी सकती हूँ. और फोन बंद कर दिया.

तो भाई लोगो ये पार्ट यही पर पर ख़तम कर रहा हूँ आगे की कहानी अगले पार्ट

मे दोस्तो कहानी कैसी लगी ज़रूर बताना आपका दोस्त राज शर्मा

क्रमशः..........
-  - 
Reply

07-17-2017, 12:31 PM,
#12
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-15

गतान्क से आगे.......

फोन बंद करने के बाद नैना जी भर के रोई और उसे यकीन हो गया कि बात यहाँ

तक पहॉंच चुकी है कि शान ने उस लड़की के यहाँ रात गुज़ारना शुरू कर दी

है. नैना को कुछ समझ नही आ रही थी कि क्या करे. शान के पेरेंट्स तो वैसे

ही उसे बुरा भला कहते थे और अपने पेरेंट्स को कॉल कर के वो परेशान नही

करना चाहती थी. आख़िर घूम फिर के बात आंटी पे आ गयी. यही फ़ैसला किया कि

आंटी को बुला लूँ और फोन उठा के आंटी को कॉल की.

जिम्मी: हेलो

नैना: हेलो जिम्मी?

जिम्मी: जी आप कॉन?

नैना: जिम्मी मैं नैना बात कर रही हूँ. आंटी से बात हो सकती है?

जिम्मी: ममा तो बाथ ले रही हैं. ख़ैरियत?

नैना: नही इट्स ओके बस उन्ही से बात करनी थी.

जिम्मी: ओके मैं कॉल बॅक करवाता हूँ.

नैना: ओके

जिम्मी: वेट वेट वेट, ममा आ गयीं यह बात कर लो.

आंटी: जी नैना बेटा क्या हुआ?

नैना: आंटी वो शान आज रात नही आएँगे, आइ आम होम अलोन क्या आप आ सकती हैं?

आइ आम रियली सॉरी टू डिस्टर्ब यू. आक्च्युयली मैं बहोत ज़यादा बोर हो रही

थी.

आंटी: हां क्यो नही. ओके मैं आती हूँ. बाइ.

जिम्मी: मोम कहाँ जा रही हैं?

आंटी: वो शान आज रात नही है घर पे तो नैना अकेली है सो वो बुला रही है.

जिम्मी: मैं भी आ जाऊ?

आंटी: अरे नही तुम स्टडी करो अपनी. बहुत शौक़ है तुझे नैना के घर जाने

का? और मुस्करा दी.

जिम्मी: मोम आप भी ना. ओके जाओ मैं डोर लॉक कर दूं सब.

आंटी: ओके गुड नाइट बेटा.

जिम्मी: गुड नाइट.

--------------

डोर बेल रिंग्स.

नैना ओपन्स दा डोर: आइए आंटी जी अंदर. और डोर्स लॉक कर के दोनो अंदर आ गयीं.

नैना: म्‍म्म्ममममममम लुकिंग सेक्सी आंड फ्रेश.

आंटी: लाइन मार रही हो?

नैना: हहेहेहेहहे नही तारीफ कर रही हूँ.

आंटी: ओके थॅंक्स. अच्छा शान क्यो नही आ रहा आज?

नैना: कह रहे थे कि कोई ऑफीस का काम है. पता नही कॉन सा ऑफीस का काम है

जिस के लिये रुकना पड़ गया.

आंटी: म्‍म्म्ममममममममममम वेसे वो लड़की कॉन है?

नैना: कॉन सी लड़की?

आंटी: वोही जो शान के साथ बीच पे घूम रही थी?

नैना: क्या आप ने भी दैखा टीवी पे?

आंटी: नही मैं ने नही जिम्मी ने बताया कि शान टीवी पे आए थे बीच पे थे

किसी और लड़की के साथ.

नैना: मुझे क्या पता. मुझे तो लगता है यही वो ऑफीस का काम है जिस की वजा

से शान नही आए. मुझे बताओ मैं क्या करूँ?

आंटी: अरे परेशान ना हो. मैं हूँ ना तुम्हारे साथ और आँख मार दी. अच्छा

चल अब सच सच बता कि शान ऐसा क्यो कर रहा है तेरे साथ?

नैना: बस ऐक ही वजा है. शादी को 18 महीने हो गये हैं. लेकिन अभी तक कोई

औलाद नही है.

आंटी: अरे तुम तो कह रही थी कि शान बच्चा नही चाहते.

नैना: झूट कह रही थी. हक़ीक़त तो यह है बच्चा हो ही नही रहा.

आंटी: फॉल्ट किस मे है?

नैना: शान मे. आइ आम 100% शुवर कि फॉल्ट शान मे है. क्यो कि मैं ने अपने

टेस्ट्स करवाए थे मैं बिल्कुल ठीक हूँ.

आंटी: तो शान के टेस्ट रिपोर्ट क्या कहती हैं?

नैना: वो टेस्ट कराए तब ना. सब उन्ही की सुनते हैं. वो बाघैर टेस्ट के

ठीक हैं. पर्फेक्ट हैं और मैं टेस्ट्स के बाद भी खराब हूँ. शान कहते हैं

मैं ने अमेरिका मे टेस्ट्स करवाए थे, मैं बिल्कुल ठीक हूँ और बच्चा पैदा

कर सकता हूँ. तुम मनहूस हो. आंटी अब आप ही बताओ कि मैं क्या करूँ? जाऊ तो

जाऊ कहाँ. बच्चा ना होने की वजा से शान के पेरेंट्स मुझ से नफ़रत करते

हैं. और मैरे पेरेंट्स मजबूर हैं.

आंटी: तुम शान से अलहदा क्यो नही हो जाती?

नैना: नही बिल्कुल भी नही. मैं नही चाहती कि मैं अलहदा होउ और शान दोबारा

शादी कर ले और अगर बच्चा हो गया तो सब मुझे बुरा भला कहेंगे.

आंटी: अभी तो तुम कह रही थी कि मैं ठीक हूँ और शान नही तो बच्चा केसे?

नैना: कुदरत का कुछ पता थोड़ा ही ना होता है?

आंटी: कहती तो तुम ठीक हो. चलो इस बारे मे भी कुछ सोचते हैं. अच्छा वो

क्या पड़ा है सामने?

नैना: वो हमारा शादी का आल्बम है.

आंटी: दिखाओ ज़रा. अरे वाह तुम तो बहोत प्यारी लग रही हो दुल्हन के रूप

मे. और शान भी बहोत प्यारा लग रहा है. और पिक्चर देखते देखते उस पिक्चर

पे आ गयी नैना और शान की इकट्ठी सेज से सजी बेड पे बनी थी. शायद यह शादी

के सेशन का लास्ट फोटो था. आंटी बस ख़तम?

नैना: जी इस के बाद भी क्या फोटोग्राफर को फोटो बनाने देते?

आंटी: हां तो बनाने देते क्या था उस बेचारे का भी भला हो जाता. हाहहहहहाहा

नैना: आंटी आप जिम्मी की शादी पे जिम्मी को यह आइडिया दी जिये गा. हाहहहहाहा

आंटी: अरे चल तू तो बहोत तेज हो गयी है मेरे ही खंजर से मुझ पे वॉर कर

डाला. अछा चल बता कि इस के बाद क्या हुआ.

नैना: क्या होना था वोही हुआ जो हर सुहाग रात मे होता है.

आंटी: अरे बट केसे हुआ. मुझे पता है लड़की को अपनी सुहाग रात पूरी उमर

नही भूलती. सुहाग रात का ऐक ऐक मिनट याद रह जाता है. चल बता ना.

नैना: नही मुझे शरम आ रही है.

आंटी: अछा मेरी और आर्यन की चुदाई की दास्तान सुन के शरम नही आइ? अपनी

चुदाई की दास्तान सुनाने मे शरम आ रही है? उस वक़्त तो केसे गीली चूत ले

कर वॉशरूम मे भाग निकली थी और अब शरम?

नैना: ओके ओके आंटी, आप तो शुरू ही हो गयीं. हहेहेहहे

आंटी: हां और क्या तुम ने गुस्सा दिला दिया मुझे.

नैना: ओके आइ आम सॉरी माइ स्वीट आंटी ओके बताती हूँ. अच्छा मैं यहाँ गोद

मे सिर रख के लेट जाऊ?

आंटी: हां क्यो नही आ जाओ और बताओ कि क्या हुआ. अच्छा कुछ भी सेन्सर नही

होना चाहिये. जेसा हुआ वेसा ही. ओके?

नैना: जी जी जो हूकम.

नैना: तमाम लोग रस्मे पूरी कर के रूम से बाहर चले गये. शान ने डोर लॉक

किया रूम का और मेरे पास आ के बैठ गये. थोड़ी देर यौ ही बैठे रहे. फिर

आराम से मेरा घूँगत उठाया और मेरे चीक्स पे ऐक किस कर के हाथ पकड़ लिया.

मैं कन्फ्यूज़ नही हुई क्योकि हाथ पकड़ना, किस करना शादी से पहले भी होता

रहा था हम दोनो के बीच. सो हाथ आगे कर दिया और उन्हों ने अपनी शेरवानी की

पॉकेट से रिंग निकाली और मेरी फिंगर मे डाल दी. यह वाली रिंग थी आंटी. और

अपनी फिंगर आगे कर दी.

आंटी: अच्छा यह वाली. बहुत प्यारी रिंग है.

नैना: थॅंक्स. फिर उन्हों ने मेरी बहोत तारीफ की लुकिंग ब्यूटिफुल और पता

नही क्या क्या. फिर हम दोनो ने मिल के काफ़ी देर बाते की शादी से पहले

होने वाली तमाम करवाईं के बारे मे कि किस तरह छुप छुप के किस करते थे

हहेहहे. और आज यह हाल है कि हम सब के सामने ऐक कमरे मे बंद हैं और कोई

मना करने वाला नही है जो मर्ज़ी करो और यह जो मर्ज़ी करने वाली बात मैं

ने कही थी और शान ने इसे पिक कर लिया.

फ्लॅश बॅक

-----------------------------

शान: जो मर्ज़ी करे?

नैना: हां जी जो मर्ज़ी करो.

शान: क्या क्या करे?

नैना: वोही करे जो आज तक नही किया.

शान: क्या नही किया आज तक?

नैना: मैं ने तो नही किया, क्या आप ने कभी किया? हहेहहे

शान: हां क्या लैकेन थोड़ा थोड़ा किया.

नैना: क्या थोड़ा थोड़ा क्या?

शान: वोही जो अभी हम मुकामल करने वाले हैं वोही थोड़ा थोड़ा क्या.

नैना: अछा जी. वेसे कब यह थोड़ा थोड़ा क्या?

शान: क्यो बताऊ?

नैना: नही बताएँगे तो मैं यह थोड़ा थोड़ा मुकामल नही होने दूँगी. हहेहहे

शान: यानी बताना पड़ेगा?

नैना: और क्या पहले थोड़ा थोड़ा फिर पूरा पूरा. हहेहहे

शान: ओके थोड़ा तोड़ा तो हम ने आप के साथ ही किया था. याद है वो रात जब

हम आप की ब्रा के दीवाने हो गये थे. हहेहेहेहहे

नैना: अच्छा जी. बड़ा याद रखा हुआ है आप ने वो थोड़ा थोड़ा? हहहे

शान: हाए केसे याद ना रखूं उस दिन तो तुम ने यकीन मानो मेरी जान निकाल दी

थी. कसम से मुझे अगर तुम ना रोकती ना तो यह थोड़ा थोड़ा उसी रात पूरा हो

जाना था. हाहहहाहा.

नैना: हां और जब ऊपेर से मोम आ गयी थी तो वो दैख लैति ना तो हम दोनो पूरे

पूरे ज़मीन के अंदर चले जाते. हाहहहाहा

---------------

आंटी: वाह क्या रोमॅंटिक सुहाग रात थी तुम्हारी. क्या सारी रात यही बाते

करते रहे या कुछ किया भी?

नैना: अरे आंटी सुनो तो सही. क्या यह हो सकता है कि जिस लड़का लड़की ने

शादी से पहले थोड़ा थोड़ा किया हो और सुहाग रात को पूरा ना किया हो?

हाहहहहहहहाहा

आंटी: अछा फिर क्या हुआ?

क्रमशः..........
-  - 
Reply
07-17-2017, 12:32 PM,
#13
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-16

गतान्क से आगे.......

फ्लश बॅक

फिर क्या होना था बाते करते करते शान नैना के इतने करीब आ गये थे कि

हार्ड्ली 1 या 2 इंच का फासला रह गया था हमारे बीच. सब से पहले तो बारी

आइ नैना के नोस रिंग की और वो स्लोली नैना की नाक से अलहदा हो गयी. जो कि

ग्रीन सिग्नल था कि शान ने नैना के लिप्स को फ्री किया था. और अगले ही

लम्हे शान ने अपने होन्ट नैना के होंटो पे रख दिये. रूम लाइट ऑन थी. नैना

ने शान को इशारा किया कि ऑफ कर दो लाइट और टेबल लॅंप से काम चलाओ. शान ने

वैसा ही किया और वापिस आते हुए अपनी शेरवॅनी का टॉप भी उतार दिया यह कह

कर के गर्मी लग रही है. हहेहेहहे. और नैना के पास आ के लिपट गये. नैना के

लिप्स भी इतने ज़यादा प्यासे थे कि लास्ट किस्सिंग नैना और शान ने शादी

से 2 मंत्स पहले की थी. 2 मंत्स के प्यासे लिप्स आज आ के मिल गये थे.

नैना की आँखे क्लोज़ थी और शान के लिप्स नैना के लिप्स मे खो कर रह गये

थे. काफ़ी देर तक लिप किस्सिंग का सिलसिला योन्हि चलता रहा. अगले ही

लम्हे शान ने एअर रिंग और गले से हार जिस्म से अलहदा कर दिया और नैना को

बेड पे लिटा दिया और खुद नैना के ऊपेर आ गए.

नैना के जिस्म मे तो गर्मी की ऐक लहर दौड़ गयी. शान ने लिप्स के साथ साथ

नैना के पूरे फेस, एअर बॉटम और नेक पे अपने गर्म होंटो से आग डालना शुरू

कर दी. शान के गर्म लिप्स कभी नैना के लिप्स और कभी नैना की पूरी गर्दन

को प्यार कर रहे थे. नैना अब आहिस्ता आहिस्ता शान के बालो मे हाथ मूव कर

रही थी. शान ने स्लोली स्लोली नैना के टॉप के बटन्स ओपन करना शुरू कर

दिये. और साथ साथ किस्सिंग करते जा रही थे. नैना बस आँखे क्लोज़ कर के

हाथ ही मूव कर रही थी शान के बालो मे. अगले 5 मिनट मे नैना की चोली के

तमाम बटन्स खुल गये और नैना के 36 साइज़ के राउंड ब्रेस्ट्स रेड कलर की

बहोत ही खूबसूरत ब्रा मे छुपे शान के सामने आ गये. शान प्यार मे कोई

जल्दी नही दिखा रहे थे. बहुत ही प्यार से नैना के शरीर मे प्यार का रस भर

रहे थे. ब्रा के ऊपेर से ही शान ने स्लोली स्लोली नैना के ब्रेस्ट्स को

प्रेस करना शुरू कर दिया और किस्सिंग चेस्ट पे शुरू हो गयी. नैना के मूँह

से आहिस्ता आहिस्ता सिसकारियाँ निकलना शुरू हो गई थी. अया अया लव यू. आइ

आम युवर्ज़ शान. आइ लव यू. आहह. शान ने बहोत ही प्यार के साथ नैना की कमर

के नीचे हाथ डाले और नैना को अपनी तरफ उठा लिया और नैना की चोली को नैना

के जिस्म से अलहदा कर दिया. और वापिस लिटा दिया. शान ने नैना की ब्रा को

अभी नही हटाया और नैना की चेस्ट पे किस्सिंग करने लगे और ब्रा के बीच

खाली जगह से ब्रेस्ट्स के मिड मे अपने होन्ट रख दिये. जिस से नैना की

सिसकारी निकल गयी. आहह. शान ने किस्सिंग का सिलसिला रोका और अपना कुर्ता

अपने जिस्म से अलहदा कर दिया. नैना आँखे क्लोज़ कर के लेती हुई थी. शान

ने अपने होन्ट सीधा नैना के पेट पे रख दिये. नाभि के राउंड नैना के जिस्म

पे किस्सस ने नैना को मदहोशी की दुनिया मे दाखिल कर दिया. नैना आँखे बंद

किए हुए तेज़ साँसे ले रही थी और अया अया लव यू लव यू बोले रही थी बहोत

ही आहिस्ता आवाज़ मे. शान ने स्लोली नैना को करवट दिलवा के उल्टा लिटा

दिया और नैना भी बिना किसी इनकार के उल्टा लेट गयी. शान ने अपने होन्ट

नैना की कमर पे मूव करना शुरू कर दिये. नैना तो जेसे प्यार मे पागल हो

गयी और तकिये पे सर इधर उधर करने लगी. और किस्सिंग करते करते शान ने नैना

की ब्रा के हुक ओपन कर दिए और पूरी नंगी कमर पे किस्सस का तूफान आ गया जो

कि गर्दन से शुरू होताहुआ और सफ़र करता करता हिप्स के स्टार्ट पे आ के

रुक जाता और इसी रास्ते वापिस गर्दन तक चला जाता.

शान बहोत ही सकून और आराम आराम से प्यार कर रहे थे. शान के प्यार मे कोई

जल्द बाज़ी नही थी जो कि नैना को बहोत अच्छा लग रहा था. शान ने नैना को

फिर करवट दिलवा के सीधा किया और ब्रा को बाज़ुओं से बाहर निकाला और अपने

होन्ट लेफ्ट निपल पे ले गये. नैना उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ जान ही

कह सकी और फिर आह आह आह ही करती रही. शान ने बहोत प्यार से ऐक ब्रेस्ट और

फिर दूसरे ब्रेस्ट को सक किया जेसे कोई छोटा बच्चा दूध पी रहा हो आराम

से. नैना को शान पे बहोत प्यार आ रहा था और बस आहह आहह और अपने जिस्म को

उठा उठा के इसका इज़हार कर रही थी.

शान ने आहिस्ता आहिस्ता नैना के लहंगे का आज़ार बंद खोलना शुरू किया.

नैना ने शान का हाथ आज़ार बंद की तरफ़ जाते और खुलते हुए महसूस किया और

शान का हाथ पकड़ लिया जेसे कह रही हो कि नही इस से आगे नही. शान ने वहाँ

ही अपना हाथ रोका और वापिस ऊपेर आ के अपने होन्ट नैना के होंटो पे रख

दिये और फिर नैना के कान मे प्यार से कहा. लव यू जान. वी आर मॅरीड नाउ.

वी कॅन डू एवेरितिंग कॉज़ वी आर लीगल नाउ. वी आर नाउ हज़्बेंड आंड वाइफ.

और दोबारा लिप्स पे लिप्स रख दिये और ऐक हाथ नीचे ले गया. नैना का हाथ

दोबारा आगे आ गया. लेकिन शान ने इस दफ़ा नैना का हाथ हटा दिया और अपना

काम जारी रखा. किस्सिंग करते करते नैना का आज़ार बंद खुल गया और नैना का

लहँगा लूज हो गया. नैना ने भी अब कोई इनकार नही किया और अपने आप को शान

के हवाले कर दिया.

शान ने अपने लिप्स को नैना के लिप्स से मूव करना शुरू किया और किस्सस

करते हुए नेक, ब्रेस्ट्स और पेट के रास्ते नैना की जाँघो पे आ गयी. नैना

का लहंगा नैना के जिस्म से अलहदा हो चुका था. नैना अब सिर्फ़ ऐक पॅंटीस

मे शान के सामने लेटी थी. पॅंटीस मुकामल तौर पे भीग चुकी थी और नैना की

चूत के साथ चिपक गयी थी जिस से नैना की चूत के लिप्स सॉफ दिख रहे थे. रेड

कलर की पॅंटीस मे नैना की चूत के लिप्स शान को बहोत अट्रॅक्ट कर रहे थे.

शान नैना की जाँघो के इन्नर साइड पे किस्सस कर रहे थे. नैना मुकामल तौर

पे मदहोश हो चुकी थी. और बेड पे तड़प सी रही थी. शान ने स्लोली स्लोली

अपनी शेरवानी का पाजामा उतार दिया और नीचे पहने हुए अंडरवेर को भी अलहदा

कर दिया. नैनाआँखे बंद किए हुए लेटी थी. शान ने स्लोली स्लोली नैना की

पॅंटीस को नीचे करना शुरू कर दिया लेकिन इस दफ़ा नैना ने फिर शान का हाथ

पकड़ के उसे रोक दिया जेसे उसे शर्म आ रही हो. शान ने हाथ हटाने की कोशिश

की लेकिन नही. शान ने फिर नैना को कॉन्फिडेन्स मे लिया और सेम वोही बात

की कि इट्स लीगल आंड यू आर माइ वाइफ नाउ. और साथ ही पॅंटीस को अलहदा कर

दिया. शान और नैना अब बेड पे बिल्कुल नेकेड ऐक दूसरे से लिपट गये. शान के

नेकेड जिस्म से लिपटते ही नैना के जिस्म मे आग सी लग गयी. और नैना का बस

नही चल रहा था कि वो शान के जिस्म के अंदर घुस जाए. कभी नैना ऊपेर आ जाती

तो कभी शान, और किस्सिंग लिकिंग सकिंग का यह सिलसिला अगले 5 मिनट तक जारी

रहा. पूरे रूम मे आहह अहह की आवाज़े गूँज रही थी.

फिर शान ने नैना की इजाज़त से स्लोली नैना के हिप्स के नीचे दो तकिये रख

दिये. शान ने अपने लंड पे हल्के से बेबी आयिल लगाया, नैना की चूत ऑलरेडी

काफ़ी ज़यादा वेट थी. और शान बहोत ही प्यार और एहतियात के साथ नैना के

ऊपेर आ गये और नैना की चूत पे लंड को रख दिया.

नैना ने आँखे क्लोज़ कर ली और शान के राउंड आर्म्स कर लिये. शान ने लंड

अंदर डालने से पहले नैना के लिप्स पे अपने लिप्स रख दिये और स्लोली लंड

नैना की चूत मे डाल दिया. शान बहुत आराम आराम से लंड को आगे बढ़ा रहे थे

और साथ साथ नैना की तकलीफ़ भी बढ़ती जा रही थी. नैना की आहह ओईईईईईईईईईईई

और उफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ मे बदलने लगी. शान का लंड चूत मे जा के ऐक जगह पे

रुक गया जिस से शान को महसूस हो गया के यहाँ पे थोड़ा ज़ोर लगाना पड़ेगा.

शान ने नैना के लिप्स पे किस्सिंग एज कर दी जेसे नैना को कॉन्फिडेन्स मे

ले रहे हों कि एवेरितिंग गॉना बी वेल. और लंड को आगे पीछे मूव करने लगे.

शान ने नैना के कान मे स्लोली से कहा कि वो उसे टाइट्ली पकड़ ले और जेसे

ही नैना ने शान को कस के पकड़ा शान ने ज़ोर से धक्का मारा और लंड नैना की

चूत को चीरता हुआ अंदर चला गया और नैना के मूँह से चीख निकल गयी.

ओह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह माआआआआआआअ मररर्र्र्र्र्ररर गैईईईईईऔर सारा प्यार

तकलीफ़ मे बदल गया. लेकिन क्या करती फ्यूचर के मज़े से भरपूर प्यार के

लिये यह तकलीफ़ ज़रूरी थी. शान का लंड आहिस्ता आहिस्ता मूव कर रहा था और

आहह आहह की तेज़ आवाज़े आहिस्ता होना शुरू होगई. और शान के लंड से निकलती

तेज़ धार से प्यार का तूफान थम गया.

फ्लश फॉर्वर्ड

आंटी: वाह जी वाह.

नैना: क्या वाह जी वाह?

आंटी: यही वाह जी वाह जो कुछ हुआ वाह जी वाह. हाहहाहा

नैना: अछा जी?????????

आंटी: जी……. अछा यह बताओ कि शान का कितना बड़ा है?

नैना: क्या अब यह भी बताना पड़े गा?

आंटी: तो और क्या. मैं ने शुरू मे ही कहा था कि कुछ सेन्सर नही होना चाहिये.

नैना: लेकिन यह सब तो आप ने भी नही बताया था?

आंटी: अरे तू ने पूछा ही कब था, चल बता देती हूँ. आर्यन का पूरे 7 इंच का

था मोटा ताज़ा. हाहहाहा

नैना: आचाआआआआअ. फिर तो आप की चूत की तो ऐसी की तैसी फिर गयी होगी जब

फर्स्ट टाइम अंदर गया होगा?

आंटी: हां ना. लेकिन तू बात मत घुमा जल्दी से बता कितना बड़ा है तेरे शान का?

नैना: 6 इंच का है बट मोटा बहोत ज़यादा है. अंदर जाता है तो ऐसे लगता है

जेसे किसी ने बाज़ू डाल दिया हो. हाहहाहा

आंटी: हाहहाहा.

नैना: अच्छा आप बताओ कि आप की चुदाई सुहाग रात को ही हुई थी फर्स्ट या उस

से पहले ही हो गयी थी उस रात जब आप और आर्यन फर्स्ट टाइम मिले थे?

आंटी: उसी रात हो गयी थी. जिस रात हमारा फर्स्ट इंटरॅक्षन हुआ था.

नैना: वो आप को केसे जानते थे पहले से?

आंटी: वो मेरे पापा की कंपनी के प्रोक्यूर्मेंट मॅनेजर थे. सो वो मुझे

ऐसे जानते थे.

नैना: तो आप ने केसे अपना जिस्म उन के हवाले कर दिया यह सोचे समझे बघैर

कि वो आप को धोका भी तो दे सकते हैं? सिर्फ़ ऐक रात की चुदाई के बाद आप

से शादी ना करते तो फिर?

आंटी: अरे आर्यन मे बात ही कुछ ऐसी थी ऐसी अट्रॅक्षन थी कि मैं क्या कोई

भी लड़की होती तो वो अपना सब कुछ उन पे क़ुरबान करने को तैयार हो जाती.

क्योकि उन की बात मे सच्चाई और ट्रस्ट साफ दिख रही थी. और मुझे ज़रा

बराबर भी शक नही हुआ कि वो मुझ से शादी नही करेगे.

नैना: तो उस रात के कितने अरसे बाद आप लोगो की शादी हो गयी?

आंटी: 2 मंत्स बाद. कॉज़ उस रात के नेक्स्ट वीक हमारा रिश्ता पक्का हो

गया और 2 मंत्स के अंदर अंदर शादी और फिर मेरी चूत की बर्बादी. हाहहहाहा.

नैना: यप चूत की बर्बादी. हाहहहाहा.

आंटी: यह बता कि तेरी चूत की क्या हालत हैं? महीने मे कितनी दफ़ा चुद जाती है?

नैना: क्या बताऊ आंटी 3 दिन पहले 2 मंत्स बाद चुदी थी. शान अब बिल्कुल भी

सेक्स मे इंटेरेस्ट नही लेते. और 3 दिन पहले सेक्स किया भी तो ऐसे कि बस

खुद ही सॅटिस्फाइ हुए और मैं तो नीचे चुप चाप लेटी लंड के झटके ही सहती

रही.

आंटी: ओह हो वेरी सॅड. तो क्या क्या फिर तू ने?

नैना: क्या करना था लंड के चूत मे जाते ही आग लग गयी. और बस फिर अपनी

सर्विस खुद ही करनी पड़ी.

आंटी: वेरी बॅड. यह तो बहोत बुरा हो रहा है तुम्हारे साथ. इतनी खूबसूरत

जवान लड़की और हज़्बेंड का इतना ज़ुल्म. (आंटी की यह बाते नैना के मन मे

लगी आग को और भड़का रही थी)

नैना: जब आर्यन ज़िंदा थे तो वो ऐसे करते थे आप के साथ?

आंटी: अरे नही भाई. वो तो सेक्स के बहोट शौक़ीन थे जब तक वीक मे 3 दफ़ा

सेक्स ना कर ले तो उन्हे वीक फीका फीका लगता था. यकीन मानो उन का बस चलता

ना तो पीरियड्स के दौरान भी मेरी चूत मार लेते बट पासिबल नही था.

नैना: हाहहहाहा. अच्छा आर्यन को सेक्स मे सब से ज़यादा क्या अच्छा लगता था?

आंटी: उन्हे मेरे ब्रेस्ट्स से बहोत प्यार था. प्यार से पहले वो मेरी गोद

मे किसी छोटे बच्चे की तरहा सिर रख के लेट जाते और मुझे कहते कि अपने हाथ

मे अपना ब्रेस्ट पकड़ के मुझे फीड कर्वाओ. और मैं बिल्कुल वेसे ही उन्हे

अपने ब्रेस्ट सक करवाती.

क्रमशः..........
-  - 
Reply
07-17-2017, 12:32 PM,
#14
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-17

गतान्क से आगे.......

नैना: ओह सो स्वीट. मज़ा आता हो गा ना?

आंटी: हां बहोत ज़यादा. बहुत प्यार आता था उन पे. इस के अलावा उन्हे मैरे

हिप्स बहोत पसंद थे.

नैना: अच्छा? तो क्या वो हिप्स मे भी?

आंटी: हां ना. लेकिन सिर्फ़ पीरियड्स के दौरान. वरना नही. वो ज़्यादा

इन्सिस्ट नही करते थे बॅक शॉट्स पे. बट जब पीरियड्स के दौरान मैं उन्हे

प्यासा देखती तो खुद ही प्यार आ जाता उन पे और अपनी गांद उन के हवाले कर

दैति.

नैना: फिर तो बहोत पेन होता होगा?

आंटी: हां शुरू शुरू मे तो बहोत होता था लैकेन फिर सकून आने लगा.

तुम्हारे साथ कभी नही हुआ ऐसा क्या?

नैना: तौबा करो आंटी. मैं तो खाव्ब मे भी पीछे ना डलवाऊं. इतना पेन होता होगा.

आंटी: अरे पगली बहुत सकून मिलता है. कभी कहना शान को कि ट्राइ करे.

नैना: मैं केसे कहूँ. मैं तो अपनी चूत के लिये उन के लंड को तरसती रहती

हूँ और आप गांद की बात कर रही हैं.

आंटी: ओह यह भी तो मसला है तुम्हारे साथ.

नैना: टाइम देखते हुए. (रात क 11 बज रहे थे). एनी प्लान फॉर टी ओर कॉफी?

आंटी: क्या पूरी रात जगाने का प्लान है?

नैना: नही बस ऐसे ही दिल कर रहा था. बाते कर रहे हैं तो साथ कुछ पी भी लेते हैं.

आंटी: हां कॉफी ले आओ.

नैना: ओके और किचन मे चली गयी. और आंटी नैना का फोटो आल्बम देखने लगी.

नैना कॉफी लैके रूम मे एंटर होती है. ये लो जी गरमा गर्म कॉफी. केसी लगी फोटो?

आंटी: बहुत नाइस हैं फोटो. वेसे शादी को 18महीने हो गये हैं और तुम

बिल्कुल वेसे की वेसे हो. बल्कि और ज़यादा प्यारी हो गयी हो. थोड़ा सा

जिस्म भर गया है जिस ने तुम्हारी ब्यूटी को और निखार दिया है.

नैना: कॉफी आगे करते हुए. जी थॅंक्स. आअप भी तो अभी तक जवान ही दिखती हैं

जेसे मेरी बड़ी बहन हो.

आंटी: हां सब यही कहते हैं. वेसे तुम तो कहीं से भी नही लगती कि मॅरीड

हो. अभी तक कॉलेज गर्ल ही लगती हो. वेसे भी अभी तक कोई बच्चा जो नही हुआ

जिस की वजह से तुम्हारा पेट अभी तक स्लिम है.

(यह बात कर के आंटी को एहसास हुआ कि उन्हों ने ग़लत बात कर दी और नैना की

दुखती रग पे हाथ रख दिया. नैना के फेस पे भी उदासी आ गयी. )

आंटी: ओह सॉरी आइ डिड नोट मीन टू हार्ट यू. मैं तो तारीफ कर रही थी.

नैना: आर्टिफिशियल स्माइल देते हुए. नो नो इट्स ओके.

आंटी: म्‍म्म्मममममममम कॉफी इस गुड. काश मेरी भी ऐसी बेटी होती जो मुझे

ऐसी कॉफी बना के पिलाती.

नैना: अरे मैं हूँ ना आप की बेटी. जब दिल करे कॉफी का तो बता दिया करो आप

के घर खुद ले कर आ जाया करूँ गी.

आंटी: मैं सदक़े जाऊ. आंड लॅंडलाइन फोन रिंग्स.

आंटी: ओह किस का फोन आ गया इस टाइम.

नैना: शान ही हों गे. चेक कर रहे हों गे कि घर पे ही हूँ कि नही.

नैना: हेलो? हेल्लूऊऊऊ.

जिम्मी: हेलो नैना जी. मैं जिम्मी. सॉरी टू डिस्टर्ब यू

नैना: ओह जिम्मी हाउ आर यू?

जिम्मी: फाइन. मोम कहाँ हैं?

नैना: यहाँ ही हैं. ख़ैरियत.

जिम्मी: वो उन से बात करवा देंगी आप?

नैना: हाँ होल्ड करो.

आंटी: जी जिम्मी बेटा क्या हुआ?

जिम्मी: मोम आइ आम गेटिंग बोर हियर. मिस्सिंग यू.

आंटी: अरे मैं कोई इंग्लेंड मे थोड़ा ही गई हूँ. यहाँ परोस मे ही तो हूँ.

जिम्मी: बट आइ आम गेटिंग बोर ना. बताओ क्या करूँ?

आंटी: कोई मूवी दैख लो.

जिम्मी: दिल नही कर रहा. मैं भी आ जाऊ?

आंटी: नोप्सससस्स्स्स्सस्स. दिन मे और बात है और रात मे और. नही बेटा आप

घर पे ही रहो. नैना को अच्छा नही लगे गा. और अगर शान को पता चल गया कि

रात तुम यहाँ थे तो नैना की शामत आ जाए गी. फॉर दा सेक ऑफ नैना आराम करो

घर पे ही.

जिम्मी: हइईईईई. मोम अब तो रुकना ही पड़े गा. नैना जी के लिये तो जान भी हाज़िर.

आंटी: व्हातत्तटटटटटटटटटटटटटटटटटटटटटटटटटटतत्त?

जिम्मी: नही नही कुछ नही. बाइयेयेयी.

आंटी मुस्कुराने लगी और वापिस बेड पे आ गयीं.

नैना: क्या कहता था जिम्मी?

आंटी: जनाब साहिब बोर हो रहे हैं. कहता हैं दिल नही लग रहा मेरे बिना.

नैना: तो उसे भी बुला लेती ना?

आंटी: (हैरानगी से नैना की तरफ़ देखते हुए कि नैना तो खुद कह रही है

जिम्मी को बुलाने का और उस ने जिम्मी को यों ही मना कर दिया.) नही वो तो

आना चाह रहा था बट मैं ने मना कर दिया.

नैना: ओह हो आने देती उसे. खैर कोई बात नही बड़ा हो गया है अपना ख़याल

खुद रख ले गा.

आंटी: हां मैं भी यही कहती हूँ. अब हर वक़्त तो मैं साथ नही रह सकती ना.

खैर क्या करूँ वो प्यार ही इतना ज़यादा करता है मुझ से.

कॉफी पी के दोनो टीवी लाउंज मे चली गयीं. और टीवी ऑन कर के देखने लगी.

रात के 12 बज रहे थे. टीवी ऑन कर के दोनो टीवी देखने लगी.

आंटी: अरे वो चॅनेल लगाना ज़रा.

नैना: कॉन सा?

आंटी: अरे वोही वाला जिस मे तमाम ग़रीब लोग आक्टिंग कर रहे होते हैं. और

आँख मार दी.

नैना: ग़रीब लोग? यह कॉन सा चॅनेल हे? नया चॅनेल है कोई?

आंटी: अरे पगली वोही चॅनेल है. जिस मे तमाम घरीब लोग आक्टिंग कर रहे होते

हैं और वो इतने ग़रीब होते हैं कि उन के पास पहन.ने के लिये कपड़े तक नही

होते. हाहहहाहा

नैना: आंटी आप भी ना बस क्या कहूँ. क्या फिट कोड रखा हुआ है ग़रीबों का

चॅनेल. हाहहाहा. ओके वो चॅनेल एंड मे जा के आए गा. रुकिये मैं लगा दैति

हूँ.

आंटी: हां लगाओ. 12 बज गये हैं. कोई फिट सी मूवी शुरू होने वाली होगी.

नैना: ओके यह लो जी. लग गया आप का फेव चॅनेल.

आंटी: थॅंक्स. तुम नही देखती क्या?

नैना: जी शुरू शुरू मे देखते थे मैं और शान मिल कर और साथ साथ प्यार भी

करते थे मगर अब नही देखते.

आंटी: ओके चलो आज मैरे साथ बैठ कर दैख लो और साथ साथ बाते भी करते हैं.

टीवी पे नई मूवी स्टार्ट हो रही थी. मूवी के स्टार्ट मे ही सेक्स सीन

शुरू हो गया था ऐक ही बेड पे ऐक लड़का और दो लड़कियाँ ऐक दूसरे को

किस्सिंग कर रहे थे.

नैना: यह गोरे भी ना बड़े अजीब अजीब तरीक़े से सेक्स करते हैं.

आंटी: हां इन मे तो काई तरीक़े ऐसे होते हैं कि हम लोग तो कर ही नही

सकते. वेसे यह ब्लॅक ब्रा वाली लड़की काफ़ी सेक्सी लग रही है.

नैना: हां इसका बॉडी शेप बहोत फिट है.

आंटी: हां बहोत खूबसूरत ब्रेस्ट्स हैं और जीन्स मे तो इस की गांद बहोत

सेक्सी लग रही है.

नैना: वेसे लड़का भी काफ़ी सेक्सी लग रहा है. है ना?

आंटी: हां लग तो रहा है. ळैकेन लड़की ज़यादा प्यारी है ब्लॅक वाली.

मूवी का नेम आ गया. दा लॅडीस इन दा डार्क.

आंटी: ओह यह मेरी फेव मूवी है. जितनी भी दफ़ा देखो मज़ा करती है.

नैना: पहले देखी हुई है आप ने?

आंटी: हां कयी दफ़ा.

नैना: कोई ख़ास बात इस मूवी मे?

आंटी: हां इस मे रोमॅन्स बहोत नाइस दिखाया गया है. बहुत ज़बरदस्त सेक्स

सीन्स हैं और इस मे लड़कियाँ भी बहोत खूबसूरत हैं. स्टार्ट से ही तुम्हे

आइडिया तो हो गया हो गा?

नैना: जी. वेसे आप ठीक कह रही हैं. लड़की के ब्रेस्ट्स तो बहुत प्यारे

शेप मे हैं. ब्रा उतरी है तो खुल के सामने आए हैं. दूसरी वाली की उमर

थोड़ी ज़यादा है लैकेन है वो भी सेक्सी.

आंटी: हां बिल्कुल. हो गी कोई 40 साल की लैकेन है फिट.

सीन स्टार्ट्स दोनो लड़कियाँ आपस मे किस्सिंग स्टार्ट करती हैं और लड़का

उन्हे सामने बैठे दैख रहा है और स्लोली अपने लंड पे हॅंड मूव कर रहा है.

लड़कियाँ डीप फ्रेंच किस कर रही हैं और ऐक दूसरे के ब्रेस्ट्स प्रेस कर

रही हैं.

आंटी: नैना कभी तुम ने किया किसी लड़की के साथ ऐसा?

नैना: नही तो.

आंटी: बहुत मज़ा है इस मे.

नैना: क्या आप ने किया है?

आंटी: हां ना. जब मैं हॉस्टिल मे थी. तो अपनी रूम मेट के साथ कयी दफ़ा और

ईवन शादी के बाद भी जब भी आर्यन आउट ऑफ कंट्री होते मैं अपनी उसी फ्रेंड

को बुला लैति और रात भर हम एंजाय करते.

नैना: रियली? मुझे तो बहोत अजीब लगता है भाई सेम सेक्स के लोग आपस मे

रोमॅन्स कर रहे हों.

आंटी: तुम ने कभी ट्राइ नही किया ना इस लिये कह रही हो. ज़रा दैखो कितने

मज़े से दोनो ऐक दूसरे को किस्सस कर रही हैं. कितनी मस्त हो रही हैं

दोनो. वेसे जिस लड़की ने ब्लॅक ब्रा उतारी है उस के ब्रेस्ट्स बिल्कुल

तुम्हारे ब्रेस्ट्स की तरह हैं.

नैना: हैं वो केसे? आप ने तो मेरे ब्रेस्ट्स देखे ही नही तो मेरे जैसे केसे?

आंटी: अरे अंदाज़ा हो रहा है ना. साइज़ भी सेम सेम है. तुम्हे नही फील हो रहा?

नैना: नही मैं ने ध्यान नही दिया.

आंटी: ध्यान दो ना. लो अब दैखो. बिल्कुल सामने हैं उस के ब्रेस्ट्स.

नैना: (अपने माइंड मे अपनी बॉडी को लाते हुए जब वो शीशे के सामने बिल्कुल

नेकेड खड़ी हुई थी और अपने ब्रेस्ट्स को दैखा था और फिर मसाज भी किया था

लोशन का) जी सेम सेम हैं. उस लड़की के थोड़े बड़े हैं. हहहे

आंटी: नही वो कॅमरा की वजा से लग रहे हैं, हैं तक़रीबन बराबर ही.

नैना: ओके वेसे आप ने तो मेरे ब्रेस्ट्स उस लड़की से मिला दिये मैं अब आप

के ब्रेस्ट्स किस से मिलाऊ? हहेहहे

आंटी: थोड़ा सबर करो तुम्हारी यह ख्वाइश भी पूरी हो जाएगी. कॉज़ आगे जो

गर्ल्स आएँगी इस मूवी मे उस मे कयी के ब्रेस्ट्स मेरी तरह हैं. हाहहाहा

नैना: ओके. हहेहेहहे.

क्रमशः..........
-  - 
Reply
07-17-2017, 12:32 PM,
#15
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-18

गतान्क से आगे.......

थोड़ी देर यौंही खामोशी से टीवी देखती रही दोनो. टीवी पे रोमॅन्स सीन फुल

स्विंग पे था. दोनो गर्ल्स हॉट हो चुकी थी और बिल्कुल नेकेड भी. लड़का

सामने बैठा सब देख रहा है और अब कॅमरा से मूवी भी बना रहा है उन दोनो

लड़कियो की.

नैना: आंटी कोई और चॅनेल देखो?

आंटी: क्यो क्या हुआ पस्संद नही आ रहा?

नैना: नही ऐसी बात नही है. पसंद तो आ रहा है बट………

आंटी: बट क्या?

नैना: बट वो मुझे वेटनेस शुरू हो गयी है.

आंटी: ओह अच्छा तो यह बात है. तो इस मे चॅनेल चेंज करने वाली क्या बात?

हर जवान जिस्म ऐसे सीन दैख के असर पकड़ लेता है. और नैना के करीब हो गयी.

नैना: जी लैकेन मुझे अजीब लग रहा है.

आंटी: इट विल बी ऑल राइट और नैना का हाथ पकड़ लिया.

नैना: आप को भी हो रही है वेटनेस?

आंटी: हां ना. क्यो मैं औरत नही हूँ? मेरे जज़्बात नही हैं?

नैना: नही यह बात नही है. वो बस वेटनेस ज़्यादा हो रही है.

आंटी: गहरी साँस लेते हुए. आहह. मुझे भी. और और हाथ नैना के ब्रेस्ट्स पे ले गयीं.

नैना: आंटी यह ठीक नही है. हम दोनो?

आंटी: क्या ठीक नही है? सब ठीक है. मैं कॉन सी गैर हूँ. तुम्हारी अपनी

हूँ. और वेसे भी शान तुम्हारी प्यास तो भुजाते नही हैं. तो ऐसे ही सही.

और नैना के चीक्स पे किस कर दिया.

नैना: (काफ़ी ज़यादा वेट हो चुकी थी. आंटी ने उस का कॉन्फिडेन्स बिल्ट कर

दिया था वो आंटी से लिपट गयी) लव यू आंटी. थॅंक्स फॉर दिस केर ऑफ माइन.

और आंटी के होंटो पे होन्ट रख दिये.

आंटी: ओह नैना यू अरे सो स्वीट आंड सेक्सी. आइ लव यू.

नैना: थॅंक्स अहह आंटी. युवर लिप्स आर सो हॉट. मुहााआआआआ

आंटी: नैना कॅन आइ सी युवर ब्रेस्ट्स?

नैना: जी. आहह लव यू.

और नैना ने स्लोली अपनी कमीज़ उतार दी. उफ़फ्फ़ क्या जिस्म था. खूबसूरत

उभरे हुए दूध की तरह सफैद ब्रेस्ट्स ब्लॅक ब्रा के अंदर छुपे हुए.

आंटी: ओह नैना आइ वाज़ राइट तुम्हारे ब्रेस्ट्स तो बिल्कुल उसी तरह हैं

जो टीवी मे इस वक़्त चुदवा रही है. ओह लव यू और लिपट के नैना के होंटो को

सक करने लगी.

दोनो की आँखे क्लोज़ थी और ऐक दूसरे के होंटो को सक किये जा रही थी. आहह

आहह की आवाज़ों से महोले बहुत सेक्सी हो गया था.

नैना:आंटी आप की शर्ट तंग कर रही है. प्लीज़ इसे उतार दो. आहह

आंटी ने भी बिना देर किये अपनी शर्ट को जिस्म से अलहदा कर दिया. और ब्रा

को भी उतार के साइड पे रख दिया जिस से उन के 38 साइज़ के राउंड ब्रेस्ट्स

खुल के नैना के सामने आ गये.

नैना: ओह माइ गॉड. आंटी आप के ब्रेस्ट्स तो अभी भी बिल्कुल ऐक जवान लड़की

की तरहा हैं टाइट. आहह.

नैना ने भी अपनी ब्रा उतार के ऐक साइड पे रख दी और आंटी को बेड पे जाने

का कहा. दोनो उठ के बेड पे चली गयी और टीवी इसी तरहा ऑन छोड़ दिया. अब

दोनो को कोई परवाह नही थी कि टीवी पे कॉन किस की चुदाई कर रहा है. कॉन सी

लड़की ज़यादा सेक्सी या कॉन सा लड़का ज़यादा सेक्सी है. अब तो सिर्फ़ ऐक

ही सीन चल रहा था वो था नैना और आंटी का प्यार.

बेड पे आते ही आंटी ने नैना को नीचे लेटने का इशारा किया और खुद ऊपेर आ

के लेट गयीं. लेटने के साथ ही नैना के लिप्स पे अपने लिप्स रख दिये. आँखे

क्लोज़ कर के आंटी नैना के लिप्स को ऐसे सक कर रही थी जैसे नैना उन की

वाइफ हो और वो नैना का हज़्बेंड. नैना बिल्कुल मदहोश हो चुकी थी.

अगले ही लम्हे आंटी ने अपना राइट ब्रेस्ट हाथ मे लिया और निपल नैना के

लिप्स पे रख दिया.

आंटी: ओह मेरी नैना सक करो इन्हे. बहुत अरसे से तरसे हैं हैं यह

ब्रेस्ट्स किसी लिप्स के लिये.ओह मेरी सेक्सी नैना सक करो.

नैना ने आज तक किसी लड़की के ब्रेस्ट्स सक नही किये थे. बचपन मे अपनी मा

का दूध पीने के अलावा. नैना को थोड़ा अजीब सा लगा. और आंटी की आँखो मे

सवालिया नज़रों से देखने लगी.

आंटी ने भी आँखों ही आँखों मे बता दिया कि ट्राइ करो बहोत मज़ा है इस मे.

और अगले ही लम्हे नैना ने अपने दोनो हाथों मैं आंटी का ब्रेस्ट लिया और

सकिंग शुरू कर दी.

आंटी के मूँह से लंबी आहह निकल गयी और नैना के सिर को अपने ब्रेस्ट मे

दबाने लगी. नैना को यकीन नही था कि इस मे इतना ज़यादा मज़ा है. और नैना

का मज़ा बढ़ने लगा और वो ज़ोर ज़ोर से ब्रेस्ट्स दबा दबा के सक करने लगी.

होन्ट कभी राइट पे और कभी लेफ्ट पे ले जाती जिस से आंटी तड़प के रह जाती.

अगले ही लम्हे आंटी ने अपने ब्रेस्ट्स को नैना के लिप्स से दूर कर दिया.

नैना प्यासी नज़रों से आंटी की तरफ देखने लगी जैसे आंटी ने ठीक से प्यास

ना भुजने दी हो. आंटी ने मुस्करा कर नैना के ब्रेस्ट्स की तरफ दैखा और

आँखों ही आँखों मे बता दिया कि नैना के ब्रेस्ट्स कॉन सक करे गा अगर नैना

ही आज सकिंग करती रही. नैना भी फ़ौरन बात समझ गयी और आँखे बंद कर ली.

आंटी ने अपने होन्ट नैना के ब्रेस्ट्स पे रख दिये और निपल्स के राउंड

लिकिंग करने लगी. नैना आहह आंटी आहह. अहह लव यू. और आंटी के सिर को अपने

ब्रेस्ट्स पे प्रेस करने लगी. आंटी भी बहोत प्यार से दोनो ब्रेस्ट्स मे

अपने लिप्स की गर्मी डाल रही थी और नैना के ब्रेस्ट्स के बीच अपनी ज़बान

रखती तो नैना तड़प के अपने जिस्म को नीचे से ऊपेर उठा लैति.

आंटी ने ब्रेस्ट सकिंग छोड़ दी और उठ के बैठ गयीं. नैना ने फिर आंटी की

तरफ़ प्यासी नज़रों से दैखा जैसे आंटी उसे तरसा तरसा के प्यार दे रही

हों. लेकिन आंटी ने अगले ही लम्हे अपने ट्राउज़र को उतार दिया और बिल्कुल

नंगी हो गयी. आँखों ही आँखों मे नैना को भी इशारा कर दिया कि वो भी अपनी

भीगी हुई शलवार को उतार दे.

नैना और आंटी के बीच शरम के तमाम पर्दे हट चुके थे. नैना ने भी बिना किसी

शरम के अपनी शलवार को अपने जिस्म से अलहदा कर दिया और बिल्कुल नंगी हो

गयी.

आंटी: उफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ नैना क्या चूत है तुम्हारी. कब साफ की थी?

नैना: यही कोई दो दिन पहले. आप ने?

आंटी: आज ही. यह ले दैख ले.

नैना ने अपनी लाइफ मे ऐसे किसी लड़की की चूत नही देखी थी. सिर्फ़ फिल्म्स

मे देखने के एलॉवा. नैना के सामने आंटी अपनी लेग्स ओपन कर के लेट गयीं और

नैना आंटी की साफ सुथरी चूत को देखने लगी. आंटी की चूत साइज़ मे नैना की

चूत से थोड़ी बड़ी थी और फूली भी हुई थी. रंग थोड़ा डार्क था लिप्स का.

पूरी चूत वेट हो रही थी गर्मी की वजा से. आंटी ने नैना का हाथ पकड़ा और

अपनी चूत पे रखा और आँखों ही आँखों मे बता दिया कि इसे प्यार करे.

नैना आंटी का इशारा फ़ौरन ही समझ गयी और दोनो करवट ले कर ऐक दूसरे की तरफ

मूँह कर के लेट गयीं. नैना ने अपना हाथ सीधा आंटी की चूत पे रखा और आंटी

ने अपना हाथ नैना की चूत पे.

अब आंटी नैना की चूत और नैना आंटी की चूत को मसल रही थी. और ऊपेर से दोनो

ऐक दूसरे को किस्सिंग कर रही थी. नैना कभी आंटी को प्यार से लव यू बोलती

और कभी आंटी नैना को मेरी जान मेरी जान कह के बुलाती.

अगले 5 मिनट तक यौंही किस्सिंग और चूत रब्बिंग का सिलसिला जारी रहा और

पूरे रूम मे लव यू, मेरी जान , आहह आहह की आवाज़े आती रही.

आंटी के लिये यह खैल फर्स्ट टाइम नही था. वो पहले भी कयी दफ़ा लेसबो

सेक्स कर चुकी थी. उधर नैना के लिये आज फर्स्ट एक्सपीरियेन्स था और आंटी

यह बात बहोत अच्छी तराहा से जानती थी.

आंटी ने नैना को उल्टा लेटने को कहा. नैना भी फ़ौरन उलटा लेट गयी ऐसे

जैसे आंटी ने उस के दिमाग़ को काबू कर लिया हो. यह ऐसी स्टेज थी कि आंटी

अगर उसे स्यूयिसाइड करने का कहती तो शायद नैना वो भी कर जाती. उल्टा

लेट.ते ही नैना के भरे हुए खूबसूरत हिप्स आंटी के सामने आ गये.

आंटी ने अंदाज़ा लगाया कि नैना के हिप्स उस की सहेली की हिप्स से थोड़े

छोटे थे जिस से वो लेसबो सेक्स किया करती थी. लेकिन यह भी आइडिया लगे कि

नैना के हिप्स की शेप उस की सहेली के हिप्स की शेप से ज़्यादा प्यारी थी

और नैना के ऊपेर लेग्स फैला के लेट गयी जिस से नैना के हिप्स पे आंटी की

चूत रब होने लगी.

नैना: आहह आंटी आप की चूत का अहह पानी आहह मेरे हिप्स मे अहह जा रहा है. अहह

आंटी: हां मेरी जान. और नैना की पूरी कमर पे किस्सिंग करने लगी. आंटी को

आइडिया था कि नैना का जिस्म इस वक़्त बहोत प्यासा है और अगर नैना को पूरी

रात भी प्यार करती रही तो नैना प्यार लेती रहे गी.

अभी तक आंटी ऐक दफ़ा रिलीस हो चुकी थी और उन्हे यकीन था कि अगर वो ऐक

दफ़ा रिलीस हो चुकी हैं तो नैना कम आज़ कम 2 दफ़ा तो ज़रूर रिलीस हुई हो

गी. और नैना के कान मे पूछ लिया. कितनी दफ़ा पानी निकाल चुकी है मेरी जान

की चूत?

नैना: आहह आंटी 2 दफ़ा.

आंटी: मज़ा आ रहा है मेरी नैना को?

नैना: आहह आंटी जी बहोत ज़यादा. आहह आप को?

आंटी: हां मेरी जान बहोत ज़यादा. लव यू मेरी जान. और नैना के हिप्स के

अंदर फिंगर मूव करना शुरू कर दी.

नैना को अपने हिप्स मे आंटी की फिंगर बहोत सकून दे रही थी. और नैना हिप्स

उठा उठा के जवाब दे रही थी. आंटी भी नैना के हिप्स पे लिकिंग और किस्सिंग

कर रही थी. नैना जितना उस के बस मे था उतनी ज़्यादा लेग्स फैला के उल्टा

लेटी हुई थी उस की चूत बॅक से साफ दिख रही थी.

क्रमशः..........
-  - 
Reply
07-17-2017, 12:33 PM,
#16
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-19

गतान्क से आगे.......

आंटी ने महसूस किया कि नैना की चूत की वेटनेस की वजा से पूरी बेडशीट भी

भीग चुकी थी. और बेड शीट को देखते देखते आंटी की नज़र नैना की नर्म और

वेट चूत पे पड़ी और आंटी ने बिना देर किये अपनी फिंगर बॅक से ही चूत मे

डाल दी.

नैना: ओह आंटी. आहह. इस दफ़ा नैना की आवाज़ मे मस्ती कुछ ज़यादा ही थी.

और अपने सिर को तकिये के ऊपर इधर उधर करने लगी जैसे उस की जान निकली जा

रही हो.

आंटी ने नैना को सीधा लिटा दिया और नैना के ऊपेर 69 की पोज़िशन मे आ

गयीं. और 69 पोज़िशन मे आते ही आंटी ने नैना की चूत पे अपनी ज़बान रख दी.

नैना: अहह आंटी नही

प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़.

अहह इट्स तूऊऊओ होत्त्त्टटटटतत्त. अहह

आंटी: इट्स फॉर यू मेरी जान. अहह. डू दा सेम विथ मी. अहह लव यू.

नैना के लिये सब कुछ बिल्कुल नया था. नैना आँखे क्लोज़ कर के मज़ा ले रही

थी कि नैना की गर्दन पे कुछ ड्रॉप्स गिरे. नैना ने आँखे ओपन की तो नैना

के फेस के सामने आंटी की वेट चूत थी. तब नैना को पता चला कि आंटी उस के

ऊपेर किस पोज़िशन मे हैं. नैना अब तक इतनी ज़यादा मस्त थी कि उसे कुछ पता

नही चल रहा था बस प्यार के एलॉवा.

नैना की हिम्मत नही पड़ रही थी आंटी की वेट चूत पे अपनी जीब रखने की.

क्योकि उस ने आज तक कभी ऐसा नही किया था. जब कि दूसरी तरफ आंटी नैना की

चूत पे जीब डाल के मूव कर रही थी.

नैना के मूँह से ना चाहते हुए भी आहह आहह की आवाज़े निकली जा रही थी और

आँख थी कि खुलने का नाम नही ले रही थी.

इस से पहले नैना कुछ और सोचती. आंटी ने अपनी चूत को नैन के लिप्स पे खुद

ही रख दिया. आंटी भी अब कंट्रोल से बाहर हो गयीं थी और बहोत ही ज़यादा

गर्म भी. नैना के पास और कोई चारा नही था सिवाय आंटी की चूत लिक्क करने

के और हिम्मत कर के अपनी जीब चूत पे रख ही दी.

आंटी: अहह. और चूत को नैना के लिप्स पे दबा दिया. आहह की आवाज़ के फ़ौरन

बाद अपने लिप्स नैना की चूत पे रख दिये. जिस से नैना की आहह की आवाज़

आंटी की चूत मे ही समा गयी.

दोनो का चूत चूसने का खैल अगले 5 मिनट तक जारी रहा और नैना की चूत से

3र्ड टाइम और आंटी की चूत से 2न्ड टाइम थिक पानी की नदियाँ बह गयी और

दोनो इसी हालत मे खामोश लेट गयीं.

5 मिनट यौं ही लेटने के बाद नैना को आंटी का वज़न अपने ऊपेर फील होने

लगा. आंटी ने इस बात को फील कर लिया और नैना के ऊपेर से उतर के नैना के

साथ आ के लेट गयी और नैना से लिपट गयी.

दोनो मे से किसी की हिम्मत नही हो रही थी उठने की और वॉशरूम जाने की. बस

यौं ही आँखे क्लोज़ कर के दोनो लेट गयीं.

थोड़ी देर बाद नैना की आँख खुली तो सुबह के 5 बज रहे थे. उसे पता ही नही

चला था कि लेटे लेटे वोकब सो गयीं थी और उन्हे सोए हुए भी 3 घंटे हो चुके

थे. नैना ने अपने और आंटी की तरफ़ ऐक नज़र डाली. आंटी दूसरी तरफ़ मूँह कर

के सो रही थी और उन की कमर नैना की तरफ़ थी. नैना ने आंटी की कमर पे

प्यार से ऐक किस किया जेसे आंटी का शुक्रिया अदा कर रही हो रात के प्यार

के लिये. देन उस की नज़र आंटी के राउंड मोटे हिप्स पे पड़ी. नैना को बहोत

प्यार आया उन पे भी और उन पे भी प्यार से हाथ मूव कर के वॉशरूम चली गयी.

वॉशरूम जा के नैना ने अपनी चूत और अपनी लेग को गौर से दैखा. उसकी वेथनेस

अब ड्राइ हो गयी थी और पूरी चूत और जाँघो पे जम के वाइट सी हो गयी थी

सख़्त सी. फिर नैना को एहसास हुआ कि रात को वो कितनी ज़्यादा वेट हो गयी

थी. फिर नैना ने बाथ लिया और बातरूम मे लटके नाइट ड्रेस को पहन कर आ गयी

और आंटी के साथ लेट गयी.

लेट के नैना रात के हुए वासना के खेल के बारे मे सोचने लगी और आइडिया

लगाया कि कोई 3 से 4 मंत बाद उस ने इस एक्सट्रीम लेवेल की एज्युक्युलेशन

की थी. क्रेडिट गोस टू आंटी जी. फिर यह दिमाग़ मे आया कि आंटी उस के बारे

मे क्या सोचती हों गी कि केसे मैं सारे कपड़े उतार के उन के सामने नंगी

हो गयी. फिर नज़र आंटी के नंगे बदन पे पड़ी तो यही रिज़ल्ट लिया कि नही

आंटी ने क्या सोचना है वो भी तो पूरी नंगी हैं उस के सामने.

सोचते सोचते उसे नींद आ गयी. दोबारा आँख खुली तो दैखा आंटी बेड पे नही थी

और कमरा सूरज की रोशनी से रोशन होया हुआ था. सुबह के 8 बज रहे थे. नैना

फ़ौरन बेड से उठी और वॉशरूम मे दैखा आंटी नही थी, देन टीवी लाउंज, वहाँ

भी आंटी नही थी. नैना घबरा सी गयी कि आंटी कहाँ गयीं दौड़ती हुई किचन मे

गयी मगर वहाँ भी आंटी ना दिखी. किचन मे से ही बाहर सहन मे नज़र डाली मगर

वहाँ पे भी आंटी ना नज़र आईं. नैना ऐक दम परेशान हो गयी क्योकि गेट का

मेन दरवाज़ा भी खुला हुआ था. दौड़ती हुई गेट के पास पहॉंची तो पता चला

आंटी बाहर दूध ले रही थी दूध वाले से. नैना का जैसे खोया हुआ साँस वापिस

आ गया.

आंटी अंदर आईं तो नैना ने उन्हे कहा कि आप ने तो मुझे डरा ही दिया था.

आंटी ने कहा कि मैं खुद गयी थी ताकि दूध वाले को कह दूं कि कल से साथ

वाले घर मे भी दूध दे जाया करे और उसी से वोही बात कर रही थी.

नैना को आंटी ने उल्हाहना दिया कि तुम ने अकेले अकेले कपड़े पहन लिये और

मुझे ऐसे ही नंगा छोड़ दिया बेड पे. मेरी आँख खुली तो जनाब साहिबा सकून

से ड्रेस पहन के सो रही थी और मैं ऐसे ही नेकेड.

नैना ने कहा वो आप सो रही थी तो आप को उठाना मुनासिब नही समझा थ्ट्स वाइ.

खैर आंटी ने उसे आँख मारी और कहा कि मज़ा आया था? जिस पे नैना ने शर्मा

के हां मे सिर हिला दिया और किचन मे चली गयी.

इतने मे फोन बेल बजी. नैना ने दौड़ते हुए फोन उठाया तो दूसरी तरफ़ जिम्मी

था फोन पे.

जिम्मी: हेलो जी गुड मॉर्निंग

नैना: गुड मॉर्निंग हाउ आर यू?

जिम्मी: फाइन. मोम कहाँ हैं?

नैना: आइ गैस ही ईज़ इन वॉशरूम.

जिम्मी: लगता है मोम का आने का कोई मूड नही है. मोम को आप से प्यार हो

गया है शायद? हहहे

नैना: हां हो गया है. तुम क्यो जेलौस हो रहे हो?

जिम्मी: क्यो ना हूँ. मेरी जगह मोम ने ले ली.

नैना: व्हातत्तटटटटटटटटटटटटटटतत्त?

जिम्मी: व्हाट क्या मेरी जगह ले ली मोम ने. मुझे भी आप से प्यार हो गया है.

नैना: (बात बदलते हुए) नाश्ता कर लिया?

जिम्मी: हाए दिल की बात कह दी आप ने. इसी लिये तो फोन किया था कि मोम का

क्या सीन है?

नैना: मोम तो यहाँ ही ब्रेकफास्ट करेंगी. ऐसे करो तुम भी यहाँ ही आ जाओ.

जिम्मी: म्‍म्म्मममममममममममम. पहले मोम से बात कर लूँ फिर बताता हूँ.

नैना: मोम से बात भी यहाँ ही आकर लो. ओके आ जाओ मैं ब्रेकफास्ट बना रही हूँ फॉर यू.

जिम्मी इस से पहले कुछ कहता नैना ने फोन रख दिया.

फोन रख के नैना किचन मे चली गयी और साथ ही आंटी भी किचन मे आ गयीं. नैना

ने आंटी को बता दिया उस ने जिम्मी को भी यहीं बुला लिया है फॉर

ब्रेकफास्ट जिस पे आंटी ने नाराज़गी का इज़हार किया कि यह बात ठीक नही

है.

खैर जिम्मी भी आ गया और देन सब ने मिल के ब्रेकफास्ट किया और देन जिम्मी

और आंटी अपने घर चले गये और नैना घर के काम काज मे मसरूफ़ हो गयी.

घर के तमाम काम ख़तम करने के बाद नैना ने टाइम दैखा दोपेहर के 12 बज रहे

थे. आज सुबह से शान ने भी कोई फोन नही किया था. नैना ने सोचा शान की खैर

ख़ैरियत पता कर ली जाए. फोन उठे और शान को कॉल की.

शान: हेलो नैना केसी रही रात अकेले?

नैना: अकेली तो नही थी.

शान: शक भरी आवाज़ मे. तो कौन था साथ तुम्हारे?

नैना: आंटी को बुला लिया था मैं ने साथ से. आप को पता है अकेले मुझ से

केसे रात गुज़रती?

शान: ओह प्ल्ज़ नैना अब रात गुज़ारना सीखो अकेले कॉज़ अब मुझे वीक मे ऐक

या दो दिन नाइट टाइम काम करना पड़े गा.

नैना: ओके कर लूँगी. और आप की रात केसी गुज़री?

शान: बहुत काम था सारी रात करते रहे अभी भी नींद से बुरा हाल है.

नैना: तो घर आ जाओ ना? आराम कर लो.

शान: नही अब छुट्टी कर के ही आउन्गा ऐक ही दफ़ा. कुछ मंगवाना है बाज़ार

से तो मुझे एसएमएस कर देना मैं लेता आउन्गा.

नैना: ओके टेक केर.

शान: टेक केर और फोन बंद.

नैना देन टीवी लाउंज मे आ गयी और शान के बारे मे सोचने लगी कि शान उस के

साथ ऐसा क्यो कर रहे हैं? क्या वो खूबसूरत नही है? क्या वो सेक्षुयल

कमज़ोर है? क्या शान का उस से दिल भर गया है? या उस लड़की ने शान को अपने

जाल मे फँसा लिया है?

अभी यही सोच रही थी कि आंटी की कॉल आ गयी कि वो बाज़ार तक जा रही हैं कुछ

शॉपिंग करने और इफ़ नैना जाना चाहती है तो रेडी हो जाए. पहले तो नैना ने

सोचा कि नही जाती कि शान क्या कहेंगे फिर यह सोच कर जाने की हामी भर ली

कि शान को कौन सा फ़र्क़ पड़ता है वो जिये या मरे और देन हां कर दी.

थोड़ी देर मे दोनो रेडी हो कर बाज़ार शॉपिंग करने चली गयीं. शॉपिंग करते

करते 2 बज गये और नैना को भूक लगने लगी. आंटी ने भी भूक का इज़हार किया

और दोनो ऐक फास्ट फुड मे लंच करने चली गयीं.

वहाँ पे दोनो ने इकट्ठा लंच किया और लंच कर के जेसे ही दोनो फास्ट फुड से

बाहर आईं आगे से शान उसी लड़की के साथ फास्ट फुड के अंदर दाखिल हो रहे

थे. शान की नज़र नैना पे पर गयी और नैना ने भी शान को दैख लिया. शान की

शकल से कन्फ्यूषन क्लियर दिख रही थी क्योकि शान के हाथ मे उस लड़की का

हाथ था और नैना ने दोनो को उसी पोज़िशन मे दैख लिया था.

आंटी ने नैना का कुछ ना बोलने का कहा और खामोशी से आगे चल दिये. नैना को

ऐक बात तो कन्फर्म हो गयी कि उस लड़की ने नैना को नही दैखा हुआ था वरना

वो भी फ़ौरन उसे पहचान जाती. नैना गुस्से से जा के गाड़ी मे आंटी के साथ

बैठ गयी और रोने लगी.

आंटी ने उसे समझाया कि यह मुनासिब जगह नही है. घर जा के आराम से बात कर

लेना शान से और गाड़ी ले कर चल दी. घर पहुचते ही नैना ने रो रो के बुरा

हाल कर दिया. आंटी ने मुनासिब नही समझा उन के आपस के मामलात मे इंटरफेर

करना इसी लिये वो नैना के घर नही आइ.

नैना अभी रो रो के बेड पे लेटी ही थी कि डोर बेल हुई. नैन ने अपने फेस को

ठीक किया और जा के डोर ओपन किया तो हैरान हो गयी. बाहर शान खड़े थे जो कि

बहोत गुस्से मे दिख रहे थे.

दरवाज़ा बंद करते ही नैना पे बरस पड़े. तुम्हे शरम नही आती मेरी इजाज़त

के बगैर तुम बाहर क्यो निकली? तुम्हे किस ने कहा कि तुम इस तरहा फास्ट

फुड्स और बाज़ार मे घूमती फ़िरो. तुम्हे अपने हज़्बेंड की इज़्ज़त का कोई

ख़याल नही है? लानत है ऐसी वाइफ पे जो अपने हज़्बेंड की गैर हाजरी मे

बाज़ारों मे घूमती है. पता नही और क्या क्या गुल खिलाए हों गे मेरी गैर

मौजूदगी मे.

इस बात पे नैना को सख़्त गुस्सा आ गया और वो शान पे बरस पड़ी कि वो जो

लड़की आप के साथ थी वो क्या उस के साथ लंच कर के आप को शरम नही आइ? उस के

साथ रात गुज़ार के शरम नही आइ? बस इतना ही कहना था कि शान ने नैना के गाल

पे ज़ोर का चांटा रसीद कर दिया और गुस्से से ज़ोर से गेट बंद कर के गाड़ी

स्टार्ट कर के चले गये.

क्रमशः..........
-  - 
Reply
07-17-2017, 12:33 PM,
#17
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-20

गतान्क से आगे.......

नैना और शान की लाइफ मे आज फर्स्ट टाइम इतनी बड़ी लड़ाई हुई थी. और वो भी

इतनी कि नैना को शान ने चाँटा तक दे मारा. नैना ने तो रो रो कर बुरा हाल

कर दिया. वो जा भी तो कहीं नही सकती थी. पेरेंट्स इतने दूर थे कि 24

अवर्स का सफ़र था. और उन को बता के परेशान नही करना चाहती थी.

रात के 10 बज चुके थे लेकिन शान अब तक घर वापिस नही आए थे. नैना का

गुस्सा भी थोड़ा ठंडा हो चुका था. नैना ने फोन उठाया और शान को कॉल की.

शान ने नैना का फोन अटेंड नही किया. नैना ने दो दफ़ा और ट्राइ किया तो

शान ने नैना की कॉल कट कर दी. जिस पे नैना को बहोत दुख हुआ कि अपनी वाइफ

की कॉल अटेंड नही कर रहे. थोड़ी देर मे नैना के सेल पे मैसेज आया जिस मे

लिखा था कि वो आज रात भी घर नही आएगे और वो नैना की शकल नही देखना चाहते.

नैना ने गुस्से से फोन सोफे पे फैंका और आ के अपनी किस्मत पे रोने लगी.

काफ़ी देर यौं शान के बिहेववर और फास्ट फुड वाली लड़की के बारे मे सोचने

के बाद उस ने सोचा कि आंटी को क्यो ना बुला लिया जाए क्योकि उसे मालूम था

कि वो आज रात भी अकेली ही होगी. लेकिन फिर यह सोच के अपने आप को ही माना

कर दिया कि नही आंटी क्या सोचेगी. आंटी को तो नही पता ना कि शान घर पे आए

थे और यह सब कुछ कर के गये हैं. फिर सोचने लगी कि आंटी को तो सब कुछ

मालूम है कि मेरे और शान के बीच क्या चल रहा है और आज उन्हों ने अपनी

आँखों से शान को फास्ट फुड मे दैखा था. फिर सोचा कि बुला ही लूँ तो बेहतर

है. उठी और आंटी को फोन करने ही लगी थी कि नैना के सेल पे मैसेज आया.

नैना ने यह सोच के फ़ौरन सेल फोन उठाया कि शान का मैसेज ही होगा. लेकिन

वो मैसेज आंटी का था जिस मे लिखा था कि नैना तुम जाग रही हो? नैना के तो

जैसे मन मे लड्डू फूट पड़ा कि अभी ही सोच रही थी और आंटी का मैसेज आ गया.

और साथ ही नैना के मूँह से निकल पड़ा थिंक ऑफ देविल, देविल ईज़ हियर. और

खुद ही हँसने लगी. फिर सेम यही लिखा मैसेज मे कि आंटी थिंक ऑफ देविल,

देविल ईज़ हियर. हहेहहे आंड यस जाग रही हूँ आंड मिस्सिंग यू. और मैसेज

सेंड कर दिया.

नैना का मैसेज सेंड करना ही था कि लॅंडलाइन फोन पे रिंग हुआ. नैना ने फोन

उठाया तो दूसरी तरफ़ आंटी थी.

आंटी: जी जनाब तो मिस किया जा रहा है हमे?

नैना: जी आंटी. दिल नही लग रहा मेरा.

आंटी: दिल नही लग रहा या जिस्म नही लग रहा बेड पे? हहहे

नैना: आंटी प्ल्ज़ आइ आम सीरीयस. मेरा मूड बहोत सख़्त खराब है.

आंटी: हाए क्या हुआ मूड को?

नैना: क्या आप आ सकती हैं?

आंटी: हाँ आ तो सकती हूँ.

नैना: ओके आओ फिर बताती हूँ.

आंटी: ओके मैं आती हूँ और फोन रख दिया.

सीन चेंज (शान & दट गर्ल)

शान नैना के घर से हो कर सीधा उसी लड़की के घर पे चला गया था. लड़की का

नेम सोना था.

दोस्तो इस सोना का भी भूतकाल जान ले इससे कहानी को समझने मे आसानी होगी

आपका दोस्त राज शर्मा

(फ्लॅशबॅक- बॅकग्राउंड ऑफ सोना)

वो बहोत ही अमीर माँ बाप की लड़की थी और अमीर होने के साथ साथ उसका माइंड

भी काफ़ी ओपन था. सोना के डॅड आउट ऑफ कंट्री होते थे जो कमा कमा कर यहाँ

भैज रहे थे जब कि यहाँ सिर्फ़ सोना उसकी मदर और उस की बड़ी सिस रहते थे.

सोना की बड़ी सिस कोई 36 यियर्ज़ की हों गी और वो डिवोर्स्ड थी. सोना और

शान की मुलाक़ात राह चलते हुई थी जब सोना की कार खराब हो गयी थी और शान

ने उसकी हेल्प की थी गाड़ी को घर तक लाने मे और उसे सेफ्ली घर तक पहुचाने

मे. क्योंकि दट टाइम शी वाज़ टोटली ड्रंक. उस दिन से शान और सोना की

फ्रेंडशिप का सिलसिला शुरू हुआ और जो इतना बढ़ गया कि शान ने अब सोना के

घर रात गुज़ारना भी शुरू कर दी. सोना और उसकी फॅमिली (सिस्टर & मदर) इतने

ओपन माइंडेड थे कि उन्हे शान का उन के घर रहने मे कोई ऐतराज़ ना था.

बल्कि तीनो मिल कर शान के ज़ख़्मो पर नमक डालने का काम करते थे शान के

सामने नैना की बुराइयाँ और सोना की अच्छी आदते गिनवा कर.

(फ्लश फ़वड- शान & सोना)

शान नैना के घर से हो कर सीधा उसी लड़की के घर पे चला गया था. सोना को

आने से पहले ही उस ने कॉल कर दी थी कि मैं आ रहा हूँ. इस लिये सोना शान

को घर पे ही मिली जब कि सोना की सिस और उस की मदर अलहदा अलहदा पार्टीस मे

गयी हुई थी. शान सोना के घर मे काफ़ी गुस्से से दाखिल हुआ. सोना ने ये

देखते ही बोला क्या हुआ माइ स्वीट शानू? क्या नैना से लड़ के आए हो?

शान: हां और क्या सारा मूड खराब कर दिया उस मनहूस ने. और सारा मज़ा खराब

कर दिया आज दोपेहर मे लंच का.

सोना: शान के पास और बॅक शान के राउंड आर्म्ज़ डाल के बोली डोंट वरी माइ

जानू मैं हूँ ना अपनी जान के पास?

शान: यॅ इसी लिये तो तुम्हारे पास चला आया और दोनो चलते चलते जा के सोफे

पे बैठ गये.

शान: आज रख दिया मैं ने ज़ोरे का चांटा उस के मूँह पे कमीनी कहीं की.

सोना: ठीक किया बिल्कुल तुम ने जानू. ऐसा ही करना चाहिये था तुम्हे उस

मनहूस के साथ ऐक तो तुम्हे बच्चा नही दे सकी और अब तुम्हारी सारी खुशियो

पे पानी फेर रही है. (सोना के इस जुमले ने शान के लिये जैसे जलती पे

पेट्रोल का काम किया).अपनी बात पूरी कर के ऐक दम बोली ओह सॉरी जान मैं ने

तुम से पूछा ही नही. क्या लो गे टी, कॉफी, या ड्रिंक?

शान: आंटी और सोनिया (सोना की सिस) कहाँ हैं?

सोना: मोम हों गी किसी पार्टी मे और सोना की फ्रेंड की आज बर्त.डे थी सो

वो वहाँ गयी है. मोम तो शायद वापिस आ जाए बट सोना शायद वापिस ना आए आज

रात.

शान: ओके. देन गिव मी कॉफी. सिर मे दर्द हो रहा है सख़्त.

सोना: ओके और उठ के जाने लगी.

शान: कहाँ जा रही हो?

सोना: कॉफी बनाने.

शान: सब नोकेर कहाँ हैं?

सोना: अरे भाई टाइम तो दैखो रात के 10 बज रहे हैं. नोकेर 9 बजे छुट्टी कर

जाते हैं उस के बाद सब खुद करना पड़ता है.

शान: ओके मैं भी चलता हूँ साथ किचन मे और दोनो किचन मे चले गये.

सोना: शान जानू ऐक बात बोलू?

शान: हां बोलो.

सोना: तुम मेरे लिये क्या क्या कर सकते हो?

शान: कुछ भी.

सोना: कुछ भी?

शान: यप कुछ भी आज़मा के दैख लो.

सोना: इतना कॉन्फिडेन्स है खुद पे?

शान: बिल्कुल है कोई शक?

सोना: नही कोई शक नही.

शान: मुस्कुराते हुए. होना भी नही चाहिये. हहहे

सोना: ओके वक़्त आने पे इम्तिहान लूँगी तुम्हारा और मुस्कुरा के ऐक कप

शान के हाथ मे थमा दिया.

दोनो वॉक करते करते कॉफी के कप साथ लिये फर्स्ट फ्लोर पे टारस मे आ गये.

बाहर बहोत ठंडी हवा चल रही थी.

सोना: शान यू नो आइ लव दिस कूल ब्रीज़. दिल करता है कि बस इस मे खो जाऊ.

अच्छा ऐक बात बोलू?

शान: हां बोलो.

सोना: मैं ज़यादा सेक्सी हूँ या नैना?

शान: यह केसा सवाल है?

सोना: बताओ ना जान मैं ज़यादा सेक्सी हूँ या नैना?

शान: ऑफ्कोवौर्स यू सोना.

सोना: अछा बताओ ना जानू कहाँ कहाँ से सेक्सी हूँ ज़यादा?

शान: ओवर ऑल सेक्सी हो नैना से ज़यादा.

सोना: यार प्ल्ज़ अब यह शरीफों की तरह बिहेव करना छोड़ो. तुम अपने घर पे

नही हो तुम यहाँ हो हमारे घर और यू मस्ट नो दा रूल यहाँ कोई चीज़ सेन्सर

नही होती सब कुछ ओपन. ओके?

शान: ओके बॉस. ओक लेट मी टेल यू. ओके तुम सब से पहले सेक्सी हो ...........

जेसे ही शान कुछ कहने लगा सामने मेन गेट ओपन हुआ और बाहर से ऐक बड़ी

गाड़ी अंदर दाखिल हुई. सेक्यूरिटी गौर्ड़ ने गेट लॉक किया और अपने कॅबिन

मे चला गया.

सोना: मोम आ गयी हैं.

शान: यप आ तो गयी हैं मगर यह साथ लड़का कॉन है?

सोना: अरे हो गा मोम का कोई फ्रेंड. मोम अक्सर जब पार्टीस मे जाती हैं तो

वापिसी पे कोई हॅंडसम लड़का ज़रूर होता है साथ.

आंटी ड्रंक लग रही थी. गाड़ी से बाहर निकली और उस लड़के का हाथ अपने हाथ

मे ले के बेड रूम की तरफ़ चल दी. लड़का आंटी की उमर का हाफ होगा बट बहोत

हेअल्थि लग रहा था.

शान: ही ईज़ गोयिंग इन बेड रूम विथ युवर मोम?

सोना: ओह कॉम ऑन. क्या मोम का दिल नही करता एंजाय करने का? अगर डॅड वहाँ

अमेरिका मे एंजाय कर सकते हैं तो क्या मोम को कोई हक़ नही है?

शान खामोशी से सोना की बाते सुन रहा था और उसे बहोत अजीब लग रहा था यह

सब. उस ने ऐसा कुछ सुना तो हुआ था लैकेन उसे आज प्रॅक्टिकली देखने का भी

पूरा मौक़ा मिल रहा था और काफ़ी हैरान था कि ऐसे भी लोग हैं इस दुनिया मे

जिन के सामने शरम, हया, रिलिजन कोई मीनिंग्स नही रखता. उन्हे कोई शरम फील

नही होती कि बाहर जो सेक्यूरिटी गार्ड है वो क्या सोचता होगा? नोकर भी तो

यह सब देखते हों गे वो क्या सोचते हों गे? क्या इज़्ज़त हो गी इन लॅडीस

की उन की नज़र मे? यह सोच रहा था कि सोना की आवाज़ उस के कान मे पड़ी.

सोना: हेलो जनाब कहाँ खो गये?

शान: ओह सॉरी आइ वाज़ जस्ट थिंकिंग कि .............

सोना: जस्ट थिंकिंग कि?

शान: आइ वाज़ जस्ट थिंकिंग कि यू आर वेरिंग वेरी सेक्सी ड्रेस. और स्माइल कर दी.

सोना: आं हां. वेसे कॉफी ख़तम हो गयी हो तो रूम मे चले?

शान: यआः शुवर.

और दोनो सोना के रूम की तरफ़ जाने लगे. जाते हुए जब दोनो आंटी के रूम के

सामने से गुज़रे तो शान थोड़ी देर रुक के अंदर से आवाज़ सुन.ने लगा. सोना

ने शान को नोटीस कर लिया और बोली अरे मेरी जान क्या लाइव दिखा दूँ? शान

घबरा गया. क्या लाइव दिखा दूं?

सोना: अरे यही मोम का लाइव पॉर्न सीन? हहेहहे

शान: नही इट्स ओके. लेट्स मूव.

सोना: अरे अब रुके हैं तो दैख ही जाते हैं. और सोना ने थोड़ा सा रूम का

दरवाज़ा ओपन कर दिया जो कि लॉक नही था. आंटी को पता था कि घर पे सिर्फ़

मैं और सोना ही हों गे और सोना को तो सब पता है सो लॉक नही किया डोर.

शान ने देखा कि आंटी और वो लड़का दोनो विदाउट शर्ट थे और वो लड़का आंटी

क़ी बड़ी बड़ी चूचियो के ऊपेर शराब डाल के निपल्स सक कर रहा था और आंटी

के हाथ मे भी शराब का ग्लास था.

सोना: अरे यहाँ तो अभी मनो रंजन शुरू ही नही हुआ अभी ट्रेलर चल रहा है.

चलो छोड़ो लेट्स गो टू और रूम और दोनो बेड रूम मे चले गये.

-------------

सीन चेंज (नैना & आंटी)

डोर बेल. नैना ने डोर ओपन किया और आंटी अंदर आ गयीं. नैना ने डोर लॉक

किया और दोनो वॉक करते करे टीवी लाउंज मे आ गयीं.

आंटी: हां बोलो क्यो नही लग रहा दिल और शान कहाँ है?

नैना: वो गुस्से मे घर से चले गये और मैसेज कर दिया कि आज नही आएँगे.

आंटी: यानी वो उसी लौंडिया के पास चला गया हो गा आज फिर.

नैना: यआः मुझे भी यही लगता है.

आंटी: शान का कुछ करना पड़ेगा.

नैना: क्या करना पड़ेगा? आप ने पहले भी कहा था मगर अभी तक कुछ किया ही नही?

आंटी: उसे उस के हाल पे छोड़ दो. देखना वो ऐक ना ऐक दिन ज़रूर लौट के आए

गा और तुम से माफी माँगे गा.

नैना: अरे आप शान को नही जानती, वो जान दे दे गा मगर माफी वाला काम नही

करे गा और वो भी मुझ से. ना भाई ना.

आंटी: अरे मेरी बच्ची तू देखती जा. और फिर दोनो मिल के बाते करने लगी.

क्रमशः..........
-  - 
Reply
07-17-2017, 12:33 PM,
#18
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-22

गतान्क से आगे.......

उधर शान और सोना काफ़ी देर यू ही लेटे रहे और फिर सोना को शान का वज़न

अपने ऊपेर फील होना शुरू हो गया जो बिल्कुल नंगा हो कि सोना के ऊपेर लेटा

हुआ था. सोना ने शान को अपने ऊपेर से हटाया जिस से शान की आँख खुल गयी.

सोना: सॉरी जानू. लीप पे किस करते हुए. आइ नीड टू गो टू वॉशरूम.

शान: मुहाआ लिप्स पे जवाब देते हुए. यप लेट्स गो टू वॉशरूम.

दोनो उठ के वॉशरूम मे चले गये. वॉशरूम मे जा के सोना ने शान से कहा जानू

तुम्हारा लंड तो बहोत मोटा है. जब तुम ने ऐक दम से पूरा अंदर डाला था तो

बस मेरी तो जान ही निकल गयी थी. उफफफ्फ़ जानू केसे बर्दाश्त किया होगा

नैना ने यह मोटा लंड सुहाग रात को? हहेहहे.

शान: बस ले लिया उसे बहोत तकलीफ़ हुई थी. लेकिन सोना जानू तुम्हारी चूत

बहोत रसीली है. दिल करता है बस लंड डाल के सो जाए बंदा.

सोना: तो जनाब आज आप ऐसे ही तो सोए थे? भूल गये क्या? हहहे. अगर मैं

वॉशरूम के लिये ना उठ.ती तो जनाब को होश ही कहाँ था.

सोना ने वहाँ शान के सामने ही अपनी चूत को वॉश किया और इसी तरहा शान ने

भी अपने लंड को वॉश काइया और शान सिर्फ़ अंडरवेर और सोना नाइटी पहन के

बेड पे आ गये और आपस मे लिपट के बाते करने लगे.

-----------------

थोड़ी देर यौं ही बाते होती रही और अचानक सोना को मस्ती सूझी और उस ने

शान को कहा कि आओ ज़रा मोम के रूम का चक्कर लगा के आते हैं.

शान: वो क्यू?

सोना: अरे आओ ना. देखते हैं वहाँ क्या हो रहा है.

शान: ओके और दोनो स्लोली मोम के रूम के पास चले गये और डोर ऐसे ही ओपन था

जो सोना ने ओपन किया था.

अंदर सोना की मोम डोगी स्टाइल मे थी और वो यंग लड़का आंटी को बॅक से

शॉट्स लगा रहा था. आंटी मज़े मे गुम थी और नशे मे गंदी गंदी लॅंग्वेज

यूज़ कर रही थी. चोद डालो मुझे, यह चूत तुम्हारी है, हाहहहाहा, रंडी के

बच्चे चोद दे इस छूट को. शान को यह सब सुन के बहोत अजीब फील हुआ कि ऐक

औरत भी ऐसी ओपन बाते कर सकती है. बट सोना यह एंजाय कर रही थी.

अचानक आंटी की नज़र सोना पे पड़ गयी और सेक्स के दौरान भी सोना को आवाज़

दी. अया अया आहह सोना डू यू नीड हिज़ हार्ड कॉक इन युवर पुसी?

सोना ने शान को आगे कर दिया आंटी की नज़र शान पे पड़ गयी जिस से आंटी समझ

गयी कि सोना के पास भी इंतेज़ाम है चूत की आग ठंडी करने का. सो बोली आअहह

एंजॉययय्यययययययी माइ बेबी एंजाय.

शान को अपनी आँखों पे यकीन नही हो रहा था कि इतना ज़यादा ओपन महॉल है इस

घर का कि माँ किसी गैर मर्द से चुदवा रही है और अपनी बेटी को ऑफर कर रही

है कि आ के वो भी चुदवा ले जब कि बेटी अपने बाय्फ्रेंड को सामने कर रही

है कि नही उस के पास इंतेज़ाम है. बहुत ही ज़यादा ओपन फॅमिली हे यह तो.

शान यही सोच रहा था कि सोना की आवाज़ उस के कान से टकराई.

सोना: ओ हेलो जानू किन सोचों मे गुम हो गये?

शान: ओह कुछ नही आइ वाज़ थिंकिंग कि....

सोना: यही थिंकिंग ना कि इतना ओपन मेहोल?

शान: यप एग्ज़ॅक्ट्ली.

सोना: आक्च्युयली हम लोगों ने बचपन से यह सब दैखा है, पार्टीस, ओपन

ड्रिंकिंग, लेट नाइट डॅनसस आंड डॅनसस मे जो जो कुछ होता था सब को पता था

कभी ऐक की वाइफ दूसरे के पास और दूसरे की वाइफ तीसरे के पास. और शराब के

नशे मे डॅन्स कि साथ साथ और भी बहोत कुछ होता हे और हाथ कहाँ से कहाँ तक

पहॉंच जाते हैं. मैं तो हैरान हूँ कि तुम इतने पढ़े लिखे हो कि इतने

मॉडर्न हो कि भी यह सब नही करते?

शान: नही हम लोग पढ़े लिखे हैं अड्वॅन्स्ड हैं बट हम लोग अपनी इज़्ज़त का

ख़याल रखते हैं.

सोना: (यह बात सुनते ही आग बन गयी और बहोत गुस्से मे आ गयी) तुम्हे क्या

लगता है शान हम लोग यहाँ अपनी इज़्ज़त बैचते हैं? हम लोग बेशरम हैं बेहया

हैं? अरे यह सब रिक्वाइर्मेंट है अमीर लोगों की. पार्टीस, गॅदरिंग, शराब,

शबाब यही सब तो होता है अमीर लोगों के पास. तुम जेसे लोग बस अपनी इज़्ज़त

को ही रोते रहना. अगर तुम्हे अपनी इज़्ज़त का इतना ही ख़याल है तो क्यो

आते हो मेरे पास? क्या थोड़ी देर पहले जब तुम मुझे चोद रहे थे उस वक़्त

कहाँ थी तुम्हारी इज़्ज़त? ऐक बीबी के होते हुए मुझे चोदते हुए इज़्ज़त

नही नज़र आती तुम्हे?

शान: आइ आम रियली सॉरी जानू. आइ डिड नोट मीन दट. आक्च्युयली ऐसी पार्टीस,

ऐसी गॅदरिंग मे कभी गया नही ना, कॉज़ मॉम आंड डॅड नही जाते थे या अगर

जाते थे तो मुझे साथ नही ले के जाते थे सो डोंट नो ना. लेकिन अब तुम से

मिल गया हूँ तो सब सीख जाउन्गा. प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ डोंट

माइंड.

सोना: ओके फर्स्ट आंड लास्ट टाइम. आइन्दा कभी भी ऐसी बात की ना तो डोंट

नीड टू कम हियर. अंडरस्टॅंड?

शान: जी जानू. ओके अब प्ल्ज़ घुसा साइड पे फैंको और लेट्स गो टू बेडरूम.

यह वोही शान था जो नैना पे हूकम चलता था. उसे चांटा तक रसीद कर दिया.

ळैकेन सोना के सामने तो ऐसे भीगी बिल्ली बना हुआ था जेसे सोना ने उसे

छोड़ दिया तो वो कहीं का नही रहे गा. शान सोना से ऐक पल के लिये भी दूर

नही होना चाहता था. और यही वजह थी कि वो सोना की तमाम बाते खामोशी से सुन

गया और कुछ बोला भी नही और एक्सक्यूस भी किया.

बेड रूम मे जा के शान ने सोना से बाते करना चाहीं बट सोना का मूड ऑफ हो

चुका था सो उस ने शान को सोने का इशारा किया और इस तरहा दोनो बेड पे सो

गये. अगले दिन आँख खुली तो सुबह के 10 बज रहे थे. शान ऑफीस से पूरे 1:30

घंटे लेट हो चुका था. जल्दी से उठा वॉशरूम गया और जा के बाथ लेने लगा.

थोड़ी ही देर मे सोना भी वॉशरूम मे आ गयी.

सोना: गुड मॉर्निंग जानू. कहाँ की तैयारी है?

शान: जानू लेट हो गया हूँ ऑफीस से टाइम दैखो?

सोना: ओह जानू. आज ऑफीस नही.

शान: पर सोना वो ज़रूरी है जाना.

सोना: मूड खराब करते हुए. ओके जाओ फिर इधर ना आना.

शान: जानू प्ल्ज़ ट्राइ टू अंडरस्टॅंड ना.

सोना: मैं ने कह दिया. आज या तो ऑफीस या तो सोना. डिसाइड कर लो मैं जा

रही हूँ बेड पे.

शान को मजबूरन सोना की हां मे हां मिलानी पड़ी और इस तरहा शान की रात भर

की सेक्स से भरी एंजाय्मेंट के बाद ऐक बुरे दिन का अगाज़ हुआ कि वो आज

ऑफीस भी नही जा सका.

------------------

इधर नैना की आँख सुबह जल्दी ही खुल गयी थी और नैना ने आज सुबह ही बाथ

लिया और ऐक दम फ्रेश हो कर नाश्ता बनाने लगी. आज नैना को शान की कुछ

ज़यादा फिकर नही हो रही थी और ना ही शान को वो मिस कर रही थी. वो अपने आप

मे ही मस्त थी और रात को होने वाले आंटी के प्यार को याद कर कर के

मुस्कराती और दिल ही दिल मे आंटी का थॅंक्स करती.

थोड़ी देर मे लॅंडलाइन फोन रिंग हुआ फोन उठाने पे पता चला कि आंटी हैं.

आंटी ने नैना को ऑफर लगाई कि वो आज मेरे साथ मैरे ऑफीस चले थोड़ा काम है

और फिर वापिस आ जाएँगे. नैना ने फ़ौरन हामी भर ली जाने की. रेडी और फ्रेश

तो वो ऑलरेडी थी. सो उस ने आंटी को हां बोल दिया. आज के दिन चेंज यह आया

था कि नैना ने शान से इजाज़त लेना मुनासिब नही समझा क्योकि उसे पता था कि

शान को उसकी कोई फिकर नही हे जिये या मरे. और पिछले कुछ दिन के होने वाले

इन्सिडेंट्स से तो कन्फर्म हो गयी थी यह बात. नैना अपने बेड रूम मे चली

गयी और जा के बेड शीट ठीक करने लगी और तकिये अपनी जगा पे रखने लगी जो रात

को प्यार के दौरान इधर उधर हो गये थे. बेड शीट सीधी करने पे उसे बेड शीट

पे रात को होने वाले प्यार के निशान भी दिखे जो आंटी और नैना क़ी चूत से

निकलने वाले पानी के थे. नैना को वो निशान दैख के काफ़ी अछा लगा और ऐक

मर्तबा फिर रात का पूरा सीन याद आ गया. दिल ही दिल मे मुस्करा दी और बेड

शीट नयी बिछा दी.

उस के बाद अपने आप को ऊपेर से नीचे तक शीशे मे दैखा. उसी लगा कि ड्रेस

ठीक नही है यह फॉर ऑफीस सो ड्रेस सेलेक्ट करने लगी. थोड़ी देर मे उस ने

बेबी पिंक कलर का ड्रेस सेलेक्ट किया और उस के साथ मॅचिंग मे पिंक ब्रा

और वहाँ खड़े खड़े ही ड्रेस चेंज करने लगी. चेंजिंग के दौरान उस ने अपनी

बॉडी को शीशे मे दैखा और मुस्कुराने लगी. और ड्रेस पहन के रेडी हो के

टीवी लाउंज मे आ आंटी का वेट करने लगी.

थोड़ी ही देर मे आंटी भी आ गयीं और नैना अपना पर्स उठा के तमाम डोर्स लॉक

कर के आंटी के साथ हो चली. गाड़ी मे बैठते ही आंटी ने नैना को ऊपेर से

नीचे तक ऐक नज़र दैखा और बोली कि नैना क्या आज तुम घर से इरादा कर के आइ

हो कि मेरे ऑफीस के स्टाफ को घायल करना है अपने ऊपेर?

नैना: अरे नही आंटी जी आप के होते हुए भला मैं केसे घायल कर सकती हूँ. सब

के लिये आप ही काफ़ी हैं.

आंटी ने गाड़ी चला दी और दोनो बाते करने लगी. नैना आज काफ़ी खुश थी. अपने

आप को आज़ाद फील कर रही थी. शान के बारे मे उस के दिमाग़ मे आज कोई सोच

ना थी. मौसम भी काफ़ी नाइस हो रहा था ना ठंड थी और ना ही गर्मी. आंटी ने

साथ साथ स्लो म्यूज़िक भी प्ले कर दिया.

नैना: आंटी कितना दूर है आप का ऑफीस यहाँ से?

आंटी: ज़्यादा दूर नही है हार्ड्ली 20 तो 30 मिनट की ड्राइव पे है.

नैना: ओके. वेसे आंटी आप ने पर्फ्यूम बहुत मज़े का लगाया हुआ है.

आंटी: यॅ इट्स माइ फेव ओर यही पर्फ्यूम आर्यन का भी फेव था. सो आर्यन के

गुज़र जाने के बाद भी मैं यही यूज़ करती हूँ. वेसे नैना तुम आज बहोत

प्यारी लग रही हो और बहोत खुश भी.

नैना: थॅंक्स आंटी जी यह सब आप की वजा से ही तो है. वरना मैं कहाँ और यह

खुशी कहाँ. मैं तो भूल ही गयी थी कि खुशी भी कोई चीज़ होती है मगर आप ने

मुझे ऐक नयी ज़िंदगी दे दी.

आंटी: जाओ जाओ अब बाते ना बनाओ. वेसे तुम्हे दैख के मेरे मन मे शैतान

दौड़ने लग गया है तो मेरे ऑफीस के स्टाफ का क्या हाल होगा. हहेहहे

नैना: कोई हाल नही होगा. अगर हुआ भी तो आप के साथ हूँ गी ना तो आप के

सामने कोई नही बोले गा. वेसे आप अपने स्टाफ के साथ कितना फ्री हैं?

आंटी: ज़यादा नही. बस काम की हद तक जो बात होती है वोही होती हे. वेसे भी

आर्यन ऑफीस के सिस्टम्स इतने स्ट्रॉंग बना गये थे कि मुझे ऑफीस के सिर्फ़

3 या 4 लोगों से बात करनी पड़ती है बाक़ी वो खुद हॅंडल कर लेते हैं.

नैना: थ्ट्स वेरी नाइस. अछा ऑफीस मे आप पे सब से ज़यादा कोन मरता है? हहेहहे

आंटी: मरते तो सब ही हैं मगर राजा साहब तो कुछ ज़यादा ही मरते हैं. उनका

बस चले तो मुझे कच्चा खा जाए. बेचारे रोज़ाना घर जा कर अपनी बीबी मे मुझे

ढूढ़ते हों गे. हाहहहाहा

नैना: हाहहहहहाहा तो आप ख़याल क्यो नही करती उन बेचारे राजा जी का.

आंटी: अरे पागल हो गयी है क्या? बड़े कहते हैं कि आशिकी, लड़ाई, शैतानी

काम, चोरी, डाका, ऐसे तमाम काम अपने एलाके मे नही करने चाहिए. ऐसा अगर

कोई काम करना हो तो किसी ऐसे इलाक़े मे जा के करो जहाँ आप को कोई नही

जानता. समझी? और ऑफीस तो मैरा अपना है भला मैं वहाँ ऐसे काम क्यो करूँ

गी? और मैं हूँ भी बॉस. अगर मैं अपने किसी एंप्लायी के साथ इतना आगे जाऊं

गी तो मेरी क्या इज़्ज़त रह जाए गी?

नैना: आंटी बात तो आप ने बिल्कुल ठीक कही. वेसे यह जो अपने एलाके वाली

बात की ना यह मुझे बहोत पसद आइ. एक्सपीरियेन्स्ड लोगों के साथ बात करने

का यह तो फ़ायदा होता है कि काम की बाते भी सुन.ने को मिल जाती हैं.

आंटी: चलो अब ज़यादा तारीफ ना करो उतरो ऑफीस आ गया है. बाक़ी बाते ऑफीस

मे जा के करते हैं.

क्रमशः..........
-  - 
Reply
07-17-2017, 12:34 PM,
#19
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-24

गतान्क से आगे.......

नैना ने आंटी का यह रूप आज पहली दफ़ा दैखा था. नैना सोच भी नही सकती थी

के इतने प्यार से बाते करने वाली ख़ातून इतनी स्ट्रिक्ट भी हो सकती हे.

नैना कुछ नही बोली और खामोशी से मॅग्ज़िन पढ़ने लगी.

आंटी: यह बूढ़ा भी ना. सारा दिन ऑफीस की लड़कियो को घूर्ने के एलवा और

कोई काम नही है.

नैना: यप आइडिया हुआ है मुझे.

आंटी: केसे?

नैना: अभी थोड़ी देर पहले जनाब साहब मेरे बदन को घूर रहे थे. हाहहाहा

आंटी: किययेययाया? ठहरो अभी सीधा करती हूँ उसे.

नैना: नही आंटी रहने दी जिये पहले ही बहोत हो गयी है राजा साहब की. हहहे.

आंटी: यह सब बहोत ज़रूरी है. अगर ना हो तो यह सब कंपनी को पता नही कहाँ

से कहाँ पहुचा दे. खैर मैं थोड़ा काम कर लूँ तुम वो सामने सिस्टम पड़ा है

अगर इंटरनेट उसे करना है तो कर लो फिर दोनो चलते हैं फॉर लंच.

नैना: ओके और जा के सिस्टम पे बैठ गयी. उसने गूगल पर राज शर्मा स्टोरी

सर्च किया और हिन्दी सेक्सी कहानियाँ नाम के ब्लॉग से सेक्सी कहानियाँ

पढ़ने लगी

उधर शान सोना के बिहेवियर के बारे मे सोच ही रहा था कि वहाँ से सोना बहोत

ही सेक्सी ड्रेस मे तैयार हो के आ गयी. सेक्सी ड्रेस मैं सोना क

ब्रेस्ट्स ऐक क़यामत ढा रहे थे और हिप्स भी ऐक अपना ही रंग जमा रहे थे.

शान को सोना को इस हालत मे दैखा ही था कि सोना के बारे मे सारे ख़यालात

खुद ब खुद ख़तम हो गये और सोना ऐक मर्तबा फिर शान को हुस्न की देवी लगने

लगी. सोना ने आते ही शान को ऐक ज़बरदस्त किसम का किस किया बिना देखे हुए

कि नोकर भी दैख रहे हों गे. शान ने भी किस का जम के जवाब दिया.

सोना शान से ऐसे बिहेव कर रही थी जेसे कुछ हुआ ही ना हो. और शान को कहा

कि आज किसी ऐसी जगह ले चलो जहाँ सिर्फ़ मैं और तुम पूरा दिन गुज़ार दे और

बस. शान ने ओके कहा और दोनो ऐक ही गाड़ी मे घर से निकल गये.

--------------

(आंटी & नैना)

दिन यौं ही गुज़र गया. और शाम के करीबन 5 बजे आंटी ने नैना को उस के घर

ड्रॉप किया और खुद अपने घर चली गयीं. नैना आज बहोत ही ज़यादा खुश थी. और

खुशी खुशी घर का गेट ओपन कर के घर मे दाखिल हो गयी. घर मे जाते ही सामने

लगी शान की पिक्चर को दैख के उसे आज पूरे दिन मे 1स्ट्रीट टाइम शान का

ख़याल आया. आज शान ने भी पूरा दिन नैना को कॉल नही की थी और ना ही नैना

ने कॉल कर के शान को पूछा था कि कहाँ है. नैना तमाम डोर्स लॉक कर के समान

साइड पे रख के फ्रेश होने के लिये वॉशरूम चली गयी.

नैना और शान की लाइफ मे चेंज शुरू होगया था. और आज का दिन इस बात की

गवाही दे रहा था कि शान और नैना ऐक दूसरे से दूर होना शुरू हो गये हैं और

नैना की ज़िंदगी मे ऐक नये चॅप्टर का स्टार्ट होने वाला था.

नैना बाथ ले कर घर का नॉर्मल ड्रेस पहन के बाहर आ गयी और आ के टीवी देखने

लगी. नैना को आज कोई फिकर ना थी कि शान ने खाना भी खाना होगा, शान से कॉल

कर के पूछ लूँ कि खाना घर पे खाएँगे कि नही. नैना को खुद हल्की सी भूक

फील होना शुरू हो गयी थी. सो किचन मे गयी और फ्रिड्ज से कुक्ड फुड को गरम

कर के खा लिया.

रात के तक़रीन 8 बजे डोर बेल हुई और नैना ने जा के डोर ओपन किया तो शान

खड़ा था बाहर. नैना कुछ ना बोली और खामोशी से मेन गेट ओपन कर के अंदर आ

गयी और टीवी देखने लगी.

शान गाड़ी लॉक कर के अंदर आ गया और नैना का वेट करने लगा कि वो कुछ बोले

और वो उसका भरपूर जवाब दे. बट नैना कुछ ना बोली और खामोशी से टीवी देखती

रही. शान को यह बात बहोत ज़यादा फील हुई और उस से रहा ना गया और आख़िर

बोल पड़ा.

शान: नैना तुम्हे ज़रा भी एहसास नही है कि तुम्हारा हज़्बेंड घर आया है

तुम उसे पानी ही पूछ लो या उसका समान पकड़ के उस के रूम मे रख दो?

नैना ने कोई जवाब ना दिया. और खामोशी से टीवी देखती रही.

शान: नैना मैं तुम से बात कर रहा हूँ दीवारों से नही. जब नैना ने जवाब ना

दिया तो शान ने गुस्से मे आ के नैना के हाथ से टीवी का रिमोट खींच लिया

और टीवी बंद कर के नैना को ज़ोर का चांटा रसीद कर दिया. और गुस्से से

बोला कि हाउ डेर यू कि मैं कुछ कह रहा हूँ और तुम मुझे इग्नोर करो?

नैना: आंड हाउ डेर यू टू इग्नोर मी लास्ट 2 डेज़? आज आप को एहसास हुआ कि

मैं आप की वाइफ हूँ? यह एहसास कहाँ था 2 दिन? ऐक दफ़ा ही पूछ लिया होता

कि जी रही हो या मर गयी हो? आप को तो बस उस चुरैल ने जो अपने अंडर कर

लिया है अब मेरी कहाँ आप को फिकर होनी है.

इस से पहले शान कुछ बोलता. नैना ने कहा कि ऐक बात और कि खबरदार आज के बाद

यह हाथ मुझ पे उठाया तो. यह लास्ट टाइम था और खबरदार मुझ पे अपना

हज़्बेंड होने का हक़ जताया तो. अगर ठीक से हज़्बेंड नही बन सकते तो यह

हक़ भी ना जताना.

शान नैना के इस रूप को दैख कर चकरा गया. उसे बाल बराबर भी उमीद ना थी कि

उसे नैना की तरफ़ से ऐसा रेस्पॉन्स मिले गा. चुप चाप मूँह लटका के वॉशरूम

चला गया.

वॉशरूम जाते ही नैना ने फ़ौरन शान का सेल फोन उठाया और उस मे रीसेंट

कॉल्स और एसएमएस देखने लगी.

एसएमएस मे नैना को एसएमएस मिला कि यार आज ऑफीस क्यो नही आए? जिस से नैना

को यह पता चला कि शान आज ऑफीस मे नही था. नेक्स्ट एसएमएस मे लिखा था

आइ'ल्ल मिस यू जानू. मुहााआआआआआआआअ.

नैना इस से पहले कि सोचती कि यह किसका मसेज होसकता है शान के सेल पे उसी

नंबर से कॉल आना शुरू होगयी जिस नंबर से यह मिस यू वाला मसेज आया हुआ था.

नैना ने कॉल अटेंड कर ली और बोली नही.

दूसरी तरफ़ सोना थी जो कि बहोत प्यार से बात कर रही थी. शायद नशे मे थी.

शान ज़नुउउउउउउउउउउउउ कहाँ हो? पता है हाउ मच आइ मिस्सिंग यू? जानुउऊउउ

एयेए जाओ ना प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़. मिस्सिंग युवर फॅटी पेनिस.

हाहहहहाहा. कल रात रात की तरहा आज भी प्यार दो ना आ के मुझे. बेलेवे मे

आज नही रोकून गी तुम्हे हिप्स मे लंड डालने से. हाहहहहाहा.

ज़नुउउउउउउउउउउउउउउ बोलो ना. बोलो ना मैरे जानू आ रहे हो ना तुम.

नैना ने हल्की सी खाँसी की आवाज़ निकाली. जेसे बता रही हो कि वो अभी बात

नही कर सकती. सोना भी शायद समझ गयी.

ओके जनुउउउउउउउउउउउउउउउउउउउ, अपनी मनहूस बीवी के पास बैठे हुए होगे तभी

नही बोल रहे. ओके फ्री हो के जल्दी से आ जाओ. मुहााआआआआआ और फोन बंद हो

गया.

नैना के तो पैरों के नीचे से जैसे ज़मीन निकल गयी कि शान इस हद तक गिर

सकता है कि वो कल रात ऐक लड़की के साथ गुज़ार के आया और उस के साथ सेक्स

भी कर के आया. नैना की नज़र मे शान की रही सही इज़्ज़त भी पानी मे मिल

गयी.

नैना ने फोन वहीं रखा और शान को अब्ज़र्व करने लगी. शान ने आते ही अपना

सेल फोन उठाया और उस पे कुछ चेक किया. नैना की तरफ़ दैखा और कुछ ना बोला.

फोन उठाया और सोना को रिंग किया. हां क्या हुआ? ओहो अछा? क्या एमर्जेन्सी

है? लाज़मी आना पड़े गा? ओके ओके मैं आता हूँ. डोंट वरी. फोन बंद कर के

गाड़ी की चाबी उठाईं और जाते जाते नैना को बोला कि फ़्रेंड के यहाँ जा

रहा हूँ ऐक एमर्जेन्सी हो गयी है और निकल गया.

नैना को पता चल गया था कि क्या एमर्जेन्सी हो सकती हे. उसी चुरैल के पास

गया होगा उसकी सेक्स की गर्मी दूर करने.

दिन यौं ही गुज़रते गये और शान और नैना के बीच नफ़रत बढ़ती जा रही थी. अब

सिचुयेशन यौं थी कि शान का जब दिल करता घर आ जाता और जब दिल करता ना आता.

नैना को भी कोई फिकर ना थी अब शान की.

नैना ने आंटी के ऑफीस मे जॉब कर ली थी और आडमिन ऑफीसर की पोस्ट पे काम कर

रही थी. ऐक दिन नैना को पता चला के उस के पेरेंट्स का कार आक्सिडेंट हुआ

है जिस मे दोनो की डेत होगयी है. नैना अकेली बेटी थी इस लिये सारी

प्रॉपर्टी उस के नाम आ आगई. शान के पेरेंट्स तो वेसे ही उसे लाइक नही

करते थे और शान के साथ वेसे ही उस की लाइफ ऐक अजनबी की तरहा चल रही थी.

शान ने कयी दफ़ा सोचा कि नैना को तलाक़ दे दे लैकेन फिर यह सोच के रुक

जाता कि अगर तलाक़ दे दिया तो उसे अपनी सारी प्रॉपर्टी का 50% नैना को

देना पड़े गा यह सोच के वो रुक जाता. उधर नैना भी शान को नही छोड़ना

चाहती थी इस लिये नही कि वो उसका हज़्बेंड है, इसलिये कि वो उसे दिखाना

चाहती थी कि वो उस के बगैर भी जी सकती है और बहोत अच्छी तरहा.

नैना ने ऑफीस मे ऐक फेमस पर्सनॅलिटी का रूप धर लिया था. हर कोई नैना की

खूबसूरती की तारीफ करता था. ऑफीस मे तमाम लड़को और मर्दों मे कोई ऐसा नही

होगा जिस ने नैना के नाम की मूठ ना मारी हो या नैना को दिमाग़ मे रख के

अपनी अपनी बीबीयों को ना चोदा हो. हर किसी की यही ख्वाइश होती कि वो किसी

तरहा नैना के ब्रेस्ट्स की ऐक झलक दैख ले.

उधर जिम्मी की स्टडी भी कंप्लीट हो गयी और उस ने भी ऑफीस जाय्न कर लिया.

नैना और जिम्मी आपस मे अब बहोत फ्री हो चुके थे. हर तरहा के टॉपिक्स

डिसकस कर लेते. बट ऑफीस के अंदर वो नॉर्मल रहते ताकि ऑफीस मे किसी को बात

बनाने का कोई मौक़ा ना मिले.

जिम्मी नैना को बहोत प्यार करता था और काई दफ़ा इस का इज़हार करने की

कोशिश भी की लैकेन कहते कहते रुक जाता. नैना भी यह बात खूब जानती थी कि

जिम्मी उस के बारे मे क्या सोचता है लैकेन वो ऐसा नही चाहती थी कि जिम्मी

से शादी कर ले. इतना ज़यादा फ्री होने के बाद भी जिम्मी और नैना के बीच

अभी तक कुछ भी नही था. ना कोई किस्सिंग ना कोई और काम. जो कुछ भी चल रहा

था वो आंटी और नैना के बीच मे चल रहा था. अब तो यह रुटीन बन गयी थी कि

कभी आंटी नैना के घर रात गुज़ारती तो कभी नैना आंटी के घर और रात भर दोनो

ऐक दूसरे की चूत का खूब मज़ा लैति. आंटी ने अपनी ज़िंदगी भर के

एक्सपीरियेन्सस को नैना के साथ शेर किया और नैना को भी लेसबो सेक्स मे

एक्सपर्ट कर दिया. नैना अब आंटी की गाइडेन्स से सब काम करती और नैना ने

अपने आप को बहोत फिट रखना शुरू कर दिया था. सेक्सी ड्रेसस पहनना

एट्सेटरा. जब से नैना ने ऑफीस जाय्न किया था ऑफीस मे एंप्लायीस की

छुट्टिया कम होती जा रही थी थी क्यो कि हर कोई ऑफीस आता तो सिर्फ़ नैना

को देखने के लिये. ऐक दफ़ा तो नैना के सामने ऑफीस मे ऐक लड़के का लंड

खड़ा हो गया जो कि नैना को प्रेज़ेंटेशन दे रहा था बहोत मुश्किल से

बेचारे ने कंट्रोल किया. आंटी भी नैना के ऑफीस मे रहने की वजा से बहोत

खुश थी.

उधर शान सोना के जाल मे बुरी तरहा फँस चुका था, मानो कि जेसे सोना ने

उसका माइंड अपने काबू मे कर लिया हो. सोना कहती दिन है तो शान कहता यस

दिन है, सोना कहती नही रात है तो शान कहता हां रात है. बस ऐसी ही कुछ

हालत हो गयी थी. शान की सारी सॅलरी सोना के नाज़ नखरे उठाने मे लग जाती

और नैना के ऊपेर ऐक पैसा भी खर्च ना करता. नैना को भी अब इसकी ज़रूरत नही

थी क्योकि वो भी ऐक अच्छा अमाउंट कमा रही थी.

दिन यौं ही बीत रहे थे. ओर नैना अपनी लाइफ मे बिजी थी. नैना ने अब घर मे

ऐक नौकरानी भी रख ली थी जो घर के तमाम काम कर दिया करती थी जो सूरज ढलते

ही अपने घर चली जाती थी. यही वजा थी कि नैना ने अब अपनी फिटनेस पे फूल

कॉन्सेंट्रेट किया हुआ था. बस खाना पीना, एक्सररसाइज़ करना ओर सेक्सी

ड्रेसेस पहनना. नैना जो पहले सिर्फ़ शलवार कमीज़ मे रहती थी अब हर तरहा

के ड्रेसेस पहनती थी कि देखने वाले बस स्टिल हो के रह जाते. नैना ने अपने

आप को इतना फिट कर लिया कि वो अपनी एज से 3 साल कम लगने लगी. पतली कमर,

उभरे हुए गोल हिप्स ओर सब से सेक्सी उस के टाइट 36 साइज़ के ब्रेस्ट्स.

पूरी दुनिया नैना के पीछे थी बस शान ही था जिसकी आँखों पे सोना ने काली

पट्टी बाँध दी थी. नैना को भी इसकी कोई फिकर ना थी क्योंकि अब नैना ने

अपना बेडरूम भी सेपरेट कर लिया था. अब सिचुयेशन टोटली चेंज हो चुकी थी.

नैना मे भी काफ़ी चेंज आ गया था. भोली भाली नैना अब हर चढ़ते दिन रंग बदल

रही थी. ओर ये सब हुआ था शान की वजा से. लेकिन आंटी ने नैना को नया जनम

दिया ओर नैना को बदल के रख दिया.

आज का दिन बहुत स्पेशल था, क्योकि आज नैना का बर्त डे था जो कि रात 12 के

बाद शुरू होना था. रुटीन के मुताबिक़ शान आज भी घर पे नही था ओर नैना घर

पे अकेली थी. नैना को याद नही था अपने बर्तडे का लेकिन जिम्मी ने याद रखी

हुई थी डेट ओर वो पिछले कयी रोज़ से बेताबी से वेट कर रहा था नैना के

बर्त डे का. आख़िर आज वो दिन आ ही गया. और जिम्मी ने शाम 6 बजे ही नैना

को डिन्नर के लिये ऑफर कर दिया. नैना ने भी ओके कर दिया. आंटी ने आज ऐक

शादी पे जाना था सो उन्होने इनकार कर दिया साथ जाने से.

रात 8.30 पे जिम्मी ने नैना को पिक कर लिया घर से ओर दोनो डिन्नर के लिये

निकल पड़े.

नैना आज परोट ग्रीन और ब्लू कलर की मिक्स्चर ड्रेस मे थी. जिस मे वो किसी

हूर से कम नही लग रही थी.

क्रमशः..........
-  - 
Reply

07-17-2017, 12:34 PM,
#20
RE: Desi Chudai Kahani Naina-नैना
नैना--पार्ट-26

गतान्क से आगे.......

नैना को जिम्मी पे आज बहुत प्यार आ रहा था बट वो वेट कर रही थी कि जिम्मी

क्या करता ये कहता है आज की रात. और बाथरूम चली गई.

बाथरूम जा के नैना ऐक दम नेकेड होगई और शीशे मे अपने आप को देखने लगी.

नैना ने आज काफ़ी दिन बाद अपने आप को नेकेड देखा था. जिस्म पहले से

ज़यादा सेक्सी हो गया था. ब्रेस्ट्स राउंड शेप मे नैना के जिस्म को चार

चाँद लगा रहे थे. नैना ने फिर शवर खोला और बाथ ले के आंटी का नाइट ड्रेस

पहन के बाहर आ गई. टीवी लॉंग्ज मे जिम्मी पहले से मौजूद था ट्राउज़र शर्ट

मे. नैना को वेट लुक्स मे आज पहली दफ़ा देखते ही जिम्मी के अंदर 10,000

वॉल्ट का कुरेंट दौड़ने लगा. और नैना भी ब्रा पहनना भूल गई थी, कॉज़ अपने

घर पे वो रात को विदाउट ब्रा ही सोती थी.

बॉडी वेट होने की वजा से ड्रेस बदन से चिपक सा गया था, जिस से निपल्स

काफ़ी विज़िबल होगए थे.

नैना ने पहले सोचा कि ब्रा पहन आए लैकेन फिर ये सोच के नही पहना कि

जिम्मी को शायद अच्छा ना लगे कि उसकी वजा से रिज़र्व हो रही है नैना.

नैना जिम्मी के करीब ही आ के बैठ गई और बाते करने लगी.

जिम्मी भी बाथ लेते वक़्त नैना के बारे मे सोच के आया था कि आज मौक़ा

अच्छा है उसे सब बोल देना चाहिये नैना को.

जिम्मी ने बातों बातों मे शान का जीकर शुरू किया देन उसका ऐसे घर से गायब

होना और घूमते घूमते अपनी बात पे आ गया.

जिम्मी: नैना वो मैं काफ़ी दिन से ऐक बात करना चाह रहा था.

नैना को फ़ौरन आइडिया होगया था कि वो क्या बात करे गा ओर बोली: जी बोलो

क्या बात है?

जिम्मी: वो अकटुआली मैं चाह रहा था कि, वो ये कि, अगर कभी मैं आप को शादी

के लिये कहूँ तो आप का क्या रिप्लाइ होगा?

नैना: डिपेंड्स कि उस वक़्त हालात क्या है.

जिम्मी: और अगर मैं अभी प्रपोज़ कर दूं तो?

नैना: तो आइ विल अस्क कि वाइ डू यू वॉंट टू मॅरी मी?

जिम्मी: टू आइ'ल्ल आन्सर कि कॉज़ आइ लव यू नैना.

नैना: व्हातत्तत्त? आर यू सीरीयस?

जिम्मी: यप आइ एम डॅम सीरीयस. मुझे नही पता कि मैं आप को केसा लगता हूँ

बट आइ लव यू अलॉट. और मैं आप को दुनिया की हर खुशी ला के दूं गा और बहुत

खुश रखूं गा. (जिम्मी एमोशनल हो गया था. ऐक दम.)

नैना को जिम्मी आज डिन्नर के वक़्त से ही प्यारा लग रहा था ओर उपेर से

जिम्मी की इस हरकत ने नैना के दिल मे और प्यार बढ़ा दिया. नैना अभी कुछ

बोलने लगी थी तो जिम्मी ने आगे बढ़ के नैना के हाथ पकड़ लिये और बोला कि

कोई जल्दी नही है आप आराम से सोच के मुझे बता देना.

नैना और जिम्मी ऐक दूसरे के काफ़ी करीब आ चुके थे और ऐक ही सोफे पे बैठे थे.

नैना चाहती तो जिम्मी की इस हरकत पे उसे बहुत कुछ सुना सकती थी बट नैना

ने फिर सोचा कि आज वो जो कुछ भी है जिम्मी की मॉम की वजा से. ओर अगर उसने

जिम्मी को ज़रा सा भी ग़लत डील किया तो शायद आंटी उसकी फेवर करना बंद कर

दे, उसे जॉब से निकाल दे एट्सेटरा. ये सोचने के बाद वो जिम्मी से बोली.

"दैखो जिम्मी, आइ रेस्पेक्ट युवर लव, बट क्या लव के लिये ज़रूरी है कि

शादी की जाए? क्या तुम मुझे शादी के बाघैर वो सब नही दे सकते जो तुम कह

रहे हो?"

जिम्मी: तोड़ा सोचते हुए, जी क्यो नही. दे सकता.

नैना: देन फर्गेट अबौट दा मॅरेज. ओके?

जिम्मी: बट मॅरेज नही होगी तो?......

नैना: तो?

जिम्मी: तो आप वो मुझे सब केसे देंगी जो ऐक वाइफ अपने पति को देती है?

जिम्मी के इस क्वेस्चन ने नैना को फँसा लिया. और नैना को सोचने पे मजबूर

कर दिया. काफ़ी देर सोचने के बाद नैना बोली: क्या ये सब ज़रूरी है?

जिम्मी: यप ना. आप ने ही तो कहा है कि विदाउट शादी अगर मैं आप को खुश रख

सकता हूँ तो यू आर अग्री. नाउ आप बताओ आप अग्री हैं? और ये कह के नैना के

और करीब होगया. ऐक मर्तबा फिर बोला कि अग्री हैं? या नही फेस के करीब फेस

ले आया और आँखो मे आँखो डाल के बहुत प्यार से बोला अग्री हैं?

और इस समय नैना के अंदर ऐक आग भाड़क उठी, जिम्मी को अपने इतना करीब पा

के. और आहिस्ता से बोली. अग्रीड.

नैना का अग्रीड बोलने का ही वेट कर रहा था जिम्मी शायद. और बिना देर किये

नैना से लिपट गया और अपने लिप्स नैना के लिप्स से मिला दिये.

कई मंत्स के बाद आज नैना के लिप्स पे किसी मर्द के लिप्स आए थे. लिप्स के

टच होते ही नैना, मदहोश सी होगई ओर जिम्मी की बॅक पे हाथ मूव कर के जम के

रेस्पॉन्स देने लगी.

जिम्मी ने नैना को ऐसे ही सोफे पे लिटा लिया और खुद ऊपेर आ गया. नैना और

जिम्मी के लिप्स फ़ूल जुवैसी हो चुके थे. और दोनो की साँसे भी तेज़ हो

चुकी थी. दोनो मे से किसी ऐक का भी लिप अलहदा होता तो लव यू आह की हल्की

सी आवाज़ सुनाई देती. जिम्मी नैना की जीब को सक कर रहा था और नैना जिम्मी

की.

किस्सिंग के वक़्त ही नैना को आइडिया होगया था कि जितना मर्ज़ी लेसबो

सेक्स कर लो बट जो मज़ा मर्द से प्यार लेने का है वो लेसबो मे नही.

10मिनट यौं ही किस्सिंग जारी रही और जिम्मी ने स्लोली स्लोली नैना की

शर्ट को ऊपेर करना शुरू कर दिया. अगले मिनिट मे नैना की शर्ट उस के जिस्म

से अलहदा हो गई और जिम्मी ने भी अपनी शर्ट उतार दी.

जिम्मी ने नैना के सेक्सी ब्रेस्ट्स दैखे तो देखता ही रह गया कि यह वोही

ब्रेस्ट्स हैं जिनकी ऐक झलक देखने के लिये पूरा ऑफीस तरसता है. और किसी

भूके शेर की तरहा ब्रेस्ट्स पे टूट पड़ा. नैना आँखे बंद कर के अया अया कर

रही थी.

जिम्मी कभी नैना की ऐक निपल तो कभी दूसरी निपल को सक कर रहा था. जिम्मी

दीवानो की तरहा नैना की चुचियो को सक कर रहा था. जिस से नैना की निपल्स

टाइट और रेड हो गई थी. नैना आँखे बंद कर के जिम्मी का प्यार फील कर रही

थी और अयाया जिम्मी, उफफफफ्फ़ कर रही थी. नैना की चूत मुकामल तौर पे भीग

चुकी थी और लंड माँग रही थी. जिम्मी किसिंग करता करता नैना के पेट पे आ

गया. और नैना के पेट पे ढेर सारी किसिंग की और किसिंग करता करता नीचे आ

गया.

जिम्मी ने देखा कि चूत के करीब से नैना का ट्राउज़र फूल भीग चुका था और

चूत से चिपक सा गया था. ये दैख के जिम्मी से रहा ना गया और अगले ही पल

नैना को बिल्कुल नंगा कर दिया. चूत दैख के जिम्मी पागल सा होगया. नीट आंड

क्लीन चूत और पिंक लिप्स, और लिप्स के अंदर से निकलते हुए वाइट फ्लूयिड

ने जिम्मी को बेचैन कर दिया और जिम्मी ने अपना ट्राउज़र भी उतार दिया.

नैना आँखे बंद कर के मदहोश हुई पड़ी थी. जिम्मी ने नैना की चूत मे ऐक

उंगली डाली जिस से नैना की आआआआः निकल गई. जिम्मी ने तेज़ी से अपनी फिंगर

को चूत मे अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. नैना की अयाया अयाया उफफफ्फ़ की

आवाज़ पूरे कमरे मे आने लगी. नैना अब तक ऐक बार झाड़ चुकी थी और दूसरी

बार झड़ने के करीब थी. तभी जिम्मी नैना की टाँगो के बीच मे आ गया और नैना

की लेग्स ओपन कर दी.

नैना ने अब की बार आँखे ओपन कर के जिम्मी के लंड की तरफ़ दैखा तो हैरान

हो गई. जिम्मी का लंड काफ़ी बड़ा था. नैना की चूत मे कई मंत्स से लंड नही

गया था. लंड को देखते ही नैना ने जिम्मी की तरफ़ दैखा जेसे कह रही हो कि

डालो नाआ. जिम्मी ने फ़ौरन लंड नैना की चूत पे रखा नैना ने ऐक लंबी आआआआः

निकाली. और जिम्मी ने अगले ही लम्हे अपना 7इंच का लंड नैना की गर्म वेट

चूत मे उतार दिया और साथ ही आआआआः की आवाज़ निकाली. नैना को थोड़ा दर्द

हुआ कॉज़ लंड शान के लंड से लंबा था लैकेन जिम्मी बहुत आराम से नैना को

चोद रहा था. पूरे कमरे मे दोनो के प्यार की आवाज़े आ रही थी और चूत मे

लंड की पाचक पाचक की आवाज़ ने महॉल को सेक्सी कर दिया था. थोड़ी देर बाद

जिम्मी के लंड से निकलती मनी ने नैना की चूत को भर दिया जो नैना की चूत

से बहने लगा.

जिम्मी नैना के उपेर गिर गया और दोनो आँखे बंद करके के लेट गए.

काफ़ी देर यौं ही लेटे रहने के बाद जिम्मी की आँख खुली तो दैखा कि नैना

उस के उपेर अपनी लेग्स डाले गहरी नेंद सो रही है. जिम्मी आराम से नैना से

अलहदा हुआ और नैना के पूरे जिस्म को देखने लगा. जोश मे उसने नैना को

प्यार तो कर दिया था लैकेन जिस्म अभी तक नही दैखा था. क्या खूबसूरत जिस्म

था. भरे हुए ब्रेस्ट्स, पतली कमर, भरे हुए हिप्स और गोरी सॉफ्ट लेग्स के

बीच सॉफ सुथरी चूत को देखते ही किस करने का मन करे. फिर जिम्मी ने नैना

के उपेर चादर डाल दी ओर खुद ट्राउज़र पहन के नीचे सो गया.

सुबह सनडे था. नैना की आँख खुली अपने आप को नेकेड हालत मे दैख के घबरा

गई. जल्दी से ड्रेस पहना और सोचने लगी कि अगर आंटी ने दैख लिया होता तो

क्या सोचती? बाथरूम से फ्रेश हो के आइ तो दैखा कि जिम्मी नाश्ता बना रहा

है जो कि ठीक से बन नही रहा.

नैना मुस्कुराते हुए जिम्मी के पास जाती है और उसे हेल्प करती है. दोनो

रात के होने वाले सीन पे कोई बात नही कर रहे थे बस स्माइल कर रहे थे.

अचानक जिम्मी ने नैना को अपनी बाँहो मे भर लिया और किचन मे ही नैना को

डीप लीप किस की और नैना को आइ लव यू और रात के लिये थॅंक्स बोला. नैना के

लिये किस बहुत सर्प्राइज़िंग था और जिम्मी के थॅंक्स और लव यू बोलना उसे

बहोत अछा लगा.

नैना को यौं फील होने लगा कि टाइम वापिस चला गया है 2 यियर्ज़ बॅक ऐसे ही

शान भी किस्सिंग करते किचेन मे जब नई नई शादी हुई थी. लैकेन फिर शान का

करेंट बिहेवियर सोच के ज़हन मे आने लगा कि कहीं जिम्मी भी ऐसा ना करे?

फिर ख़याल आया कि जिम्मी मेरा पति भी तो नही है. सो अपने आप को झूठी

तसल्ली दे के खुद ही मुस्कुरा दी ओर नाश्ता सर्व करने लगी.

यौं कल रात की वजा से नैना जिम्मी के साथ फिज़िकल रिलेशन्षिप मे कॉनवर्ट

होगई जिसका उसे कोई गम नही था बल्कि कल रात की वजा से उसे ये यकीन हो चला

था अब वो कभी भी सेक्स की प्यास मे नही जले गी. दिल किया तो आंटी के साथ

और दिल किया तो जिम्मी के साथ. जिम्मी भी नैना से बहुत ओपन होगया ओर अब

दोनो के बीच शर्म के तमाम पर्दे हट गए थे.

=============

(सीन चेंज (शान'स लाइफ)

इधर शान को सोना की कंपनी ने बदल के रख दिया था. शान अब ड्रिंकिंग भी

करने लगा था और पार्टीस मे जाना सोना के साथ सेक्स करना रुटीन बन गई थी.

उसे अपने घर मे ज़रा भी मज़ा नही आता था. शान का बॅंक बॅलेन्स और

प्रॉपर्टी काफ़ी ज़यादा थी, जिसकी वजा ये थी कि वो अकेला बेटा था. और ये

बात सोना और उस के घर वाले बहोत अच्छी तरहा जानते थे. इसी लिये उन्होने

शान को अपने जाल मे फँसा लिया था. और इसी जाल को ज़्यादा स्ट्रॉंग करने

के लिये सोना ने अपनी बड़ी डिवोर्स्ड सिस्टर को यूज़ किया.

शान आज ओफ्फिस से वापिस आया तो सोना का फ़ोन आ गया कि जल्दी पहुँचे. सो

शान सोना की तरफ़ निकल पड़ा. नैना भी घर पे थी बट अब कोई ऐक दूसरे से ना

ही पूछता था और ना ही बताता था कि कहाँ जा रहा है या कहाँ से आ रहा है.

शान सीधा सोना के यॅन्हा पहुँचा ओर वहाँ जा के दैखा कि सोना और उसकी सिस मौजूद थे.

सोना: हाई जानू. और लिपट के लिप किस मुहाआ. लव यू.

शान: मुहाआ लव यू टू.

सोना: यू नो हम ने ऐक प्लान बनाया है?

शान: क्या प्लान?

सोना: कि हम तीनो यानी मी,माइ सिस आंड यू आर गोयिंग फॉर 1वीक हॉलिडे ऑन

सम ब्यूटिफुल प्लेस.

शान: व्हाट? 1 वीक? बट माइ ओफ्फिस?

सोना: जानू प्ल्ज़ ना. ऑफ से छुट्टी ले लो ना?

शान: बट इट्स नोट पासिबल जानू.

शान के 2 दफ़ा इनकार करने पे सोना नाराज़ होगई और कहने लगी कि तुम ने सिस

के सामने मेरी इन्सल्ट कर दी. मैं उन्हे रोज़ कहती हूँ कि शान मुझे कभी

नो नही कहता और आज सिस के सामने ही नो बोल दिया? और रोने लगी.

शान के लिये अब यस बोलने के सिवा कोई हल नही था और सोना को कह दिया ओके.

इस पे सोना ने शान को किस किया, थॅंक्स बोला और अपनी सिस को आँख मार के

मुस्कुराने लगी.

3 दिन बाद शान 1 वीक की छुट्टिया ले के सोना और उसकी सिस के साथ निकल

गया. और इस दफ़ा नैना को इनफॉर्म कर गया कि 1 वीक नही आए गा वो. नैना ने

भी ज़यादा नही पूछा और ओके बोल दिया.

शान को इस समय नैना का किस याद आ गया जब वो इसी तरहा ऑफीस के टूर पे जाता

तो नैना लिपट के हॉट किस कर के उसे बाइ कहती थी. ऐक पल के लिये ख़याल आया

बट सोना ज़हन मे आ गई.

क्रमशः..........
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Lightbulb Gandi Kahani सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री 45 4,262 11-23-2020, 02:10 PM
Last Post:
Exclamation Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति 145 22,932 11-23-2020, 01:51 PM
Last Post:
Thumbs Up Maa Sex Story आग्याकारी माँ 154 76,272 11-20-2020, 01:08 PM
Last Post:
  पड़ोस वाले अंकल ने मेरे सामने मेरी कुवारी 4 66,341 11-20-2020, 04:00 AM
Last Post:
Thumbs Up Gandi Kahani (इंसान या भूखे भेड़िए ) 232 32,423 11-17-2020, 12:35 PM
Last Post:
Star Lockdown में सामने वाली की चुदाई 3 9,326 11-17-2020, 11:55 AM
Last Post:
Star Maa Sex Kahani मम्मी मेरी जान 114 112,831 11-11-2020, 01:31 PM
Last Post:
Thumbs Up Antervasna मुझे लगी लगन लंड की 99 77,537 11-05-2020, 12:35 PM
Last Post:
Star Mastaram Stories हवस के गुलाम 169 150,078 11-03-2020, 01:27 PM
Last Post:
  Rishton mai Chudai - परिवार 12 54,361 11-02-2020, 04:58 PM
Last Post:



Users browsing this thread: 1 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.


Xxxbftamanna And Kajal Agarwalಕನಡ sex ಕತೆ videoswww xxxcokajalLuka choriy xxxxnx vedio jhadirajsharmastories xossiprukmini maitra xxxincast sex stories sexybabahindi khaane sabdno me xnxxxrMain meri family aur mera gaon part -1 ajsharmastoriesXNXXXCADIDesi g f ko gher bulaker jabrdasti sex kiya videogharme guske chuda bhabiko sexy videonude hostel mustiyanXxx davar BabaiHD Indian downloadबचेदानी केनिकलनेके बाद चूत मारनेमेँमजाकैसाआताहैप्यारी बहेन Sexbabasexvedeo hindimhलंड लंबा और मोटा केसै होता हैbikini me bete ko uksaya chudai storybidhw ko sindur bhara ke Sadi Kiya sexy kahani sexbaba netWWW NINGIRIYA B F COMmulvi ki bibi ki chudai kahani जानी दुश्मन भुत सेकसी हिनदी esxTv सीरीयल हिरोईन नग्गीhindi sex stories kuware lund ke karnaneभाभी पैसा लेकर चुद वातिJab.ladke.ka.lig.ladki.ke.muh.me.jata.husaka.photoXXX VIDIO ANTRVASNA GNDI KAHANIEtna choda ki bur phat gaiSex xnxxx indian Azd comसाडी फेडून काम xxxsexबिदबा कि चुत पर लागाय औरतों को गांड़ मराने में ज्यादा मजा कयों आता है इसका चित्र सहित समझाएಮಗ ಮತ್ತು ದೊಡ್ಡಮ್ಮನ ಕಾಮಾದಾಟSUBSCRIBEANDGETVELAMMAFREE XX site:mupsaharovo.ruchitrangana singh sex baba new thread. comकमसिन पतली कमर उठी गाण सख्त चुचे वाली लडकियो की चुदाई कहानियाbibi kahaninudehot dehati bhabhi night garam aur tabadtod sex with yousexpapanetउहह आह अह उहxxx video jo ladaki ne mekshi pehan rakhi ho or itni sex honi chahiai ki ladka aapani patani par chat jaayTelugu actores krithi kharbanda fake sexbabacerzrs xxx vjdeo ndचुतमेगाङ बताओMom beti garl fereth bf xxx hotel hdWidhava.aunty.sexkathabaca sa dase mms sexआंटी ची चुदाई पकडलीDesi52.com bihar college studentsbhabhi ne devar ko kaise pataya chudai ki pati ke na hone par rat ki pas me chupke se sokar devar ko gram kiya hindi me puri kahani.gayyaliamma 30 sex storyछोटी उम्र से ही बड़े लन्ड खा खा कर छिनार बन गईtara sutira boob photoxxx gihataht cuday bfgandi baat sex story xxxx karisma kapooraarti agarwal nagi bosi photoAajka1992bus me bheed me dost ki maa ke gaand me land gusayyaरामलाल और शांती की chudaiRavena.ko.khet.me.choda.bada.photu.meनँगी गँदी चटा चुची वाली कुछ अलग तरीके वाली तसवीरेkhannada actor pooja gandhi nude images sex baba.comzabardasti dud pite huyexxx vedieo full hdलहंगा mupsaharovo.ru site:mupsaharovo.rusexpapanetChikne aurat web series downloadसेक्स स्टोरी माँ ने ६ ईयर के बच्चे लुल्ली चुसी चुचीsaxey famely पूरी कहानी पंकज smrityघपाघप झवणेastoria xxx.hindi. pati.namard.suhagrat.bhai.pati.mike.didi.sisatar.ko./Thread-bhabhi-ki-chudai-ki-uske-flat-meसोते हूए भाई का लंड बहन ने लिया WWW X VIDEO COMbaba ne jangal me lejakr choda xxx storysbhahi bahen tatti sex storysसंकरी बुर मे मोटा मूसलactres 39sex baba imagesलडकी नगी होकर भजन बोलति हैबेटे ने मा को जबरदस्ती धके चोदा विडयोज फ्रीबहन भाई सेकसी हिनदी अवाज विडियो सटकतेstudents Le chaloge sex sex sex HDRo ro kr chudbai chutghopadi in vilege woman peticot wearing fuckSexbaba Chudai kahani bur ki adla badli kar bahan/Thread-%E0%A4%AE%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%A0%E0%A5%80-%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%9F%E0%A5%8B%E0%A4%B0%E0%A5%80-%E0%A4%85%E0%A4%B6%E0%A5%80-%E0%A4%B9%E0%A5%80-%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%B5%E0%A5%80%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%80--3657Bada tha sex vudeo hindimovieskiduniyasexwww sexbaba net Thread kamapisachi bollywood actresses nude naked picsaunti nahati nungy vidio 30 minte सेक्स .comWww. Pron mela hd jabardsti pelai .com/showthread.php?mode=linear&tid=5632&pid=115324xi marathi mulichi m c periad madhe zavazavi