Samuhik Chudai अदला बदली
07-19-2018, 11:59 AM,
#1
Star  Samuhik Chudai अदला बदली
मेरा नाम मिनी है.. मेरी उम्र 37 साल है और मेरी शादी के 20 साल हो गये हैं.. वो कहते हैं ना “नॉटी+ 40”, बस वोही हाल है मेरा.. 
चुदाई तो काफ़ी हुई है, मेरी चूत की.. कोई शिकायत नहीं है उसकी पर चुदाई से, अब तक मेरा मन नहीं भरा.. 
मेरे हज़्बेंड एक “इंजिनियर” हैं. उनकी उम्र, 41 की है. 
उम्र भले ही, हम दोनों की ज़्यादा हो गई हो पर जब भी हम सेक्स करते हैं, बाइ लक मेरे हज़्बेंड काफ़ी अच्छा चोदते हैं.
लेकिन शादी के 20 साल बाद, लड़कें सोचें की 20 साल तक एक ही चूत चोदने को मिले और लड़कियाँ सोचें की 19 साल से, एक ही लंड आपकी प्यास बुझा रहा है.. तो, आपको समझ आ आएगा की क्यूँ, हम अच्छा सेक्स करके भी अब संतुष्ट नहीं थे.. 
वैसे बता दूँ की हमारा एक बेटा भी है, उसकी उम्र 18 साल है. 
बात दीवाली के 2 महीने पहले की है. 
मैं और मेरे पति, शनिवार रात्रि के सेक्स के बाद, एक दूसरे की बाहों में थे. 
“सेक्स सेशन”, काफ़ी अच्छा था. 
बड़े दिनों से, मेरा मन अब दूसरे लंड के लिए मचलने लगा था पर सीधे सीधे बोल भी नहीं सकती थी की रंगीला, मुझे अब कोई दूसरा लंड भी दिला दो… “रंगीला”, मेरे पति का नाम है.. 
पर मेरी किस्मत से, उस दिन रंगीला ने ही बात उठाई और मेरी सेक्स स्टोरी शुरू हो गई – 
रंगीला – मिनी, तुमसे अच्छी वाइफ कोई नहीं हो सकती… आज, शादी के 20 साल होने वाले हैं, फिर भी तुम मुझे कभी मना नहीं करती… जब भी मुझे चूत चाहिए होती है, तुम मेरे लंड को कभी मना नहीं करती… इतने सालों में, हमने क्या क्या नहीं किया… याद है, तुम्हें पहले तो तुम मेरा लंड, मुंह में भी नहीं लेती थी… जब तुम से पहली बार “चूत” बोलने को कहा था तो तुम कितना नाराज़ हो गई थीं और धीरे धीरे, तुम अब उसे एंजाय करने लगी हो… जब तक अब “गंदी बातें” ना हो, तुम्हें मज़ा ही नहीं आता… गाण्ड भी तुम्हारी जी भर के चोदि मैने… और तो और, तुमने भी मेरी गाण्ड को “वाइब्रटर” से चोदा… तुम्हारी चुचि को तो ना जाने कितने बार, मैने चोदा होगा… तुम्हारे नाभि में भी, मैने लंड का पानी डाला… तुम्हारी चूत से निकली मूत तक का रसपान किया… अपने लंड का पानी, तुम्हें पिलाया… ओपन में भी सेक्स कर लिया… याद है तुम्हें, गोआ के “अगोडा बीच” पर… हज़ारों हज़ार “रोल प्ले” कर लिए… बचपन में, कैसे मेरी मामी ने मुझे सिड्यूस किया वो भी तुम्हें बताया… तुमने भी, अपनी “चुदाई के किस्से”, चटकारे ले ले कर सुनाए… 
मैं (बीच में टोकते हुए) – क्या बात है, रंगीला… “सेक्स रेज़्यूमे”, क्यूँ बना रहे हो .?.
रंगीला – बस यार, सोच रहा था की अब क्या नया किया जाए… मैं नहीं चाहता की हमारे में, सेक्स की “स्पार्क” कम हो जाए… इतने दिनों तक, कुछ कुछ ट्राइ करके हमने ये स्पार्क बनाए रखा है… अब सोच रहा हूँ की और क्या किया जा सकता है…
मैं – क्या सोच रहे हो… कुछ, नया ट्राइ करना है तो मैं हमेशा तुम्हारे साथ हूँ…
रंगीला – मिनी, वो ही तो सोच रहा हूँ… कुछ नया, अब बचा नहीं है… जो हम ट्राइ करें… इतने साल से, हम एक दूसरे को चोद रहे हैं… तुम ही बताओ, क्या मिस करती हो, सबसे ज़्यादा…
मैं – रंगीला, तुम तो जानते ही हो… मैं सबसे ज़्यादा तुम्हारे लंड का मूठ पीना पसंद करती हूँ… वो तो मुझे मिल ही जाता है… पासिबल हो तो उसकी फ्रीक्वेन्सी बढ़ा दो… उसके बाद, मुझे कुछ नहीं चाहिए… और बाकी, तुम्हें पता ही है की मैं हमेशा तुम्हारे साथ हूँ…
रंगीला – हाँ, मैं जानता हूँ की तुम, मेरे लंड का पानी पीना कितना पसंद करती हो… चलो, मैं वादा करता हूँ की अब से मेरा चोदने का मन नहीं भी होगा तो भी एक बार, लंड तुम्हारे मुंह में दे ही दूँगा…
मैं – बस फिर, मुझे और क्या चाहिए…
रंगीला – पर एक बात बताओ… एक ही लंड से, इतनी बार रस पी के तुम्हें आज भी अच्छा लगता है…
मिनी – पानी भी तो हम रोज़ पीते हैं, तो अच्छा तो लगता है ना… अच्छा लगने से, इसका कोई मतलब नहीं है… बस, एक आदत सी हो गई है… तुम जब वीकडेस में थके हुए आते हो तो मैं बोलती नहीं, पर बहुत मन करता की एक बार, लंड चूस के रस निकल ही लूँ… वैसे, सब से ज़्यादा मज़ा जब आता है जब मैं तुम्हें शादी के बाद की वो मायके वाली चुदाई के बारे में बताती हूँ और तुम पानी छोड़ते हो… बाप रे, कितना पानी छोड़ता है तुम्हारा लंड, तब…
रंगीला – मिनी, हाँ बात तो सही है… मज़ा आ जाता है सोच कर, तुम कैसे चुदि होगी… पर तुम ही सोचो ना, केवल पानी पी के हमारा मन तो नहीं भरता ना, इसलिए तो हम कोक, ऐल्कोहॉल पीते हैं… ऐसा तो नहीं है ना की हमेशा, पानी पी के ही हम संतुष्ट हो जाते हैं…
मिनी – हाँ, वो तो है… मैं समझ रही हूँ तुम क्या कहना चाहते हो… इसलिए तो कभी कभी, मेरा भी मन करता है की किसी दूसरे लंड का रस मिल जाए… लंड नहीं, पर रस ही कहीं से मिल जाए… मैं जानती हूँ, तुम मेरी चुदाई देखना चाहते हो पर तुम्हारे सामने चुद्ना मुश्किल है, रंगीला… असल में, मेरा ही नहीं किसी भी बीबी का…
रंगीला – चुदने को, कौन बोल रहा है, जान… कहीं चलते हैं, जहाँ तुम्हें कोई दूसरा लंड मिल जाए चूसने के लिए… चुदाई तो तुमने की ही है ना, पहले भी… कम से कम लंड तो चूस ही सकती हो, मेरे सामने… तुम्हारा वो शादी के पहले का बॉय फ्रेंड था ना, शिव… उसका लंड, तुम्हें काफ़ी पसंद था… याद है… क्यूँ ना, उसको फेस बुक पर सर्च करें… पहले भी तो सेक्स किया ही, है ना… एक बार में, और क्या फ़र्क पड़ेगा… क्या तुम अपने पति की खुशी के लिए, इतना नहीं कर सकती…
मिनी – आपकी खुशी के लिए तो मैं जान भी दे सकती हूँ, जानेमन… लेकिन याद कीजिए, एक बार हमने उसे फेस बुक पर पहले भी ढूँढा था वो पुलिस में है… मज़े के लिए, कोई ऐसा काम क्यूँ करें जिसमें हम फँस जाएँ… पीछे लग गया तो कुछ कर भी नहीं पायेगें… और, मैं ये भी सोच रही थी की मैं लंड चूस सकती हूँ, अगर तुम्हें भी कोई दूसरी चूत मिले चूसने के लिए… तब मैं, कम्फर्ट फील कर सकती हूँ… ये कुछ नया भी होगा… पर मुश्किल ये है की ऐसा अरेंज्मेंट, कहाँ होगा… मैं किसी कॉल बॉय के साथ नहीं जाउंगी, और ना ही तुम्हें जाने दूँगी, किसी कॉल गर्ल के पास…
रंगीला – हाँ वो तो है… सच है, क्यूँ मुसीबत में पड़ना… चलो, ठीक है अब इतना तो डिसाइड हो गया की अब हमें क्या करना है… अब ये सोचना है की कैसे करें… सोच लो, तय रहा बाद में मना तो नहीं करोगी ना…
मिनी – हाँ… नहीं करूँगी… अगर दोनों करे तो… पर उसके लिए तो बेस्ट यही होगा ना की कोई दूसरा “कपल” हो और ये सब करने को, रेडी हो… कोई है, ऐसा तुम्हारे माइंड में…
रंगीला – हाँ, बेस्ट तो यही होगा… सेफ और सिक्योर… जो हमारे अच्छे दोस्त हैं, उनमे से कोई रेडी हो ये एक्सपेरिमेंट करने के लिए, तब ही ठीक होगा… या फिर हम गोआ चलें… वहाँ कोई ना कोई, कपल ज़रूर मिलेगा…
मिनी – हाँ, कितनी बार तो जा चुके गोआ… बड़े बनते हो यहाँ… वहाँ जा कर, टाय टाय फिस्स हो जाते हो… पर रंगीला, हम “स्वापिंग” की बात कर रहे हैं, कहीं राज (मेरा बेटा) को पता ना चल जाए, ना जाने क्या सोचेगा वो यदि उसे मालूम चला तो… मेरे हिसाब से, ये तुम सही कह रहे हो हम घर पे ना करें ये सब और कहीं बाहर जा के करें…
रंगीला – हाँ… वो तो है… घर पे तो नहीं कर सकते और सारी प्लानिंग तो हम कर लेंगे, सबसे पहले कोई कपल मिलना चाहिए जो हमारी तरफ ओपन हो… तेरी दोस्त है ना वो, कोमल… उससे बात करो… तुम लोग तो बात करती हो ना, ऐसे ओपन… देखो, यदि इंटरेसटेड हो वो लोग…
मिनी – मैं करूँ बात .?.
रंगीला – लड़कों में, ऐसी बात होती नहीं है… तुम ही तो बता रही थी की तुम लोग चुदाई की बातें भी कर लेती हो, डीटेल में… और मेरे सारे दोस्त तो तुम जानती हो, कितने हरामी हैं…
मिनी – उनसे तो तुम, रहने ही दो… चलो, अच्छा ठीक है… मैं बात करती हूँ, उससे… कोमल के मम्मे काफ़ी बड़े हैं इसलिए तुमने सजेस्ट किया ना उसका नाम… लगता है, भूले नहीं अभी तक अपनी “कमसिन मामी के मम्मे”…
रंगीला – हाँ और इसलिए भी की, क्यूँ की तुमने ही बताया था की कोमल बता रही थी की कैसे वो शादी चुदवाने की शौकीन है…
-  - 
Reply

07-19-2018, 11:59 AM,
#2
RE: Samuhik Chudai अदला बदली
हमारी प्लानिंग बन रही थी, इस प्लानिंग से हम काफ़ी गरम हो चुके थे, और सोने से पहले एक बार फिर हमने 69 की पोज़िशन में एक दूसरे के मूठ और मूत का रसपान किया.. 
दूसरे दिन सुबह, मैने कोमल को अपने घर पे बुलाया, लंच के लिए ताकि रंगीला और राज दोनों ना हो, और हम खुल के बात कर सकें..
कोमल, लगभग 12:30 बजने पे घर आई थी. 
दिखने में, वो भी काफ़ी “सुंदर” है.. 
किसी किसी समय, मुझे लगता है की काश मेरी चुचि भी उसके जैसी होती.. 
मैंने उसके चुचि नंगी देखी थी और जानती थी की “36 डी” की चुची है और वो भी काफ़ी फर्म.. 
मेरी चुचि, उसके मुक़ाबले थोड़ी छोटी है और निप्पल थोड़े बड़े और साइज़ भी “34” है.. 
दूध में, 2 इंच का फ़र्क काफ़ी होता है.
मेरे पति को उसके बड़े दूध काफ़ी पसंद थे क्यूंकी वो बिल्कुल उनकी मामी के तरह थे, जिनके दूध उन्होंने पहली बार देखे थे..
उसकी कमर भी मुझे पतली है.. 
लेकिन, वो मेरी “बेस्ट फ्रेंड” है, मैं उसके साथ काफ़ी बार स्विमिंग पे जा चुकी हूँ.. 
हमारे कॉलोनी कम्पाउंड का स्विमिंग पूल काफ़ी अच्छा है और दिन के टाइम में, काफ़ी खाली भी रहता है तो मैं उसे अपने यहाँ बुला के, स्विमिंग पे जाया करती हूँ..
मिनी – कोमल, तेरी बड़ी याद आई साली… काफ़ी दिन हो गये ना, मिले…
कोमल – लव यू स्वीटी… हाँ, एक महीना हो गया…
मिनी – चल स्विमिंग पे चलें या डाइरेक्ट लंच .?.
कोमल – तुमने बताया क्यूँ नहीं था की स्विमिंग का प्लान है, मैं तो स्विम सूट लाई नहीं हूँ…
मिनी – मेरा ले ले… टाइट होगा, तुम्हें पर स्विमिंग ही तो करनी है…
कोमल – दिखा मुझे, मैं सेलेक्ट करती हूँ… हाँ, ये ला ये वाली बिकनी… तू भी बिकनी में ही चल, ज़्यादा शर्मा नहीं…
मिनी – चल, ठीक है…
फिर हम दोनों एक साथ, कपड़े उतार के “नंगी” होकर बिकनी पहनने लगे.. 
मुझे नज़र आया की उसने अपनी चूत के बाल ट्रिम नहीं किया हैं. 
फिर मैंने सोचा, स्विमिंग के बाद ही बात करूँगी.. 
और हम दोनों ने बिकनी के ऊपर वन पीस डाली और स्विमिंग के लिए, चले गये. 
30 मिनट स्विमिंग करने के बाद, हम वहाँ रखी आराम कुर्सी में आराम करने लगे. 
मुझे समझ नहीं आ रहा था की “स्वापिंग” की बात कैसे करूँ, पर मैंने हिम्मत करके स्टार्ट किया.
मिनी – कोमल, क्या बात है आज कल तू अपनी झांट सॉफ नहीं कर रही… तू तो, ऑल्वेज़ क्लीन रहती है…
कोमल – तूने देख लिया, गंदी… अरे कुछ नहीं… जय (कोमल का हज़्बेंड) उसे आज कल, मेरी चूत की झाँटें चाटने का शौक हुआ है… वो ऐसे ही, कुछ कुछ नया करने को कहता रहता है… 2 महीने से, मैंने वहाँ क्लीन नहीं किया… उसने बोला है की अब कुछ नया सोचे, मैं क्लीन करने वाली हूँ…
मिनी – जय भी बड़ा “रंगीला” है, कुछ भी करता है…
कोमल – क्यूँ, तू बता तेरी प्यास बुझ रही है ना… रंगीला, अपना लंड मुंह में दे रहा है ना, तेरे… तू भी कुछ कम नहीं है, बेचारे का लंड चूस चूस के सूखा दिया होगा, तुमने… अब रहने भी दे…
मिनी – रहने दूँ तो मेरी प्यास कैसे मिटेगी… नींद नहीं आएगी, अच्छे से मुझे…
कोमल – तू भी ना महान है… तुझे भी तो लंड का ही पानी चाहिए… मेरी चूत चुसेगी, तो बता…
मिनी – नई रे, बिना लंड की कैसी प्यास और कैसा चूसना…
कोमल – अब क्या करूँ, बोल… लंड तो है नहीं, मेरे पास… मैं तो चूत ही ऑफर कर सकती हूँ… तू बस, रंगीला का ही लंड चूस…
मिनी – जय का लंड, उखाड़ के ला दे मुझे… मैं उसे भी चूसती रहूंगी…
कोमल – हाँ और फिर, मेरी चूत का क्या… सेल्फिश…
मिनी – अच्छा रहने दे… मत उखाड़, उसका लंड पर कभी कभी दे दे ऐसे ही, चूसने के लिए…
कोमल – ऐसे ही मतलब… क्या बोले रही है, मिनी… क्लियर, बोल ना… ऐसा घुमा घुमा के मत… तुझे मालूम है की तुम, मुझे कुछ भी बोले सकती हो… सच में चाहिए, तुझे जय का लंड, बोल… 
मिनी – मेरा मतलब, वो नहीं था रे… मैं ये बोले रही थी की इतने दिन एक ही लंड से, मन कुछ भर सा गया है… कभी कभी, कुछ चेंज चाहिए होते है अपने को अपनी लाइफ और भी मसालेदार बनाने के लिए… तू समझ रही है ना… चुदाई ही एक अपन, अपनी खुशी और मज़े के लिए करते हैं नहीं तो पूरी जिंदगी काम, ज़िम्मेदारी, ये, वो में ही बीत जाता है… है की नहीं…
कोमल – तू क्लियर बोलेगी, तब तो समझ आएगा…
मिनी – यार, मेरा मतलब की चल हम दोनों अपने हज़्बेंड से बात करते हैं और कभी एक दिन, “स्वाप” करके ट्राइ करते हैं… तू रंगीला से चुदवा और में जय से… देखते हैं, ट्राइ करके… अच्छा लगा तो ठीक, नहीं तो वापस नॉर्मल… क्या बोलती हो… .?.
कोमल – मिनी, तुम्हें पता भी है क्या बोले रही हो… जय, मुझे मारेगा और रंगीला तुझे… सच बताऊं तो मुझे कोई प्राब्लम भी नहीं है… पर यार, हमारे किड्स, उन्हे मालूम चला तो क्या करेंगे…
मिनी – कोई नई मारेगा, बस सजेस्ट करके देख ना और किड्स के लिए ही, हम किसी के घर पे नहीं करेंगे… विल गो आउट…
कोमल – जय को कुछ नया नया करने की लगी तो रहती है और तेरी गाण्ड का तो वो दीवाना है… वैसे मैं भी, तेरी गाण्ड की दीवानी हूँ…
मिनी – मज़ाक मत कर… बोल क्या लगता है तुझे, ऐसा कुछ पासिबल है या बहुत रिस्की है… हमारी लाइफ, कहीं खराब ना हो जाए…
-  - 
Reply
07-19-2018, 11:59 AM,
#3
RE: Samuhik Chudai अदला बदली
कोमल – पासिबल है, मिनी और लाइफ क्या खराब होगी… हम एक दूसरे को वादा करेंगे की कभी भी बिना बताए हुए, एक दूसरे के पति से ऐसे ही ना चुदवाए… हम दोनों, पे डिपेंड करता है की आगे क्या होगा… वाफ़ादार रहेंगें…. महीने में, एक दिन ऐसा कुछ प्लान बनाएँगे और बाकी दिन नॉर्मल… हज़्बेंड को तो लाइन पर, कर ही लेंगे हम…. यदि तू प्रॉमिस करती है तो मैं बात करती हूँ…
मिनी – हाँ रे… हम एक दूसरे से वफ़ादार रहेंगे…
कोमल – तूने इसलिए बुलाया था या लंच भी करावगी… .?.
मिनी – चल ना, लंच बनाया है ना… चल चलते हैं…
यक़ीनन, उसकी चूत “गीली” थी और मेरी तो भबकारे मार रही थी..
कोमल की हरकतों से लग रहा था की वो “लेसबो” करना चाहती है पर मुझे लेसबो, ज़रा नहीं पसंद..
मुझे चाहिए, बस लंड जो हो “भूसंड”.. ..
खैर, जब मैंने रेस्पॉन्स नहीं दिया तो कोमल लंच करके वापस घर चली गई और हम दोनों, एक दूसरे के पति के लंड का सपना देखने लगीं..
मैंने रंगीला को कॉल करके बताया की मैंने कोमल को मना लिया है और वो अपने पति से बात करेगी… 
रंगीला, काफ़ी खुश हुआ. 
दूसरे दिन, सुबेह कोमल ने कॉल किया और बताया की जय बहुत ही ज़्यादा खुश है, इस “अरेंज्मेंट” से.. 
कोमल ने बताया की कैसे जय ने खुश हो के रात में, उसे “4 बार” चोदा..
कोमल ने गाण्ड भी खूब चुदवाई थी, उस रात.. वो बोली की तैयार कर रही थी, अपनी गाण्ड को रंगीला के लिए..
आपको बता दूँ की कोमल को, गांड चुदवाने में ज़्यादा मज़ा आता है, मुझे मुंह में लेने में, मेरे हज़्बेंड को गाण्ड चोद्ने में और जय को मुंह में देने में बड़ा मज़ा आता है..
अब मैंने और कोमल ने अपना काम कर दिया था, बाकी का काम हज़्बेंड्स को करना था. 
फिर रात में, रंगीला ने बताया की उन दोनों ने मिल के प्लानिंग कर ली है.. 
हम दीवाली के अगले दिन, एक होटेल में जाएँगे.. स्टार्ट से ही, हम “स्वाप” कर लेंगे.. 
रंगीला, कोमल के साथ और मैं, जय के साथ.. 
ये सिर्फ़ एक “एक्सपेरिमेंट” था इसलिए एक ही रात की बुकिंग की थी.
दीवाली की रात भी, हमने साथ में सेलेब्रेट की थी. 
कोमल, जय और डॉली के साथ आई थी. 
डॉली, उसकी “बेटी” है. 
उसकी भी उम्र, 17 हो चुकी है. 
राज और डॉली भी फ्रेंड्स हैं. 
राज एक साल, सीनियर है डॉली से. 
हमने दीवाली काफ़ी मस्त सेलेब्रेट करी, कोई बोल भी नहीं सकता था की अगले दिन सुबेह हम किसी होटेल में जा के, कुछ “वैसा” करने वाले हैं.. 
रात में, वो लोग वापस चले गये.
हमारा, नेक्स्ट डे का प्लान था.. 
राज को रंगीला ने बता दिया था की हम एक रात के लिए, बाहर जा रहे हैं.. 
राज भी काफ़ी समझदार था, उसे लगा की मम्मी पापा अकेले, टाइम स्पेंड करना चाहते हैं.. 
उसने भी प्लानिंग करी, अपने दोस्तों के साथ आउटिंग की.
दूसरे दिन 11 बजे, कोमल और जय कार से हमारे घर के नीचे आए. 
हमने, एक ही कार में जाने का प्लान किया था.
जब हम नीचे पहुचे तो देखा की जय ड्राइवर सीट पे है और कोमल, पीछे बैठी हुई थी. 
हमने भी साथ दिया, मैं जय के साथ आगे बैठ गई और रंगीला कोमल के साथ पीछे. 
कोमल और मैंने प्लान किया था, साड़ी पहनने का साथ में बैक लेस्स ब्लाउज.
कोमल, काफ़ी अच्छी लग रही थी लाल साड़ी में.. 
मैंने नीले कलर की साड़ी पहनी थी. 
कार में, हमने ज़्यादा बात भी नहीं करी. 
शायद, सब थोड़े रोमांचित और घबराए हुए थे..
होटेल में, चेक इन करा के हम अपने अपने रूम पहुच गये.. 
हमारा रूम, आमने सामने था. 
मैं जय के साथ, एक रूम में चली गई और रंगीला, कोमल के साथ.
हमने पहले लंच करने का प्लान बनाया था. 
उसके लिए समान रख के हम सारे लंच के लिए रेस्टोरेंट की और चल पड़े. 
लंच के वक़्त ही, हमने ये डिसाइड किया की आज पूरे दिन और रात में क्या होगा.. 
ये हम लोग डिसकस नहीं करेंगे, एक दूसरे के हज़्बेंड के साथ. 
लंच के बाद, हम अपने अपने रूम में चले गये. 
-  - 
Reply
07-19-2018, 11:59 AM,
#4
RE: Samuhik Chudai अदला बदली
इसके बाद, कोमल और रंगीला के बीच क्या हुआ वो तो वो दोनों ही बता सकते हैं. 
मैं, अपने और जय की बात बताती हूँ…
जय – मिनी, तुम काफ़ी सेक्सी लग रही हो… नीले कलर्स तुम पे काफ़ी अच्छा लगता है…
मिनी – धन्यवाद, जय… तुम भी काफ़ी हैंडसम लग रहे हो…
जय – धन्यवाद मिनी, ये अरेंज्मेंट प्रपोज़ करने के लिए… मुझे तो काफ़ी ख़ुशी हुई थी, जब कोमल ने बताया था की तुम भी ऐसा चाहती हो…
मिनी – क्यूँ इतनी ज़्यादा ख़ुशी क्यूँ हुई… .?.
जय – सेम रीज़न मिनी, मैं भी तो 18 सालों से बस कोमल को ही चोद रहा हूँ… कोमल को आज भी, मेरे लंड मुंह में लेने में मज़ा नहीं आता… उसकी गांड और चूत में ही, ज़्यादा खुजली होती है…
मिनी – हाँ बताया था, कोमल ने…
जय – मुझे भी कोमल ने बताया की तुम कैसे, लंड को मुंह में लेने की दीवानी हो…
मिनी – प्रॉमिस करो की हम दोनों, कुछ भी बात करेंगे तुम कभी भी किसी से नहीं बताओगे, कोमल को भी नहीं…
जय – मिनी, ये कोई पूछने की बात है… मुझे मालूम है, तुम अपनी बातें शेयर करती हो कोमल के साथ और वो तुम्हारे साथ… पर तुम मुझसे कुछ ऐसी बात भी कर सकती हो जो तुम किसी और के साथ, शेयर नई कर सकती… मैं वादा करता हूँ की सीक्रेट होगा, सब कुछ…
मिनी – धन्यवाद जय… अपना लंड दिखाओ ना प्लीज़…
क्या करूँ, मैं मरी जा रही थी सालों बाद दूसरा लंड देखने के लिए.. चूत तो मेरी, बिना चुदे ही कितनी बार पानी छोड़ चुकी थी..
जय – वाह, मिनी पहली बार मैंने कोमल के सिवा किसी दूसरी औरत के मुँह से “लंड” सुना है… मज़ा आ गया… सब तुम्हारा ही है, आज के लिए… तुम खुद ही निकाल लो, मेरे हथियार को…
फिर, मैंने जय को बेड पे लिटाया और उसकी पैंट के हुक खोलने लगी. 
उसने लाल कलर की, क्लाइन की चड्डी पहनी थी..
मिनी – काफ़ी रंगीन अंडरवेर पहना है, तुमने…
जय – कल ही खरीदा है, देखो ये प्राइस टॅग भी नहीं हटाया मैंने, सोचा तुम्हारे हाथों ही इसे हटाया जाएगा…
मिनी – अच्छा, काफ़ी तैयारी करके आए हो… देखूं तो ज़रा, इसके नीचे क्या है…
फिर, मैंने उसके लंड को चड्डी से बाहर किया.. 
उसका लंड सलामी करते हुए, टन के मेरे आगे खड़ा हो गया.. 
जय का लंड, रंगीला से थोड़ा छोटा था पर मोटाई में रंगीला से थोड़ा ज़्यादा.. 
मैंने उसके लंड को अपने हाथ में ले के, अच्छे से निरक्षण किया.. 
लंड हाथ में लेते ही, मुझे अजीब सा करेंट लगा.. 
कितनी सालों के बाद, कोई दूसरा लंड मेरे हाथ में था.
मिनी – काफ़ी क्लीन है, जय लंड तुम्हारा..
जय – मिनी, तुम्हें क्लीन पसंद है ना, कोमल ने बताया था की तुम्हें बाल पसंद नहीं हैं…
मिनी – हाँ, मुझे क्लीन पसंद है. धन्यवाद, जय मेरे लिए इतनी तैयारी करने के लिए…
जय – मेरे लंड की खुशकिस्मती है की वो, तुम्हारे हाथों में है…
फिर, मैंने उंसके लंड पे थोड़ा थूक लगाया और गीला किया और लंड के सुपाड़े को सहलाने लगी. 
सुपाड़े इतना लाल था की “लोलीपोप” लग रहा था.. 
मैंने सुपाड़े को किस किया और अपने जीभ से चाटने लगी. 
फिर पूरे लंड को किस किया और जीभ से, चाटना स्टार्ट किया.
जय – मिनी, तुम मस्त हो… शायद पहली बार, में बिना डाले ही झाड़ जाऊंगा… ऐसे टीज़ करोगी तो…
मिनी – तुम्हें नहीं पता, मैं कितने दिनों से इंतेज़ार कर रही थी किसी दूसरे लंड को, प्यार करने के लिए…
जय – अपनी साड़ी तो उतार दो, अब… मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया और अपने एक भी कपड़े नहीं उतारे…
फिर, मैंने साड़ी का पल्लू हटाया और फिर साड़ी को निकाल दिया… अब मैं, पेटीकोट और ब्लाउज में थी…
मिनी – ब्लाउज को तुम खोलो…
जय – इतनी सेक्सी ब्लाउज, मैंने आज तक नहीं देखी… तुम्हारी पीठ, क्या मस्त लग रही है… मन कर रहा है, लंड का सारा पानी पीठ में डाल दूँ…
मिनी – नहीं जय, लंड का रस तो मुंह में ही डालना… जब भी आने वाला हो… पीठ को तुम चाहो तो किस कर कर के खा जाओ… हुक तो खोलो…
जय – अभी मन नहीं भरा देख के, रुक जाओ थोड़ी देर और देखने दो…
फिर जय बिना ब्लाउज उतरे, मेरी पीठ को सहलाने लगा और चाटने लगा.. 
-  - 
Reply
07-19-2018, 12:00 PM,
#5
RE: Samuhik Chudai अदला बदली
धीरे धीरे, उसने मेरी ब्लाउज का हुक खोला और मैंने उसे हेल्प करी ब्लाउज को अपने चुचियों से अलग करने में.. 
फिर जय, मेरे सामने आ के मेरे चुचियों को घूर्ने लगा..
मैंने “ब्रा” नहीं पहनी थी..
मिनी – क्या हुआ, पसंद नहीं आई तुम्हें मेरे मम्मे… कोमल से, छोटे हैं ना… .?.
जय – अरे नहीं, किसी अंधे का लंड भी इसे देखते भर से खड़ा हो जाएगा… छोटे हैं तो क्या हुआ, गोलाई तो देखो… आख़िर तुम दोनों, करती क्या हो…
मिनी – नहीं, मुझे मालूम है कोमल की चुचियाँ ज़्यादा बड़ी और फर्म है… मेरी देखो, कैसे बड़े निप्पल है…
जय – तुम्हें नहीं पता की मुझे थोड़े बड़े निप्प्ल और छोटी चुचियाँ ही ज़्यादा पसंद है…
मिनी – अच्छा, ठीक है फिर ले लो मेरी चुचियों को… सब तुम्हारा है, खेलो इसके साथ…
फिर जय ने मेरी लेफ्ट चुचि को अपने हाथों में लिया और सहलाने लगा.. 
राइट चुचि को दूसरे हाथ से दबा शुरू किया.. 
फिर लेफ्ट चूची को दबाने लगा और राइट वाले को, अपने मुंह में ले के चूसने लगा. 
बीच बीच में, दाँत से मेरे निप्पल को हल्का काट भी रहा था. 
इधर, मैं नीचे पूरी “गीली” हो रही थी. 
फिर उसने दोनों हाथ से, मेरी राइट चुचि पकड़ी और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा. 
उसके ऐसे चूसने से, मेरी हालत खराब हो रही थी. 
फिर उसने दोनों हाथ से, मेरी लेफ्ट चुचि को चूसना स्टार्ट किया. 
मैं भी उसके लंड को अपने हाथ में ले के हल्का हल्का सहला रही थी..
फिर मैंने उसे खड़ा किया और मैं नीचे बैठ के, उसके लंड को चूसने लगी. 
जितनी ज़ोर से, उसने मेरी चुचि चूसी थी, मैं भी उतना ही ज़ोर लगा के उसके लंड को चूसने लगी. 
उसके लंड की मोटाई, मेरे मुंह में अच्छे से फिट हो रही थी. 
किसी दूसरे लंड को चूसने का मज़ा ही, कुछ अलग था. जय की हालत उधर खराब हो रही थी.
जय – मिनी, मेरा रस निकल जाएगा… शैतान की कसम, आज तक कोमल ने ऐसे नहीं चूसा कभी…
फिर मैंने लंड को मुंह से बाहर निकाला और लंड को कस के दबाया. 
फिर अपनी दोनों चुचियों के निप्पल पे लंड के सुपाड़े से मारने लगी, जय पागल हो रहा था, ये सब देख के. 
उसका लंड भी, एक दम “गरम” हो गया था. 
अब मैं लंड को अपने दोनों चुचियों के बीच रख के मसलने लगी. चुचि की नरम स्पर्श से, लंड बेहाल हो रहा था..
मिनी – जय, झरने वाले हो तो बता देना…
जय – मिनी, अब नहीं रहा जाएगा, बहुत कंट्रोल कर दिया ले लो अपने मुंह में नहीं तो चुचि में ही झड़ जाऊंगा…
फिर मैंने लंड को जल्दी से मुंह में ले के जोरदार तरीके से चूसना शुरू किया.. 
जय का पूरा बदन गरम हो गया था, उसकी पूरी बॉडी काँप रही थी.. 
इतने में ही उसके लंड ने पानी छोड़ना स्टार्ट किया.. 
वाह, बता नहीं सकती कैसा लगा जब उसके लंड का गरम गरम रस, मेरे मुंह में गया और रस भी काफ़ी ज़्यादा था. 
शायद कोमल, ज़्यादा रस नहीं चूसती उसका..
रंगीला – अभी अंदर मत लेना सारा मुंह में रखो, मैं वाइन ग्लास लता हूँ.
फिर, रंगीला वाइन ग्लास ले के आया.. अपने लंड से चिपका हुआ, थोड़ा रस उसने अपने हाथ से सॉफ करके वाइन ग्लास में डाला.. 
मैंने भी अपने मुंह से सारा स्पर्म, वाइन ग्लास में डाला. 
फिर, उसने एक ग्लास में अपने लिए वाइन डाली और हम दोनों चियर्स करके अपना अपना ड्रिंक पीने लगे..
जय – मिनी, तुमने चूस चूस के मेरी जान निकाल दी… आज तक, ऐसे ज़ोरदार तरीके से किसी ने मेरा लंड नहीं चूसा… मैं तो थक गया हूँ… नेक्स्ट चुदाई का दौर, थोड़ी देर के बाद…
मिनी – कोई बात नहीं… आराम कर लेते हैं, थोड़ी देर… अभी तो मेरी चूत वेट कर रही है, तुम्हारा…
जय – तुम डेली रंगीला का लंड, ऐसे ही चूसती हो… ..?..
मिनी – कोशिश करती हूँ की डेली चूस सकूँ, पर कभी कभी पासिबल नहीं होता…
जय – तुम्हें बुरा लगेगा, यदि मैं एक सिगरेट जला लूँ तो… .?.
मिनी – नहीं, बुरा क्यूँ लगेगा… एक मुझे भी दो ना जला के… मैं कभी कभी सेक्स के बाद, सिगरेट पीना पसंद करती हूँ…
फिर रंगीला ने, 2 सिगरेट जलाई.. 
मैं उसी सिगरेट की अगरबत्ती बना के, जय के लंड के चारो और घूमने लगी..
जय – ये क्या कर रही हो… .?.
मिनी – पूजा कर रही हूँ… मन्नत माँगी थी की यदि तुम्हारे लंड ने मेरी प्यास बुझा दी तो उसकी पूजा करूँगी… वोही कर रही हूँ…
जय – मिनी, तुम बड़ी मस्त हो… यकीन नहीं आ रहा की मेरा सपना, तुझे चोदने का पूरा होने वाला है…
मिनी – तुम मुझे चोदने का सपना भी देखते हो…
जय – कोमल, जब भी तेरी बात करती है, तो मैं हूँ की तुम्हें चोद सकूँ… तेरी जैसी चुदसी किसी को भी मिल जाए तो चोदे बिना नहीं रह पाएगा…
मिनी – जय, आज मेरी चूत तुम्हारी है, चोद लेना जितना चोद सको…
मैं सिगरेट पीते हुए, उसके बाहों में लेती हुई थी..
मिनी – मेरे नाम की मूठ मारी है, कभी… 
जय – ना जाने, कितनी बार… तुम्हारा “रोल प्ले” भी कई बार किया है, कोमल के साथ…
मिनी – ऐसा था तो कभी कोशिश क्यूँ नहीं की मुझे पाटने की…
जय – हा हा हा… सच बात बोलूँगा तो मनोगी नहीं…
मिनी – अभी तुम्ही ने तो कहा था ना हम कोई भी सीक्रेट शेयर कर सकते हैं… फिर अब क्या हुआ…
जय – ठीक है… क्या तुम “सूपर नेचुरल पवार” में मानती हो…
मिनी – हाँ… लेकिन, उसका मुझे पाटने से क्या लेना देना…
-  - 
Reply
07-19-2018, 12:00 PM,
#6
RE: Samuhik Chudai अदला बदली
जय – देखो, असल में कुछ साल पहले हमारे घर में किसी आत्मा का साया था… हम दोनों काफ़ी परेशान रहे… शुरूवात, कोमल से हुई और मैंने उसकी बातों पर ज़रा भी भरोसा नहीं किया… धीरे धीरे, मुझे एहसास हुआ की वो सच कह रही है… जब हम काफ़ी परेशान हो गये तो किसी अपने और बहुत ख़ास ने राय दी, एक साधु बाबा से मिलने की… वो काफ़ी पहुँचे हुए थे और कई लोगों की समस्या का निवारण किया था… वो हमारे घर आए और उन्होंने बताया की जिस घर में भगवान का अपमान होता है, वहाँ ही ऐसी आत्मा बलवान होती है… उन्होंने मुझे बताया जाने अंजाने ऐसा कुछ हुआ है… वो सही थे, क्यूंकी कई बार कोमल पर विश्वास जमाने के लिए मैंने भगवान की कई झूठी सौगंध खाई थी… कोमल की झूठी कसमो की तो गिनती ही नहीं थी… उन्होंने मुझे बताया की यदि, हम शांति से रहना चाहते हैं तो जो भी मैंने ग़लत किया है वो सब कोमल को सच सच बताना होगा… चाहे सच कितना भी कड़वा क्यूँ ना हो… आख़िर में उन्होंने बताया की बिना कोमल के जाने और उसकी मर्ज़ी के अगर मैंने किसी भी औरत के कामुक अंग को हाथ लगाया तो लगभग 27 दिन में कोमल की मृत्यु हो जाएगी… लेकिन उन्होंने ये भी कहा क्यूंकी जिस पुरुष की ये आत्मा है, वो संभोग करने की लालसा लिए मरा था इसलिए मुझे और कोमल को “थ्री सम” करना चाहिए… शुरू में मुझे ये सब बकवास लगा लेकिन धीरे धीरे उस आदमी की आत्मा बलवान होती गई… फिर, कई बार मैंने उसे बताने की कोशिश की पर हर बार कुछ गड़बड़ कर देता… अब तुम समझ ही गई होगी की मैं बिना कोमल की मर्ज़ी के कुछ नहीं करता… सो एक दिन, मैंने कोमल को एक एक बात सच सच बता दी… शुरू में वो थोड़ा नाराज़ हुई पर क्यूंकी हम शुरू से बिल्कुल “खुला सेक्स” करते थे इसलिए ज़्यादा परेशानी नहीं हुई… 
मिनी – पर ये तो बताओ क्या तुम लोगो ने सच में “थ्री सम” किया…
जय – हाँ… मुझे ताजूब है, तुम्हें कोमल ने कुछ नहीं बताया…
मिनी – ऐसी बातें किसी को नहीं बताई जाती… फिर क्या हुआ…
जय – कुछ नहीं… फिर, सब सामान्य हो गया… वक्त रहते, मैं संभल गया नहीं तो बहुत बुरा हो सकता था… कोमल की जान भी जा सकती थी… मिनी बुरा ना मानना, इस तरह तुम्हारी वो लंड की पूजा वाली बात भी मुझे पसंद नहीं आई…
मिनी – मैं माफी चाहती हूँ… उफ्फ !! कितना “रसिक भूत” था, जाते जाते भी मज़ा दे गया… नहीं…
जय – तुम फिर मज़ाक उड़ा रही हो… उस भूत का नाम कमल था… आज भी कोई कमल नाम का आदमी भी मिल जाए तो मैं काँप जाता हूँ… चलो, छोड़ो ये सब… वादा करो, ये बात हम दोनों के बीच रहेगी… कोमल से भी नहीं कहोगी तुम…
मिनी – वादा… पक्का वादा… 
जय – मिनी, तुम भी कुछ सीक्रेट बताने वाली थी, बताओ क्या था .?.
मिनी – कुछ नहीं जय… इतना रोमांचक तो नहीं है पर हाँ मुझे किसी यंग लड़के का लंड, मुंह में ले के चूसना है और लंड को मिल्क करना है… ये मेरी फैंटेसी है… पता नहीं, कब पूरी होगी…
जय – हम्म… यंग लड़के का माल ज्यादा निकलेगा और तुम्हें ज़्यादा ख़ुशी मिलेगी… रंगीला को बताया है…
मिनी – नहीं… और तुम भी मत बताना, अभी…
जय – कोई बात नहीं… मैं नहीं बताऊंगा… और क्या पता, कभी फ्यूचर में कोई यंग कपल हमारे इस अरेंज्मेंट में आ जाए… फिर, तुम्हारी भी फैंटेसी पूरी हो जाएगी और मेरी भी…
मिनी – मतलब तुम भी किसी, “यंग लड़की” को चोदना चाहते हो .?.
जय – हाँ… सोचने में क्या बुराई है… वैसे भी हम उम्र से यंग ना हो पर सोच से तो अभी भी यंग हैं…
मिनी – किसी यंग लड़की को सोच कर करते हो, जब कोमल को चोदते हो तो…
जय – हाँ… कभी कभी करता हूँ…
मिनी – किसे .?.
जय – रहने दो बताऊंगा तो तुम भी गुस्सा करोगी .?.
मिनी – मतलब, कोमल को बता चुके और वो गुस्सा भी कर चुकी… नहीं करूँगी, बाबा… बताओ ना… वो प्रॉमिस मुझ पे भी लागू होती है…
जय – मैं “डॉली” (उसकी बेटी) को इमेजिन करता हूँ… मैं अपनी बेटी को चोदने का सोच कर ग़लत करता हूँ… जानता हूँ… डॉली, दिखती भी तो कोमल जैसी ही है…
मिनी – वाव, डॉली… जय, यू नॉटी… पर एक बात बोलूं… इमेजिन करने में कोई बुराई नहीं है… यदि ऐसा इमेजिन करके कोमल के साथ सेक्स करने में और भी ज़्यादा मज़ा आता है तो अच्छी ही बात है ना…
जय – तुमने कभी इमेजिन किया है की राज, तुम्हें चोद रहा है…
मिनी – नहीं, ऐसा तो कभी नहीं सोचा… पर हाँ, कभी कभी इमेजिन करती हूँ की मैं उसका लंड चूस रही हूँ… उसका लंड, मेरे मुंह में है…
जय – वाव, मिनी… तुम सच में मस्त हो… चलो, इमेजिन करने में तो कोई बुराई नहीं है… वैसे तुमने राज का लंड देखा है, बड़ा होने पे…
मिनी – नहीं, बड़ा होने पे नहीं देखा है… पर एक दिन, उसके बेड के नीचे से मेरी पैंटी और ब्रा मिली थी और उसमे उसने काफ़ी मूठ मारा हुआ था… 
जय – वाव, राज को देखने से नहीं लगता की वो ऐसे चुप चुप के अपनी मां के पैंटी और ब्रा में मुठ मारता होगा…
मिनी – हाँ, पर मुठ मारना तो नॉर्मल है… हो सकता है, मेरी पैंटी और ब्रा मिल गई होगी उसे और मन कर गया होगा उसका और तुम बताओ, तुमने कभी देखा डॉली को नेकेड बड़ी होने पे… चुचि तो उसकी भी कोमल की जैसी ही होने वाली है…
जय – नहीं, पूरा नेकेड नहीं… पर एक बार अचानक से, वो बाथरूम से बाहर आ गई थी और मैं हॉल में ही था… तो पैंटी और ब्रा में देखा है… हाँ चुचे तो उसके भी मस्त हो रहे हैं… इसलिए तो इमेजिन करने लगा, उसे चोदने का…
मिनी – चलो, ये तुम्हारा और मेरा दूसरा सीक्रेट है… इस के बारे में, किसी से कोई और बात नहीं करेंगे… कोमल से भी नहीं…
जय – अभी मेरा लंड चूस रही थी तो सच बताना, राज को इमेजिन कर रही थी क्या .?.
मिनी – नहीं नहीं… अभी तो ऐसा नहीं है… मुझे तो इतने दिनों बाद कोई दूसरा लंड हाथ में मिला है… किसी और को क्यूँ इमेजिन करूँ… तुम भी ये इमेजिन मत करो अभी की तुम मुझे नहीं डॉली को चोद रहे हो…
हमें पता नहीं चला, बातों बातों में कब 4 बज गये.. 
5 बजे, हमारा बीच पे जाने का प्लान था इसलिए मैंने जय को बोला – जल्दी से एक सेशन चुदाई का कर लेते हैं… इस बार मुझे चोदो… फिर, बीच पे जाने के लिए रेडी हो जाएँगे… 
-  - 
Reply
07-19-2018, 12:00 PM,
#7
RE: Samuhik Chudai अदला बदली
तब तक जय भी इन सब बातों से गरम हो चुका था और उसका लंड फिर से तैयार दिख रहा था.
मैंने बोला की चुदाई से पहले थोड़ा चूस लेती हूँ… – और फिर से जय के लंड को मुंह में लेके दमदार चुसाई देने लगी. 
सच बताऊं तो बातों का असर ये हुआ की सच में इस बार जब में उसका लंड चूस रही थी तब मैं ये इमेजिन करने लगी की मैं राज का लंड चूस रही हूँ. 
कुछ देर में, उसका लंड पूरी तरह से तैयार था. 
मेरी चूत भी गीली हो चुकी थी. 
बस, अब चूत और लंड को मिलना था. 
जय ने अपने लंड को सहलाया, थोड़ी देर मुझे बेड पे लिटाया और पोज़िशन बनाने लगा. 
मैंने भी उसे अपने पैरो से कस लिया और चूत को थोड़ा ऊपर करके लंड को बुलावा दे दिया. 
जय ने अपने लंड को मेरी चूत के पास रखा और धीरे से अंदर डालने लगा. 
लंड का सुपाड़ा अंदर गया, उसकी मोटाई से मुंह से आ निकल गई.
मिनी – डाल दो जय, पूरा अंदर डालो…
फिर जय ने एक और धक्के से अपना पूरा लंड मेरी चूत के अंदर दे दिया. 
चूत को भी एहसास था की आज कोई दूसरा लंड मिला है, भर भर के पानी छूट रहा था. 
मैं अपनी गाण्ड उठा उठा के, उसके लंड को अपने अंदर ले रही थी. 
जय ने भी अपनी स्पीड बधाई और बिना रुके, मेरी चूत को चोदता रहा. 
मैं भी अपनी “आ आ” से उसके लंड के मोशन का साथ दे रही थी. 
अपनी चुचि को कस के दबा के रखा था, मैंने.. 
फिर जय ने, एक चुचि अपने मुँह में ले ली.. 
चोदने की स्पीड को और बढ़ाया और चुचि भी उतनी ही ज़ोर से दबाने लगा. 
उसका लंड हालाँकि रंगीला से थोड़ा छोटा था, पर शायद अपनी बीवी के सिवा और बीबी की मर्ज़ी से, किसी और को चोदने के जोश उसका लंड मेरी चूत में तूफान मचा रहा था. 
मैं पूरी तरह से, झड़ने वाली थी. 
मां की चूत… बहन चोद… करते करते मैं झड़ गई. 
जय, अभी भी ज़ोर दार धक्के लगा रहा था.
फिर अचानक से, उसके लंड का बाँध टूट गया और उसने ढेर सारा रस मेरी चूत में छोड़ दिया. 
उसे मालूम था की मुझे रसपान करना है तो फिर से, वाइन ग्लास ले के आया और मेरी चूत के पास रखा.. 
मैं भी मूतने की पोज़िशन में आके धीरे धीरे रस को अपनी चूत से निकल के वाइन गिलास में डालने लगी. 
इस बार का रस केवल जय का नहीं था, उसमे मेरा चूत स्पर्म भी मिक्स था.. 
दोनों रस मिला के पीने से, मुझे और भी ज़्यादा आनंद आया. 
चुदाई के सेशन से जय फिर से थक गया था. 
सच में उसने जी जान लगा दी थी, मेरी चूत को फाड़ने में.. 
थक तो जाएगा ही. 
मैं अपने ड्रिंक का मज़ा ले रही थी और वो बेड पे चित्त हो गया था. 
थोड़ी देर बाद, मैंने उसे आराम करने दिया और उसके बाद मैंने बोला की रेडी होते हैं बीच पे जाने के लिए.
जय – मिनी, ऐसी चुदाई बड़े दिन बाद हुई… थक गया हूँ… आराम करते हैं… उन्हें मेसेज कर देते हैं की हम नहीं आ रहे…
मिनी – वो ठीक नहीं रहेगा, जय… जैसी प्लानिंग करी है वैसा ही करते हैं… तुम बीच पे लेट जाना… क्या पता वहाँ रंगीला और कोमल की भी यही हालत हो सब से सब लेट जाएँगे वहीं…
जय – हाँ, ठीक है… चलो, मैं रेडी होता हूँ…
फिर जय ने हाफ पैंट और टी शर्ट डाला.. 
मैंने स्विमिंग बिकनी पहनी और उसके ऊपर लोवर और टॉप डाल लिया. 
हमारा प्लान था की यदि, बीच में मौका मिले तो ओपन स्काइ में कुछ मज़े करेंगे. 
जय को देखने से लग नहीं रहा था की वो, अभी कुछ करने की हालत में है. 
सच में, उसने अच्छी चुदाई की थी. 
यदि वो थक गया था तो मैं उसे टाइम देना चाहती थी.. 
5 बजे से हम लोग रूम से बाहर निकले.. 
सामने वाले रूम से रंगीला और कोमल भी निकल ही रहे थे.. 
एक दूसरे हाय बोल के हम बीच जाने लगे. 
बीच होटेल का “प्राइवेट बीच” था.. 
छोटे से एरिया में प्राइवेट बीच को होटेल वालों ने काफ़ी क्लीन रखा हुआ था.
जब हम वहाँ पहुचे, वहाँ कुछ दूसरी फैमिली भी थी.. 
हमें वहाँ 4 आराम कुर्सी दिखी, अभी सब थके हुए थे इसलिए सब आराम करने के लिए बैठ गये. 
दूसरी फैमिली जो बीच में थी, उनके बच्चे खेल रहे थे.
मैं और कोमल साथ साथ ही थे, बिकनी में. 
हमारे अलावा 2 और लड़की बिकनी में आराम कर रही थी. 
मर्द लोग मोस्ट्ली हाफ पैंट में थे. 
प्राइवेट बीच होने से ज़्यादा रश भी नहीं था. 
लोग अच्छे से एंजाय कर रहे थे. 
हमारी आँख लग गई थी.. 
-  - 
Reply
07-19-2018, 12:00 PM,
#8
RE: Samuhik Chudai अदला बदली
कुछ 1.5 घंटे बाद मेरी नींद खुली तो देखा तीनों घोड़े बेच के सो रहे हैं. 
बीच अब ऑलमोस्ट खाली थी. 
फैमिली जो खेल रही थी, वो लोग जा चुके थे. 
राइट साइड में देखा तो एक लड़का करीब 20 साल को होगा वो हमारे से कुछ दूर पर रखे एक कुर्सी में बैठा था. 
मेरी नज़र, उसके हाथ पे गई. 
वो हाथ को अपने पैंट के अंदर डाले हुए था, देखने से यही लग रहा था की वो मुठिया रहा है. 
मेरे देख लेने से शायद वो डर गया था. 
मैंने कोमल को उठाया और बोला की चल, वॉक पे चलते हैं… 
रंगीला और जय, दोनों तो गहरी नींद में सो रहे थे. 
कोमल उठी और हम बीच पे वॉक करने के लिए चले गये.
मिनी – कोमल, ज़्यादा नहीं पूछ रही पर एंजाय कर रही हो ना… कैसा रहा, अब तक का अनुभव .?.
कोमल – मिनी, हमें ये कंटिन्यू रखना चाहिए… तू बता, तू एंजाय कर रही है…
मिनी – मैं भी बहुत एंजाय कर रही हूँ, यार…
कोमल – बीच काफ़ी खाली हो गया ना, काफ़ी देर तक सो गये हम…
मिनी – हाँ, बस वो लड़का दिख रहा है हमारे अलावा… वो भी शायद इसलिए बैठा है क्यूँ की वो हमें देख पाए…
कोमल – सच .?.
मिनी – हाँ… जब मैं उठी थी तो देखी थी की वो मुठ मार रहा था पैंट में हाथ डाल के, हमारे तरफ ही देख कर…
कोमल – ये यंग लड़के, इनका लंड तो हमें ऐसे ही देख के खड़ा हो जाए और अभी तो हम बिकनी में हैं… क्या करेगा बेचारा… मुठिया लेने दे, उसे…
मिनी – मैंने कहाँ रोका है… मैंने जैसे ही, उसे देखा शायद डर के हाथ बाहर निकाल लिया उसने और अभी चुप चाप बैठा है…
कोमल – चल उसकी हेल्प करते हैं, हज़्बेंड को नहीं बताएँगे… वैसे भी हमारे पति भी हमें बहुत सी चीज़ें नहीं बताते…
मिनी – नहीं यार, कहीं चिपकू निकला तो… मालूम पड़ा पीछे पीछे हमारे कमरे में आ गया है और बेकार में ही हमारे हज़्बेंड से पीट जाएगा…
कोमल – अरे नहीं, चल ना बात कर लेंगे… बोले देंगे कंटिन्यू पर आगे से ऐसा कुछ नहीं करना…
मिनी – तू बात करेगी…
कोमल – हाँ बाबा, मैं करूँगी… चल अब…
फिर हम अचानक से, उसकी तरफ जाने लगे.. वो डर के और भी सीधा बैठ गया..
कोमल – हाय स्मार्ट बॉय, क्या कर रहे हो .?.
बॉय – कुछ नहीं आंटी… बैठा हूँ…
कोमल – दूसरी जो आंटी हैं, वो तो बता रही थी की तुम कुछ और भी कर रहे हो…
बॉय – सॉरी… वो इतना अच्छा व्यू है, उसी के आनंद ले रहा हूँ…
कोमल – ओह्ह, डबल मीनिंग… कौन सा व्यू… कौन है तुम्हारे साथ… बताना ज़रा अभी खबर लेती हूँ…
बॉय – सॉरी आंटी… आगे से ऐसा नहीं होगा…
कोमल – सॉरी… तुम हमें देख के अपना लंड हिला रहे हो और जब पकड़े गये तो सॉरी… कौन है तुम्हारे साथ, बोलो… कहाँ हैं, तुम्हारे मम्मी पापा… तुम्हारी उम्र अभी पढ़ने की है, लंड हिलने की नहीं..
बॉय – सॉरी आंटी… प्लीज़, मम्मी पापा को कुछ मत बताना… वो रूम में हैं… सॉरी आंटी, वैसे मेरी उम्र 18 हो गई है…
कोमल – 18 के हो तो लंड हिलाओगे, ऐसे पब्लिक में .?.
बॉय – आंटी आगे से कभी नहीं करूँगा, ऐसे…
कोमल – ध्यान रखना, तुम अच्छे बच्चे लगते हो… ये सब अच्छी बात नहीं है… मान लो हम अपने हज़्बेंड को बता देते तो तुम्हारी अच्छी से पिटाई हो जाती ना अभी…
बॉय – नहीं आंटी सॉरी… अंकल को भी मत बताईएगा…
कोमल – अच्छा चलो, किसी को नहीं बताउंगी… और क्यूँ की तुम अच्छे लड़के हो, तुम अभी मुठ भी मार लेना… पहले ये बताओ की किसे देख के मुठिया रहे थे .?.
बॉय – जी, यहाँ से मुझे वो दूसरी आंटी का गाण्ड दिख रहा था, वोही देख के हिला रहा था…
मिनी – अच्छा, मेरी गाण्ड देख के तुम्हारा लंड खड़ा हुआ था .?.
बॉय – हाँ आंटी, आप दोनों बहुत सेक्सी हो…
कोमल – अच्छा, निकालो अपना लंड और सहलाओ उसे…
बॉय – आंटी, आपके हज़्बेंड उठ गये तो क्या होगा .?.
मिनी – इसलिए तो बोले रही हूँ, जल्दी निकालो…
बॉय – ये लो आंटी, देखो मेरा लंड कैसे सलामी दे रहा है…
कोमल – हिलाओ, स्पीड में…
फिर वो लड़का, हम दोनों के सामने अपना लंड हिलाने लगा.. 
अच्छा लंड था उसका.. काफ़ी गोरा लंड था..
कोमल – देखो और बताओ किसका गाण्ड ज़्यादा अच्छा लग रहा है तुम्हें .?.
बॉय – दोनों का आंटी…
कोमल – दोनों में से एक गाण्ड तुम्हें छूने को मिले तो किसका छुओगे .?.
बॉय – दूसरी आंटी का…
मिनी – और किसकी चुचियाँ ज़्यादा मस्त हैं .?.
बॉय – आंटी क्या आप प्लीज़ अपना बूब्स दिखा सकती हैं .?.
-  - 
Reply
07-19-2018, 12:00 PM,
#9
RE: Samuhik Chudai अदला बदली
फिर हम दोनों ने अपने बूब्स को बिकनी से बाहर निकाल के उसे दिखाया. 
वो और भी ज़्यादा गरम हो गया और हिलाने की स्पीड बढ़ा दी..
कोमल – बोलो, किसके मम्मे तुम्हें ज़्यादा मस्त लग रहे है .?.
बॉय – दोनों के आंटी… पर कोई एक ही मिले तो मैं आपकी चुचियों के बीच अपना लंड डालना चाहूँगा…
मिनी – क्यूँ .?.
बॉय – क्यूँकी आंटी के बूब्स आपसे बड़े बड़े हैं…
कोमल – अच्छा तो तुम्हें बड़े बड़े अच्छे लगते हैं… तुम्हारी मम्मी के कितने बड़े हैं .?.
बॉय – मम्मी के तो आपसे भी बड़े है आंटी… पर उनके लटके हुए हैं… मैंने उनकी ब्रा देखी है आपसे भी बड़ी है…
मिनी – अपनी मां की ब्रा चेक करते हो… फिर तो माँ की चुचियों को सोच के हिलाते भी होगे…
बॉय – हाँ आंटी, काश मेरी मम्मी भी आप लोगो की जैसी हेल्पफुल होती…
इन बातों से और भी गरम हो गया था वो.. 
उसके हिलाने के स्पीड से लग रहा था की अब वो झड़ने वाला है.. 
मैंने अपनी बिकनी ब्रा निकाल के उसे दे दिया और बोला की लो, इसमे निकालना अपना पानी… उसने जैसे मेरी ब्रा को लंड में लगाया उसके लंड ने ज़ोरदार पानी छोड़ा.. 
मैंने उससे, अपनी ब्रा ले ली..
कोमल – चलो, अब जल्दी से यहाँ से निकल जाओ… कहीं हज़्बेंड को मालूम पड़ा ना तो तुम्हारी लंड की अच्छे से पिटाई हो जाएगी…
वो भी डर कर भाग गया..

कोमल – मिनी, तू क्या करेगी उसके रस का…
मिनी – मैं तो चाटने वाली हूँ… तू टेस्ट करोगी तो बता .?.
कोमल – पहले तू टेस्ट कर ले, थोड़ा मेरे लिए भी रखना… देखूं यंग लड़के का कैसा टेस्ट करता है…
फिर मैं उसके स्पर्म को, अपनी ब्रा में ही चाटने लगी.. 
थोड़ा सा, कोमल को भी दिया.. 
सच काफ़ी ज़्यादा स्पर्म गिराया था, उसने.. 
टेस्ट भी काफ़ी न्यू था.. 
अच्छे से चाटने के बाद, मैंने ब्रा को समुंद्र के पानी में धोया और फिर से पहन लिया..
कोमल – कितना नॉटी लड़का था, देखो अपनी मां की चुचियों को भी इमेजिन करके हिलाता है…
मिनी – हाँ, अभी उम्र है ऐसी उसकी… सब ही लड़के सबसे पहले अपनी मां या बहन को सोच कर ही मारते हैं… एक बार गर्ल फ्रेंड बन जाएगी तो शायद, फिर अपनी मां पे कामुक नज़र ना रखे…
कोमल – तूने देखा है, राज को मूठ मारते हुए .?.
मिनी – नहीं रे…
कोमल – पर हिलता तो वो भी होगा… सोच यदि वो भी तुझे इमेजिन करके हिलता हो तो…
मिनी – नहीं रे, ऐसा मत बोले…
कोमल – अच्छा चल, सॉरी सॉरी… चलो, अब उठाते हैं हज़्बेंड को अंधेरे भी होने वाला है… एक “ब्लो जोब” तो बनता है ओपन में… कोई है भी नहीं अभी… तू जय को ले के उधर जा… मैं रंगीला के साथ इधर ही रहती हूँ…
फिर हमने रंगीला और जय को उठाया.. 
फिर मैं जय को पकड़ के बीच के एक एंड की और ले जानी लगी और कोमल भी रंगीला को ले के दूसरी तरफ जा रही थी.. 
थोड़ी दूर तक, मैं जय का हाथ पकड़ के चल रही थी..
मिनी – अपना पैंट उतारो ना… लंड पकड़ के चलती हूँ…
जय ने भी झट से अपना पैंट उतरा और मैं उसके लंड को पकड़ के चलने लगी. 
पीछे मूड के देखा तो कोमल और रंगीला भी दूसरी और पहुँच चुके थे.. 
अंधेरे में, अब ज़्यादा कुछ दिखा नहीं रहा था पर इतना दिख रहा था की वो रंगीला के लंड को चूसने लगी है. 
मैंने भी जय के लंड पे अपना ग्रिप टाइट किया और नीचे बैठ कर, उसे अपने मुंह में ले लिया. 
मैं तो उस लड़के वाले एपिसोड से पहले से ही गरम थी.
तो मैंने भी स्पीड में जय के लंड को चूसना शुरू किया. 
कुछ ही देर में, उसका लंड पूरा तरीके से टाइट हो चुका था. 
फिर मैंने लंड को अपने हाथों से पकड़ के उसके बॉल्स को अपने मुंह में लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी. 
-  - 
Reply

07-19-2018, 12:00 PM,
#10
RE: Samuhik Chudai अदला बदली
जय, किसी तरह से अपने को कंट्रोल कर रहा था और अपनी आँख बंद करके “आ आ” की आवाज़े निकाल रहा था. 
फिर मैं उसके बॉल्स को अच्छे से दबाया और लंड को मुंह में लेके आगे पीछे करने लगी. 
जय भी अपनी गाण्ड हिला हिला के मेरा साथ दे रहा था. 
उसमे भी मेरे मुंह को चोदना शुरू कर दिया था. 
अब उसका लंड, पूरी तरीके मेरे के अंदर बाहर हो रहा था.
जय – मिनी, कंट्रोल नहीं हो रहा… मैं नीचे लेट जाता हूँ, तुम भी अपनी चूत मेरे मुंह में रखो…
फिर वो नीचे बीच पे ही लेट गया और मैं “69 के पोज़िशन” में उसके लंड को फिर से चूसने लगी.. 
वो भी मेरी चूत सलीके से चूसने लगा. 
उसकी भी चूसने के स्पीड बहुत अच्छी थी.. 
मैं भी मज़े से उसका लंड चूस रही थी. 
कुछ देर में, उसके लंड ने पानी छोड़ दिया और सारा पानी मैंने गटक लिया. 
लंच टाइम के बाद से, आज का सेक्स बड़ा अच्छा था. 
मेरी प्यास बुझ गई थी. 
फिर जय ने अपना पैंट पहन लिया और मैंने भी अपनी बिकनी ठीक करी.
फिर वापस, हम अपनी कुर्सी की और जाने लगे. 
कोमल और रंगीला भी अपना सेशन पूरा कर चुके थे. 
वो भी वहाँ आ गये. 
सब के सब संतुष्ट थे. 
हमने डिसाइड किया की हम फ्रेश हो के डिनर के लिए चलेंगे. 
मैं एग्ज़ाइटेड थी की डिनर के बाद फिर से जय के साथ होंगी और एंजाय करेंगे. 
उसके बाद हम सब फ्रेश हो के डिनर के लिए गये. 
नॉर्मल इंडियन करी.. सब लोग भूखे थे इतने सेक्स के बाद. रात के लिए एनर्जी भी चाहिए थी.
फिर रंगीला ओर जय ने ड्रिंक करने का डिसाइड किया. 
हम इंटरेसटेड नहीं थे इसलिए, उन्हें लिमिट में पीने को कह कर मैं और कोमल वॉक पर चले गये. 
कुछ देर तक, दोनों साइलेंट मोड पे वॉक करते रहे… 
फिर अचानक से, दोनों ने एक साथ बोले “यार हमें और भी कपल्स को लाना होगा इस ग्रूप में, मज़ा आएगा और भी ज़्यादा…” 
फिर दोनों, एक साथ हंसने भी लगे. 
हम दोनों को पता था की हम इसे कंटिन्यू करना चाहते हैं पर हमारे हज़्बेंड भी राज़ी करने चाहिए.
कोमल और मैं, डिनर के बाद वॉक कर रहे थे. 
तभी अचानक से कोमल की नज़र उस बीच वाले लड़के पे पड़ी जिसे हमने मूठ मारने में हेल्प किया था. 
वो, अपनी मम्मी पापा के साथ ही था. 
वो लोग भी डिनर करके वॉक ही कर रहे थे. 
उसकी मम्मी का चेहरा, मुझे कुछ जाना पहचाना लग रहा था. 
मैंने कुछ देर ध्यान से देखा. 
फिर लगा की शायद वो मेरी स्कूल फ्रेंड अंकिता है, पर कन्फ्यूज़न था. 
वो भी मुझे देख के रुक गई थी और पहचानने की कोशिश कर रही थी. 
फिर अचानक से उसने पूछा – “मिनी .?..?.. 
मैंने पूछा – “अंकिता” और फिर, हम दोनों ने एक दूसरे को गले लगा के अपने स्कूल के दिन याद किए. 
उसने हमें अपनी हज़्बेंड दीपक से मिलाया और अपने बेटे से भी हमारा परिचय करवाया. 
उसके बेटे का नाम “विनय” था. 
विनय की तो हालत ही खराब थी ये देख के की मैं, उसकी मा को जानती हूँ. 
वो साइड में, पीछे खड़ा हुआ था. 
मैंने भी उन लोगो को मेरी फ़्रेंड कोमल से मिलाया. 
वो लोग भी, हाल फिलहाल ही हमारे सिटी में शिफ्ट हुए हैं. 
थोड़ी देर, हमने बात की. 
मुझे लगा की उन्हें जल्दी से बाइ बोले देती हूँ हज़्बेंड्स के आने से पहले. नहीं तो कन्फ्यूज़न होगा, बाद में की कौन किसका हज़्बेंड है. 
मैंने अंकिता से उसका नंबर लिया और फिर हम बाइ बोल के अपने अपने रूम चले गये. 
कोमल और मैंने सोचा की मेसेज करके हज़्बेंड्स को बुलाया जाए.
मैंने जय को मेसेज किया की, डिज़र्ट खाना है तो 10 मिनट के अंदर रूम में आ जाओ.. और हाँ अपना लंड हाथ में ले के आना… 
कोमल ने भी भी मेरे सामने ही, रंगीला को मेसेज किया की गाण्ड में बहुत खुजली हो रही, तुम्हें जितना ड्रिंक करना है करो अपने लंड को दे के जाओ पहले… 
थोड़ी देर में, दोनों आ गये और हम अपने अपने रूम पे चले गये.
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Free Sex Kahani लंड के कारनामे - फॅमिली सागा 165 20,305 12-13-2020, 03:04 PM
Last Post:
Star Bhai Bahan XXX भाई की जवानी 61 46,497 12-09-2020, 12:41 PM
Last Post:
Star Gandi Sex kahani दस जनवरी की रात 61 16,547 12-09-2020, 12:29 PM
Last Post:
Thumbs Up Hindi Antarvasna - प्रीत की ख्वाहिश 89 29,430 12-07-2020, 12:20 PM
Last Post:
  Thriller Sex Kahani - हादसे की एक रात 62 24,377 12-05-2020, 12:43 PM
Last Post:
Thumbs Up Desi Sex Kahani जलन 58 18,952 12-05-2020, 12:22 PM
Last Post:
Heart Chuto ka Samundar - चूतो का समुंदर 665 2,967,781 11-30-2020, 01:00 PM
Last Post:
Thumbs Up Thriller Sex Kahani - अचूक अपराध ( परफैक्ट जुर्म ) 89 18,738 11-30-2020, 12:52 PM
Last Post:
Thumbs Up Desi Sex Kahani कामिनी की कामुक गाथा 456 113,132 11-28-2020, 02:47 PM
Last Post:
Lightbulb Gandi Kahani सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री 45 17,007 11-23-2020, 02:10 PM
Last Post:



Users browsing this thread: 2 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.


Chodakarxxx 2020 xnxxxs pictherTamil actress nude fucking sex image sex baba ar creation site Hiba Nawab ki nagi photohebah patel ki chot chodae ki nagi photodesi adult video forumसायेशा सैगल nuked image xxxNonvejhindisex storyकुती और आदमी की चुदाई की कहानियाँBF video Gaon Dehat Munh ke andar virya girane walaSaadisuda Didi ki panty chati new storyलड चुसना मारवाडि फोटुnamita ki nangi photo on sex babaPRIYANKA CHOPRA KA BOOR BOOR ब्रेस्ट देखना हैhd hirin ki tarah dikhane vali ladki ka xxx sexमाजी की चुदाई की कहानी राजbade.bhAinebhabhi.ke.pas.bheja.storymalvika sharma sexy chudairaat mai sabke so jane ke baad dost ko ghr bulwa kar bhen ki chudai karwaischool teacher ko nangi bra panty me sabkai samnai chodayum stories.shy girl .uncle ney tadpayaindean sexmarahti vWww KANNADA www xxx sexv HD 69 आअwww.come.hinde.bf.hd.dever.and.bhbe.ke.mast.kulam.khula.chudie.miviseजायदाद के लिए बहु ससुर के साथ सेकस के लिऐ नंगी हूईMaa ka khaal-sexbaba.me koi naya nangi sex karwate hue dikhaeyemangalsutr panha ki Sadi ki sexy Kahani sexbaba netष्ष्क सोते हुए में जो चुपके से डाल देता है छुपा चोरी सोते हैंGrils ke gand aguli kese mare xxx hindi me puri news betana hxxxwwwuiihot saree bhaavi ke gaar chuge fukingsasur sasumaki xmastar chudispecial xxx boy land hilate huai cXnxchacha chachiराधिका का सेकसि फोटो एव चोदाइ दिखाइएपति दुबई से फोन पर बोला तुम किसी से चुदाई करा लो और सहेली ने अपने पति से चुदबाई हिन्दी सेक्स चुदाई कहानीkhalako choda thuka lagake kahani hindiपिचेसे करने का hot fackमेरी बीवी डॉक्टर से रण्डियों की तरह दिन रात चूड़ी सेक्सी स्टोरी कहानियां इन हिंदीxxnxsotesamayChutadho ke nange chhed ladhkiyon ke dost ke parivar ne kiya bera par sex baba net threadचुत चोदा जबरदसती काँख सुँघाXxxxदीपू सेक्समाँ की अधुरी इच्छा मस्तराम नेट चुदाई कि कहानियाँसेकसी काहनी याँ माँ और पापा किsexbaba net हिन्दी मां बेटा स्टोरी.comMom ki tej chudai se mom ki chudi tut gaye baal bikare hua theexxx अंग्रेजन कितनी छोटी उम्र में सुलगती हैxxx video chut fardi or chilaixxxcalti bas maXxx photos jijaji chhat per hain.sexbabasafar me chudayi aaaahhhhh uffffffNora fatehi hot chut fuking xxx iamge.comRajshrama. com Bhabhi ne har khoais puri kiuncle or mummy nude fake Kahaanilund m ragad ke ladki ko kuch khilne se josh sex videoChota bhai naeahi phir choda bf down loadbharedar ki chudai video hard hindiलडकी सकुल कि xxxse hbdfkhde lund ki karastani incestsexbaba.net बदसूरतउसके तने हुए लंड मेरी गांड़ के बीच रगड़ने बस मेjhut bolkar sex kiya pornफुदी कीSex फोटोramya nabeesan sex photos hotfakezअनलिमिटेड बीएफ फिल्म बिडीयो जबरदस्ती चोदाई खुन निकल जाये पहली बार चोदाई hindi chudai sexy kahaniya chunmuniya.comचोदाई तेल लगा के भोजपूरी संगindeyan school girl chut m ungle dalte www.sexbaba.com.south heroine sex sexbaba net हिन्दी मां बेटा स्टोरी.commeri Mausa aur uski chudakad betia sexstoriesसादु बाबा के संग चोदा चादी xvdeosलड़की का सोते हुते बीडीओ बनाया xvideoJaadui Chashma desi.52 coming new boltikahanisexbaba. net of bollywood actress ki fake photos and sex storyrajsharmasexstories.comchuda khub rone lagi larki xnxचोदते सयम लौडा (लिँग) कितना बरा होना चाहिए जो कि लड़की खुश होना चाहिए नगी सकसी विड़ोयो चालू कर लड़ खूल आम हो जो चालू करचुत पतलि कमर चाचिSonakshi sinha sex baba 367 xxx photosexbaba pannu imagesCatherine tresa baba sexphotos.Video sex garls phirsgiचूतो का मेला ओर मे अकेला-2खूला भोसङा भाई का लन्ड अंधेरे में गलती से या बहाने से चुदवा लेने की कहानीयाँಹೇಳು ಸೆಕ್ಸ್ comxxx